Submit your post

Follow Us

भारत बायोटेक के ट्रायल डेटा का सच क्या है?

भारत में कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) ‘कोवैक्सीन’ (Covaxin) बना रही कंपनी भारत बायोटेक ने 2 जुलाई की रात एक बजकर 40 मिनट पर एक ट्वीट किया. ट्वीट में लिखा –

“भारत के सबसे बड़े एफिकेसी ट्रायल में कोवैक्सीन सुरक्षित साबित हुई है. फेज़-3 का फाइनल प्री-प्रिंट डेटा पब्लिश हो गया है.”

इसके बाद फिर भारत बायोटेक ने बताया है कि कोवैक्सीन की एफिकेसी कितनी है. वो भी आपको बताएंगे लेकिन पहले इस डेटा का एक पेंच समझ लीजिए. भारत-बायोटेक ने ख़ास तौर पर मेंशन किया है कि ये ‘प्री-प्रिंट डेटा’ है. इसका क्या मतलब हुआ?

प्री-प्रिंट डेटा का मतलब होता है कि किसी अध्ययन या ट्रायल से निकला हुआ वो नतीजा, जो अभी किसी साइंस या मेडिकल के जर्नल में प्रकाशित नहीं हुआ है. जर्नल में प्रकाशित होना किसी रिसर्च की ऑथेंटिसिटी को एक तरह से बढ़ा देता है. क्योंकि जब कोई रिसर्च किसी जर्नल में प्रकाशित होती है, तो उससे पहले जर्नल भी एक टीम बनाता है, जिसमें शामिल लोगों को ‘रेफरी’ कहा जाता है. नाम रेफरी है तो काम भी रेफरी वाला ही होता है. ये टीम रिसर्च को पूरा पढ़ती-समझती है, उस पर तमाम एक्सपर्ट्स की राय लेती है और सब जगह से पास होने पर ही रिसर्च उस जर्नल या शोध पत्रिका में छपती है. ये प्रोसेस पूरी होने से पहले डेटा को प्री-प्रिंट डेटा कहा जाता है.

प्री-प्रिंट डेटा के आधार पर किसी भी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सकता.यानी अभी भी कोवैक्सीन की एफिकेसी को लेकर अंतिम और ठोस प्रमाण सामने आना बाकी है.

अब उस डेटा की बात कर लेते हैं, जो भारत बायोटेक ने शेयर किया है.

# इसके भारत में सबसे बड़ा वैक्सीन ट्रायल होने का दावा किया जा रहा है. 25 अस्पतालों में इसका ट्रायल किया गया. 18 से 98 साल के लोगों को ट्रायल में शामिल किया गया.

# हल्के, सामान्य और गंभीर कोविड-19 केसेज़ में कोवैक्सीन की एफिकेसी 78 फीसदी बताई गई है.

# वहीं इसकी एफिकेसी 93 फीसदी बताई जा रही है, जब बात सिर्फ गंभीर कोविड-19 मरीजों की हो. हॉस्पिटल में भर्ती होने की नौबत इस वैक्सीन को लेने के बाद कम आएगी, ऐसा दावा है.

# एसिंप्टोमेटिक यानी बिना लक्षण वाले केसेज़ में इस वैक्सीन की एफिकेसी 63 फीसदी तक बताई जा रही है.

# वहीं इसे वैरियंट ऑफ कंसर्न कहे जा रहे डेल्टा वैरियंट के ख़िलाफ़ भी 65 फीसदी कारगर बताया जा रहा है.

कोवैक्सीन के फेज़-3 ट्रायल की जो पूरी स्टडी आई है, उसके मुताबिक 16 नवंबर 2020 से 7 जनवरी 2021 के बीच 25 हज़ार 798 लोगों पर ट्रायल किए गए हैं. ट्रायल में पाया गया कि वैक्सीन की दोनों डोज़ लेने के 2 हफ्ते बाद 0.77 फीसदी लोग ही कोविड-19 पॉज़िटिव हुए. इस आधार पर वैक्सीन को एक बड़े समूह पर असरकारी माना गया. दावा किया गया है कि वैक्सीनेशन के कारण कोई भी मौत दर्ज नहीं हुई है. साथ ही इससे शरीर पर होने वाले छोटे-मोटे असर भी बाकी वैक्सीन की तुलना में कम हैं.


