Submit your post

Follow Us

बाबरी विध्वंस पर फैसला: क्या ढांचा गिराने में विस्फोटक का इस्तेमाल हुआ था?

लखनऊ की स्पेशल CBI अदालत ने 30 सितंबर को बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में फ़ैसला सुनाया. स्पेशल CBI जज एसके यादव ने कहा कि घटना पूर्व-नियोजित नहीं थी. जो कुछ हुआ था, अचानक हुआ था. ये कहते हुए कोर्ट ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया.

केस में इस बात का भी ज़िक्र हुआ कि क्या ढांचे को गिराने में किसी विस्फोटक का भी इस्तेमाल किया गया था? निष्कर्ष निकला- नहीं.

दरअसल, जब सीबीआई मामले की जांच कर रही थी, तो वो अपने साथ सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लैब (CFSL) के वैज्ञानिकों की एक टीम को भी बाद में ढांचा विध्वंस के स्थल पर ले गई थी. सीएफएसएल की टीम ने घटनास्थल पर ईंट के टुकड़े और मिट्टी आदि का सैंपल लिया था. उसे सील किया और अपने साथ ले भी गए थे. इन सैंपल्स का परीक्षण कराया गया. इस परीक्षण के आधार पर सीएफएसएल ने अपनी रिपोर्ट सीबीआई को दी थी. रिपोर्ट में कहा गया कि विध्वंस करने में किसी भी तरह के रसायन या विस्फोटक का इस्तेमाल नहीं हुआ था.

2300 पन्ने का जजमेंट

मामले में फैसला सुनाते हुए कोर्ट ने ये भी कहा कि अभियोजन पक्ष इन आरोपियों की संलिप्तता को लेकर पर्याप्त साक्ष्य पेश नहीं कर सका. साथ ही कोर्ट ने ये भी कहा है कि इन 32 आरोपियों ने तो ढांचे को विध्वंस से बचाने की कोशिश की थी. पीछे से भीड़ आई और ढांचे को गिरा दिया.

इस केस में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, कल्याण सिंह, विनय कटियार, साध्वी ऋतंभरा, साक्षी महाराज, चंपत राय जैसे कई लोग अभियुक्त बनाए गए थे. कोर्ट ने 2300 पन्ने में अपना फैसला सुनाया.


बाबरी मस्जिद केस: CBI कोर्ट के फैसले पर योगी आदित्यनाथ ने किससे माफी की मांग कर दी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

आ गया है 28 साल पुराने मामले में फ़ैसला

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

अक्षय कुमार ने भी ट्वीट किया है.

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

तो क्या इस वक़्त देश के पास अर्थव्यवस्था सही करने का सिर्फ़ एक बटन बचा है?

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.