Submit your post

Follow Us

पंजाब में गुरु ग्रंथ की बेअदबी के आरोपी और डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी मोहिंदर की जेल में हत्या

123
शेयर्स

मोहिंदर पाल सिंह बिट्टू. पवित्र ग्रंथ की बेअदबी मामले के मुख्य आरोपी थे. पंजाब की नाभा जेल में हत्या कर दी गई. 22 जून को दो कैदियों ने उन पर हमला किया था. पुलिस ने इस मामले में गुरसेवक सिंह और मनिंदर सिंह को गिरफ्तार किया है. आरोपियों ने मोहिंदर पर जेल की खिड़की से निकाले गए रॉड से हमला किया. यह हमला करीब शाम 5.20 बजे हुआ. हमले के बाद बिट्टू को नाभा के सिविल अस्पताल ले जाया गया. यहां डॉक्टरों ने उन्हें डेड घोषित कर दिया.

वह डेरा सच्चा सौदा समिति के सदस्य रहे थे. बिट्टू को पिछले साल जून में पंजाब पुलिस के एक विशेष जांच दल ने हिमाचल के पालमपुर से गिरफ्तार किया था. उस समय बरगाड़ी बेअदबी केस की वहज से जमकर हंगामा हुआ था. राज्यव्यापी विरोध हुए थे. बाद में इस केस को सीबीआई को सौंप दिया गया था.

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हत्या की जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने ट्वीट किया,

पवित्र ग्रंथ की बेअदबी मामले के मुख्य आरोपी मोहिंदर पाल सिंह बिट्टू की हत्या के दोषियों के लिए कड़ी सजा सुनिश्चित करेंगे. फैक्ट-फाइंडिंग कमेटी को तीन दिनों में रिपोर्ट देने को कहा गया है. मैं सभी से अपील करता हूं कि अफवाहों पर ध्यान न दें और शांति बनाए रखें.

इस मामले में पंजाब सरकार ने जेल के चार सीनियर अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है. इसमें जेल अधीक्षक, उप जेल अधीक्षक और 2 जेल वार्डन शामिल हैं.

कैसे हुई हत्या

दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक, जेल में निर्माण चल रहा है. 22 जून को मोहिंदर पाल सिंह उस एरिया में घूम रहे थे. हत्या के मामले में सजा काट रहे गुरसेवक सिंह और मनिंदर सिंह ने उस पर रॉड से हमला कर दिया. उन्हें तब तक मारा जब तक वह बेहोश नहीं हो गए.

पंजाब के डीआईजी (जेल) लखमिंदर सिंह जाखड़ ने कहा,

हमलावरों ने वेंटिलेशन खिड़की से दो छड़ें निकालीं. यह लगभग ढाई फीट लंबी और एक इंच मोटी थी. इससे बिट्टू के सिर पर हमला किया.

पटियाला रेंज के पुलिस महानिरीक्षक ए एस राय ने कहा,

मोहिंदर पर हमला करने वालों का कहना है कि उन्होंने बिट्टू पर इसलिए हमला किया क्योंकि वह पवित्र ग्रंथ की बेअदबी मामले का मुख्य आरोपी था.

मोहिंदर पाल बिट्टू पर 3 केस दर्ज थे. बुर्ज जवाहर सिंह वाला में श्री गुरुग्रंथ साहिब के पावन स्वरूप चोरी, मोगा में प्रदर्शन के दौरान बस जलाने के अलावा 2015 में बरगाड़ी में हुए श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का का मामला दर्ज था. बिट्टू के परिवार में पत्नी, दो बेटे और एक बेटी है. द इंडियन एक्सप्रेस से फोन पर बात करते हुए बेटे अरमिंदर कुमार ने कहा,

अब हम क्या कहें? हमारी सारी दुनिया खत्म कर दी. पहले झूठे इल्जाम में फंसाया. अंदर किया और अब मार दिया.हमें इंसाफ देने वाला यहां कोई नहीं है. पिता की सुरक्षा को लेकर हमेशा हम चिंतित रहते थे. नाभा जेल से शिफ्ट करने के लिए कभी याचिका नहीं लगाई. हालांकि जेल अधिकारी उन्हें सुरक्षा मुहैया करा रहे थे. हमें लगा कि यह पर्याप्त है. पहले उन्हें नाभा जेल से फ़रीदकोट जेल में ट्रांसफर किया गया था, लेकिन फिर अक्टूबर 2018 में नाभा ले जाया गया. हमें भी लगा कि यह सुरक्षा के लिहाज से सही फैसला है. क्या कोई मेरे पिता को वापस ला सकता है? उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी किसकी थी?