पटना: महिला को कोविशील्ड और कोवैक्सीन का एक-एक डोज केवल 5 मिनट के अंतराल में लगा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

तालिबान का समर्थन करने वाले भारतीय मुसलमानों को नसीरुद्दीन शाह ने तगड़ा पाठ पढ़ाया

तालिबान का समर्थन करने वाले भारतीय मुसलमानों को नसीरुद्दीन शाह ने तगड़ा पाठ पढ़ाया

सोशल मीडिया पर नसीरुद्दीन शाह का ये वीडियो वायरल है.

सिद्धार्थ शुक्ला की आखिरी सोशल मीडिया पोस्ट दिल दुखा देगी

सिद्धार्थ शुक्ला की आखिरी सोशल मीडिया पोस्ट दिल दुखा देगी

फ्रंटलाइन वारियर्स को ट्रिब्यूट देते हुए की थी सिड ने अंतिम पोस्ट.

WHO का अनुमान, कोविड-19 से यूरोप में अभी भी बहुत बड़ी संख्या में मौतें हो सकती हैं

WHO का अनुमान, कोविड-19 से यूरोप में अभी भी बहुत बड़ी संख्या में मौतें हो सकती हैं

कोरोना संक्रमण से होने वाली मौतों के मामले में यूरोप पहले ही सबसे आगे है.

किसानों पर लाठीचार्ज, सत्यपाल मलिक बोले- बिना खट्टर के इशारों पर ये नहीं हुआ होगा

किसानों पर लाठीचार्ज, सत्यपाल मलिक बोले- बिना खट्टर के इशारों पर ये नहीं हुआ होगा

मेघालय के राज्यपाल ने कहा-सीएम को किसानों से माफी मांगनी चाहिए.

उज्जैन में मुस्लिम युवक से हाथापाई, जबरदस्ती जय श्रीराम के नारे लगवाए

उज्जैन में मुस्लिम युवक से हाथापाई, जबरदस्ती जय श्रीराम के नारे लगवाए

बीजेपी ने कहा-ऐसे वीडियो कांग्रेस को ही क्यों मिलते हैं?

रेप के मामले में पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर पर क्या आरोप है कि यूपी पुलिस ने इस तरह धर लिया?

रेप के मामले में पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर पर क्या आरोप है कि यूपी पुलिस ने इस तरह धर लिया?

रेप का आरोप लगाने वाली महिला ने कुछ दिन पहले आत्मदाह कर लिया था.

डॉ. कफील खान को CAA पर 'भड़काऊ' भाषण देने के मामले में बहुत बड़ी राहत मिल गई है

डॉ. कफील खान को CAA पर 'भड़काऊ' भाषण देने के मामले में बहुत बड़ी राहत मिल गई है

डॉ. कफील खान ने कहा- भारतीय लोकतंत्र अमर रहे!

काबुल एयरपोर्ट के बाहर सीरियल ब्लास्ट में 12 US कमांडो समेत 100 से ज्यादा की मौत, IS ने ली जिम्मेदारी

काबुल एयरपोर्ट के बाहर सीरियल ब्लास्ट में 12 US कमांडो समेत 100 से ज्यादा की मौत, IS ने ली जिम्मेदारी

इन धमाकों में 143 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है.

इस लीक हुए डॉक्यूमेंट की मानें, तो कांग्रेस सोनू सूद को मुंबई का मेयर बनाना चाहती है!

इस लीक हुए डॉक्यूमेंट की मानें, तो कांग्रेस सोनू सूद को मुंबई का मेयर बनाना चाहती है!

बताया जा रहा है 25 पन्नों के इस कथित चुनाव रणनीति डॉक्यूमेंट को मुंबई कांग्रेस के सेक्रेटरी गणेश यादव ने तैयार किया है.

क्या एक केंद्रीय मंत्री को किसी राज्य की पुलिस गिरफ्तार कर सकती है?

क्या एक केंद्रीय मंत्री को किसी राज्य की पुलिस गिरफ्तार कर सकती है?

भारत के इतिहास में तीसरी बार केंद्रीय मंत्री को गिरफ्तार किया गया है. पहले दो कौन थे, जानते हैं?