Submit your post

Follow Us

बिहार में CM नीतीश के खिलाफ FIR करवाने पहुंचे IAS अफसर, 4 घंटे थाने में बैठे रहे

बिहार में 17 जुलाई को एक सस्पेंड IAS अधिकारी राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ख़िलाफ FIR दर्ज करवाने थाने पहुंच गए. 4 घंटे तक थाने में बैठे रहे. अब CM के ख़िलाफ FIR दर्ज करता तो कौन करता? ऐसे में काफी देर तक चले नाटकीय घटनाक्रम के बाद भी FIR दर्ज नहीं हो सकी.

इंडिया टुडे की ख़बर के मुताबिक- मामला पटना का है. सस्पेंड IAS अधिकारी सुधीर कुमार यहां के SC-ST थाने पहुंचे. कहा कि उन्हें FIR लिखानी है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ख़िलाफ. थाने के लोग सन्न रह गए. सुधीर कुमार 4 घंटे तक थाने में ही बैठे रहे. FIR लिखवाने के लिए इंतज़ार करते रहे. इसके बाद थानेदार थाना छोड़कर कहीं चले गए. बहरहाल FIR दर्ज नहीं हो सकी. थानेदार ने कहा कि शिकायत अंग्रेजी में दी गई थी और उन्हें अंग्रेजी समझने में दिक्कत होती है इसलिए आगे की लिखा-पढ़ी नहीं हो सकी.

सुधीर कुमार ने कहा कि वे मार्च में भी शास्त्रीनगर थाने में मामला दर्ज करवाने पहुंचे थे, लेकिन वहां भी कुछ नहीं हुआ और सिर्फ एक मुहर लगाकर वापस भेज दिया गया. सुधीर कुमार ने जानकारी दी कि वे नीतीश कुमार के अलावा और भी कई सारे IAS अधिकारियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाने जा रहे हैं. हालांकि सुधीर ने ये नहीं बताया है कि वो असल में किस संबंध में शिकायत दर्ज कराना चाह रहे हैं.

बता दें कि सुधीर कुमार बिहार कर्मचारी चयन आयोग के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं. उन पर आरोप था कि 2014 में अध्यक्ष पद पर रहने के दौरान इंटर स्तरीय संयुक्त परीक्षा का पेपर लीक हुआ था, जिसमें उन्हें दोषी बताया गया था. इसी मामले में 2017 में उनको निलंबित करते हुए गिरफ्तार किया गया था. अब 4 साल बाद सुधीर कुमार फिर सुर्खियों में हैं.

इस मामले पर राजनीति भी गर्मा रही है. राज्य के प्रमुख विपक्षी दल RJD के ट्विटर अकाउंट से लिखा गया कि –

“बिहार के एक अपर मुख्य सचिव CM नीतीश कुमार और उनकी काल कोठरी के भ्रष्ट अधिकारियों के ख़िलाफ सैंकड़ों पन्नों के ठोस साक्ष्य सहित FIR दर्ज कराने थाने पहुंचे हैं. लेकिन उनका FIR नहीं लिया जा रहा है. मुख्यमंत्री ने कुछ गलत नहीं किया तो फिर FIR से क्यों डरे हुए है?”

इसी को रीट्वीट करते हुए RJD नेता तेजस्वी यादव ने लिखा –

“शर्मनाक और निंदनीय! बिहार में एक अपर मुख्य सचिव स्तर के वरिष्ठ अधिकारी को FIR दर्ज कराने के लिए तरसना पड़ रहा है. बिहार में आप गवर्नेंस की बस कल्पना करिए! ऐसे ही थोड़े ना मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह कहलाए जाते है.”

SC-ST थानाध्यक्ष और गर्दनीबाग थाना अध्यक्ष ने मीडिया को बताया कि अधिकारी का आवेदन ले लिया गया है और जांच के बाद जो उचित कार्रवाई होगी, वो की जाएगी.


बाढ़ में घर गंवा सड़क पर रह रहे लोगों ने नीतीश कुमार को चुभने वाली बात बोल दी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मुंबई में बारिश से बड़ा हादसा, चेंबूर में दीवार गिरने से 17 की मौत

विक्रोली में भी 6 की मौत, पीएम ने दुख जताया, मुआवजे की घोषणा की.

टी-सीरीज़ वाले भूषण कुमार पर रेप का आरोप लगा, मुंबई में रिपोर्ट दर्ज

मुंबई के डीएन थाने में तीस साल की महिला ने रिपोर्ट दर्ज कराई.

अफगानिस्तान में भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी की हत्या, तालिबान ने किया था हमला

दानिश सिद्दीकी अपनी तस्वीरों के लिए फेमस थे, 2018 में Pulitzer अवार्ड भी मिला था.

MP के विदिशा में 30 से ज्यादा लोग कुएं में गिरे, 4 की मौत, 13 लापता, 19 बचाए गए

बच्चा कुएं में गिरा, तो बड़ी संख्या में ग्रामीण कुएं की छत पर चढ़ गए थे.

'नदिया के पार' जैसी बड़ी फ़िल्मों में काम कर चुकीं एक्ट्रेस सविता बजाज की हताशा, "मेरा गला घोंट दो"

इलाज के लिए पैसे नहीं हैं.

PM मोदी ने वाराणसी में जिस रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का उद्घाटन किया, वो है क्या?

योगी सरकार के लिए क्या बोले PM?

कांवड़ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई सख्ती, लेकिन यूपी सरकार पीछे हटने को तैयार नहीं?

योगी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री के बयान से तो कुछ ऐसा ही लग रहा.

पीएम मोदी के मंत्रिमंडल विस्तार में ऐसा क्या हुआ कि महाराष्ट्र बीजेपी में उथल-पुथल मच गई?

क्या पंकजा मुंडे की नाराजगी महाराष्ट्र बीजेपी को भारी पड़ेगी?

पंजाबी सिंगर मनमीत सिंह का शव बरामद हुआ, भारी बारिश के बाद बह गए थे

एक नाला पार करते वक्त गिर गए थे मनमीत सिंह.

कोंगु नाडु: मोदी कैबिनेट का विस्तार तमिलनाडु के विभाजन से जुड़े इस पुराने मुद्दे को कैसे हवा दे गया?

तमिल मीडिया के एक हिस्से में इसे लेकर काफी गर्मजोशी दिखाई जा रही है.