क्या था बेअदबी मामला

इसकी शुरुआत साल 2015 में पंजाब के फरीदकोट ज़िले से हुई. ज़िले के बुर्ज जवाहर वाला गांव में श्री गुरु ग्रंथ साहिब की चोरी हुई. 12 अक्टूबर 2015 को फरीदकोट के ही बरगाड़ी गांव में गुरु ग्रंथ साहिब के कुछ फटे हुए पन्ने मिले. यहीं से ये मामला पहली बार लोगों की नज़र में आया. क्योंकि जो फाड़े गए वो कोई मामूली पन्ने नहीं थे. पन्ने फाड़े जाने के बाद कई जगह विरोध प्रदर्शन हुए. 14 अक्टूबर 2015 को फरीदकोट के बेहबल कलां में हुए ऐसे ही एक विरोध प्रदर्शन में पुलिस से झड़प के दौरान 2 लोग मारे गए और एक गंभीर रूप से घायल हुआ. कोटकपुरा में हुए पुलिस लाठीचार्ज में भी काफी लोग गंभीर चोटें आईं. इसकी जांच के लिए तत्कालीन प्रकाश सिंह बादल सरकार ने जांच कमीशन बनाने के आदेश दिए. मृतकों के लिए 1 करोड़ का मुआवज़ा भी दिया गया. बाद में इस मामले में कई लोगों के गिरफ्तार किया गया था. कोर्ट से कई लोगों को बेल मिल गई थी. लेकिन मोहिंदर सिंह को बेल नहीं मिल पाई थी.


असदुद्दीन ओवैसी की शपथ पर भारत माता की जय के नारे, शाफिकुर रहमान बर्क को वंदे मातरम से एतराज़

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Bargari sacrilege case: Main accused Mohinder Pal Singh Bittoo killed in Nabha jail two booked

क्या चल रहा है?

क्या विराट कोहली को छोड़नी होगी वन-डे की कप्तानी?

रोहित शर्मा हो सकते हैं वन-डे के कैप्टन, बीसीसीआई कर सकता है विचार

'सुपर 30' से ऋतिक ने लंबी छलांग तो लगाई लेकिन अपनी ही फिल्म को पीछे नहीं कर पाए

'सुपर 30' के साथ सिनेमाघरों में 'आर्टिकल 15', 'कबीर सिंह' और 'स्पाइडर मैन: फार फ्रॉम होम' भी लगी हुई हैं.

हार-जीत लगी रहती है, लेकिन न्यूजीलैंड के इस खिलाड़ी को ऐसा ट्वीट नहीं करना चाहिए था

लगता है कि न्यूजीलैंड की हार से सबसे ज्यादा दुखी यही हैं.

काश स्टोक्स के उस कैच को पकड़ने की जगह ट्रेंट बोल्ट गेंद आगे फेंक देते!

वो कैच लपककर बाउंड्री छूने की ग़लती ने न्यूज़ीलैंड की नैया डुबो दी.

पति एयर क्रैश में मारे गए, छह महीने बाद ही पत्नी ने जो किया वो आपको गर्व से भर देगा

स्क्वाड्रन लीडर गरिमा अबरोल और उनकी वो मशहूर फेसबुक पोस्ट तो याद ही होगी?

जब इंग्लैंड की जीत पर शैम्पेन खुली और मोईन अली, आदिल रशिद हड़बड़ाकर भाग गए

इत्ता कॉमेडी सीन हो गया कि वीडियो वायरल हो गया.

दुनिया के बेस्ट अंपायर साइमन टॉफेल ने कहा, 'इंग्लैंड को ओवर-थ्रो के 6 रन मिलना ग़लत है'

रूलबुक के हिसाब से तो टॉफेल की बात सही लग रही है.

फाइनल मैच में सुपर ओवर टाई होने के बाद अगर बाउंड्री की संख्या भी बराबर होती तो क्या होता?

क्या कहता है नियम?

गर्लफ्रेंड पर शक करता था, लड़ाई हुई और चेहरा कुचलकर मार डाला

शरीर पर गुदे टैटूज़ से पुलिस ने लाश की पहचान की.

स्टोक्स के बैट से लगकर जो थ्रो बाउंड्री पार गया, उसका नियम पढ़ आप कहेंगे- ये बेमंटी है

क्रिकेट के नियम बनाने वाले सोचेंगे कि उनकी एक गलती ने न्यूजीलैंड को हरा दिया.