Submit your post

Follow Us

मुस्लिम पक्ष के वकीलों ने रामलला और हिन्दू आस्था के बारे में क्या कहा था?

5
शेयर्स

अयोध्या मामले में सुनवाई और फैसला तो सब हो चुका है. मोटामोटी बात ये कि केंद्र सरकार को ट्रस्ट बनाकर अयोध्या में विवादित स्थल पर मंदिर का निर्माण करवाना है. ज़मीन का मालिकाना रामलला विराजमान के पास. निर्मोही अखाड़े का दावा कैंसिल. और अयोध्या में मस्जिद के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड को अयोध्या में ही अलग से 5 एकड़ की ज़मीन या तो केंद्र सरकार या तो राज्य सरकार मुहैया कराएगी.

Ayodhya Banner Final
क्लिक करके पढ़िए दी लल्लनटॉप पर अयोध्या भूमि विवाद की टॉप टू बॉटम कवरेज.

लेकिन निर्णय तो बहुत बड़ा होता है. इस पूरे निर्णय का आकार ही बहुत बड़ा है, 1045 पेज का. और निर्णय के शुरुआती हिस्से – पेज संख्या 27 से लेकर 30 तक – को देखें तो पता चलता है कि इलाहाबाद हाई कोर्ट में सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकीलों ने राम, राम के जन्म, और राम के जन्मस्थान में हिन्दू समुदाय की आस्था पर कुछ बातें कहीं हैं. 22 अप्रैल 2009 को. सुनवाई के दिन.

New Delhi: All India Babri Masjid Action Committee (aibmac) Convener And Sunni Waqf Board's Advocate Zafaryab Jilani Talks To The Media Outside The Supreme Court After The Hearing In Ayodhya Title Dispute Case Came To An End, In New Delhi On Oct 16, 2019. After 40 Days Of Hearing, The Supreme Court On Wednesday Reserved The Judgement In The 70 Year Old Politically Vexing Ayodhya Title Dispute. The Court Now Has Asked Counsel From Both Sides To Submit Their Written Submissions On The Moulding Of Relief In The Matter. (photo: Ians)
कोर्ट के बाहर प्रेस से बात करते हुए ज़फरयाब जिलानी. | IANS

ज़फरयाब जीलानी ने क्या कहा?

“जैसा वाल्मीकि रामायण में लिखा है, और मौजूदा समय में भी, कि भगवान राम का अयोध्या में जन्म हुआ. और इस तथ्य के साथ हिन्दू भक्तों की आस्था पर कोई विवाद नहीं है. लेकिन इस बात पर विवाद है और नकार भी है कि भगवान् राम का जन्मस्थान बाबरी मस्जिद में ही था. इस बात से भी नकार है कि जिस जगह पर बाबरी मस्जिद है, उस जगह पर किसी भी समय कोई रामजन्मभूमि मंदिर हुआ करता था. 19वीं शताब्दी के आधे समय के बाद से निर्मोही अखाड़े के अस्तित्त्व पर भी कोई विवाद नहीं है. लेकिन इस बात पर विवाद है और नकार भी है 16वीं शताब्दी या सन 1528 में भी निर्मोही अखाड़ा अस्तित्त्व में था. और इस बात पर भी नकार है कि बाबरी मस्जिद के भवन के अन्दर 22 दिसंबर 1949 के पहले कोई मूर्ति थी.”

मुस्लिम पक्ष के दूसरे वकीलों मूसाक़ अहमद सिद्दीक़ी और सईद इरफ़ान अहमद ने भी रामलला की आस्था पर भी बातें कहीं. लेकिन एक कैच है. तीनों ही वकीलों ने एक ही बात कही. शब्द दर शब्द. वाक्य दर वाक्य.

इसको देखें तो पता चलता है कि मुस्लिम पक्ष ने हिन्दू आस्था और इस तथ्य से नहीं नकार किया. बल्कि कहा कि राम का जन्म अयोध्या में हुआ, इस पर कोई विवाद नहीं है. लेकिन राम का जन्म अयोध्या के बीच वाली गुम्बद के नीचे ही हुआ, इस पर संदेह है.


वीडियो : अयोध्या भूमि विवाद में ये 2.77 एकड़ का आंकड़ा चर्चा में कब आया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: विवादित ज़मीन रामलला को, मुस्लिम पक्ष को कहीं और मिलेगी ज़मीन

जानिए, कोर्ट ने अपने फैसले में और क्या-क्या कहा है...

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.

US ने जारी किया विडियो, देखिए कैसे लादेन स्टाइल में किया गया बगदादी वाला ऑपरेशन

अमेरिका ने इस ऑपरेशन से जुड़े तीन विडियो जारी किए हैं.

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

अमेठी: पुलिस हिरासत में आरोपी की मौत, 15 पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज

मौत कैसे हुई? मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

PMC खाताधारकों ने बीजेपी नेता को घेरा, तो पुलिस ने उन्हें बचाकर निकाला

RBI के साथ मीटिंग करने पहुंचे थे.