Submit your post

Follow Us

हाथरस: PFI का भीम आर्मी कनेक्शन बताने पर चंद्रशेखर ने सीएम योगी को क्या चैलेंज दे दिया

यूपी के हाथरस मामले में रोजाना नए खुलासे हो रहे हैं. हाल ही में यूपी पुलिस ने दावा किया था कि हाथरस में जातीय दंगे फैलाने के लिए ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया’ (पीएफआई) को फंडिंग की गई थी. अब जांच में कुछ ऐसे तथ्य मिले हैं, जिनके आधार पर भीम आर्मी को पीएफआई से जुड़ा बताया जा रहा है. ये खबर सामने आने के बाद भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर भड़क गए हैं और ट्विटर पर उनको चुनौती दे डाली है.

सीएम योगी को क्या चुनौती दी

चंद्रशेखर ने ट्विटर पर लिखा-

यूपी में न्याय की आवाज उठाना अंतरराष्ट्रीय साजिश कहलाता है. इससे पता चलता है कि दलितों के न्याय मांगने से योगी सरकार कितना डरती है. उनकी नजर में दलितों की ज़िंदगी सस्ती है. यह सब इसलिए हो रहा है, क्योंकि हाथरस के अपराधी योगी जी के जाति के हैं. उनको बचाने के लिए हम पर आरोप लगा रहे हैं.

अपने अगले ट्वीट में चंद्रशेखर ने लिखा,

मैं योगी आदित्यनाथ जी को चैलेंज करता हूं कि कोई भी जांच करवा लें. 100 करोड़ तो दूर की बात है. यदि मेरे पास एक लाख रुपये भी मिल जाएं, तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा, वरना आप मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दीजिए.

 

हाथरस मामले को लगातार उठा रही भीम आर्मी

भीम आर्मी हाथरस के मामले को लगातार उठा रही है. संगठन के मुखिया चंद्रशेखर पीड़ित परिवार से मिल चुके हैं और संगठन के लोग यहां सक्रिय हैं. हाल ही में चंद्रशेखर ने ये भी कहा था कि पुलिस इस मामले को हॉरर किलिंग बना सकती है.

बता दें कि भीम आर्मी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सक्रिय है और दलितों की आवाज उठाने के लिए जानी जाती है. इससे पहले सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान भी इस संगठन की काफी चर्चा हुई थी.

100 करोड़ की फंडिंग हुई थी?

यूपी पुलिस का ऐसा दावा है कि पीएफआई नाम के एक संगठन को विदेशों से पैसा पहुंचाया गया था. आरोप है कि इस पैसे के जरिए पीएफआई को हाथरस में जातीय दंगे कराने थे. इस मामले में पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है. एक वेबसाइट के पत्रकार को भी गिरफ्तार किया गया है, जो पीएफआई से जुड़ा बताया जाता है.

पत्रकार समेत चार लोगों को उस वक्त गिरफ्तार किया गया, जब वो हाथरस जा रहे थे. यूपी सरकार ने इस मामले को साजिश करार दिया है. इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि सरकार इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप रही है, ताकि घटना का सच सबके सामने आ सके.

क्या है पीएफआई

हाथरस कांड से पहले पीएफआई का नाम सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान सुना गया था. पीएफआई यानी ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया’ के मुताबिक, वो अल्पसंख्यकों और दलितों की आवाज उठाता है. हालांकि यूपी पुलिस का मानना है कि इस संगठन के लोग चरमपंथी गतिविधियों से भी जुड़े हैं. ऐसा माना जा रहा है कि सिमी के बंद होने के बाद उसके सदस्य पीएफआई से जुड़ गए हैं. पीएफआई का मुख्यालय दिल्ली के शाहीन बाग में है और इस संगठन की नींव 2006 में रखी गई थी.

क्या है हाथरस कांड

यूपी के हाथरस में एक लड़की के साथ कथित तौर पर रेप किया गया. उसे जान से मारने की कोशिश की गई. लड़की ने अस्पताल में मौत से लड़ाई लड़ी, लेकिन वो हार गई. मरने से पहले उसने कैमरे पर आपबीती बयान की. यूपी सरकार ने इस मामले में एसआईटी का गठन किया, जो अगले कुछ दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. बेहद हाई प्रोफाइल हो चुके इस मामले में यूपी पुलिस पर भी तमाम सवाल उठे हैं.


हाथरस: छावनी में तब्दील हुआ पीड़िता का गांव, परिवार ने हाई कोर्ट को दखल देने की अर्जी लगाई है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

रिपब्लिक टीवी का आरोप है कि FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर एक्शन नहीं लिया गया.

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

सीजन बदला पर पंजाब की हालत नहीं.

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

रैकेट में दो और चैनलों के भी नाम हैं, उनके मालिक गिरफ्तार कर लिए गए है.

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

गणित के मास्टर भी हैं CSK को पीटने वाले राहुल त्रिपाठी.

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

क्या ये चिराग पासवान के लिए ज़मीन तैयार करने की रणनीति है?

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

स्टूडेंट्स, अभिभावकों की लिखित सहमति से ही स्कूल जा सकते हैं.

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

कथित गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे हैं राहुल-प्रियंका.

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

सभी पक्ष-विपक्ष वालों का पॉलीग्राफी टेस्ट भी होगा.

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

खबर है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने जाने वाले हैं.