Submit your post

Follow Us

अगले CJI ने अयोध्या ज़मीन विवाद के केस में आस्था वाले ऐंगल पर क्या कहा है?

5
शेयर्स

देश के अगले चीफ जस्टिस होने जा रहे हैं जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े. उन्होंने अयोध्या लैंड डिस्प्यूट केस पर बयान दिया है. कहा है, अयोध्या भूमि विवाद में आस्था वाले ऐंगल की तरफ नहीं देख रही है अदालत. उन्होंने कहा कि अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट पर किसी किस्म का दबाव नहीं है. न ही अदालत इस केस को हिंदू बनाम मुसलमान के अर्थ में देखती है.

‘इंडिया टुडे’ को दिए एक इंटरव्यू में जस्टिस बोबड़े ने ये बात कही. कहा, सुप्रीम कोर्ट बस लिटिगेंट्स द्वारा अयोध्या भूमि विवाद में उठाए गए मसलों को देख रही है. उन्होंने कहा कि अयोध्या केस में सुप्रीम कोर्ट को बस इतना करना है कि फैसला सुनाना है. ये पूछे जाने पर कि अगर अयोध्या जैसे मुआमले सुप्रीम कोर्ट को राजनैतिक जाल की तरफ ले जाते हैं, जस्टिस बोबड़े बोले कि ये राजनैतिक मसला है ही नहीं. उन्होंने कहा-

ये एक लैंडमार्क केस है, मगर राजनैतिक मसला नहीं है. इसका कुछ ऐसा असर हो सकता है, जिसे हम अभी नहीं देख सकते.

इस सवाल पर कि क्या किसी एक खास याचिकाकर्ता के पक्ष में फैसला आने पर बतौत जज उन्हें किसी किस्म की चिंता होती है, जस्टिस बोबड़े बोले-

मुझे नहीं लगता कि सुप्रीम कोर्ट को इस बात की परवाह करनी चाहिए. हमें बस फैसला देना है. मुझे नहीं पता कि कोई उस फैसले की कैसे व्याख्या करेगा या कर सकता है. हम तक एक केस आया और हम बस उसपर फैसला सुना रहे हैं.

जस्टिस बोबड़े से सवाल पूछा गया. कि वो काफी संवेदनशील समय में CJI का पद संभालने जा रहे हैं. ऐसे वक़्त में, जब सारी नज़रें सुप्रीम कोर्ट पर लगी हुई हैं. तो क्या ये चीजें उनके ऊपर अतिरिक्त दबाव बना रही हैं. इसके जवाब में जस्टिस बोबड़े ने कहा-

नहीं, ऐसा तो नहीं है. हां, मगर प्राथमिकताएं बदल जाएंगी. चुनना होगा कि किस बात को पहले सुना जाए. किस मसले को वरीयता दी जाए. अदालत में लंबित पड़े मामलों और न्यायिक प्रक्रिया को लेकर चिंताएं बढ़ी हैं. लोग इन चीजों के बारे में बातें कर रहे हैं. मुझे इसमें कोई बुराई नज़र नहीं आती. कुछ कदम उठाए जाने होंगे, ताकि सामान्य स्थिति बहाल की जा सके.

मौजूदा चीफ जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं. संभावना है कि रिटायर होने से पहले वो अयोध्या केस का फैसला सुनाएंगे. CJI रंजन गोगोई के नेतृत्व में पांच जजों की एक कॉन्स्टिट्यूशन बेंच अयोध्या विवाद का फैसला सुनाएगी. 40 दिनों तक चली सुनवाई के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रखा. दिवाली की छुट्टियों के बाद 4 नवंबर को दोबारा कोर्ट खुलेगा.


जस्टिस शरद अरविंद बोबडे अगले CJI होंगे, जो जस्टिस रंजन गोगोई की जगह लेंगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

US ने जारी किया विडियो, देखिए कैसे लादेन स्टाइल में किया गया बगदादी वाला ऑपरेशन

अमेरिका ने इस ऑपरेशन से जुड़े तीन विडियो जारी किए हैं.

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

अमेठी: पुलिस हिरासत में आरोपी की मौत, 15 पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज

मौत कैसे हुई? मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

PMC खाताधारकों ने बीजेपी नेता को घेरा, तो पुलिस ने उन्हें बचाकर निकाला

RBI के साथ मीटिंग करने पहुंचे थे.

इस विदेशी सांसद को कश्मीर आने का न्योता दिया फिर कैंसल कर दिया, वजह हैरान करने वाली है

सांसद ने ऐसी शर्त रख दी थी कि विदेशी डेलिगेशन का हिस्सा नहीं बन पाए.

आज ही के दिन यूरोपियन यूनियन के सांसद कश्मीर क्यों पहुंचे? महबूबा मुफ्ती की बेटी ने बताया

आर्टिकल 370 में बदलाव के बाद कश्मीर के हालात का जायजा लेने पहुंचा है 27 सांसदों का दल

BJP नेता से स्कूल ड्रेस ना लेने पर स्कूल टीचर की नौकरी चली गयी!

और बच्चे टीचर को वापिस बुलाने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं.

पाकिस्तान ने सीज़फायर तोड़ा, भारत ने जवाब में मार गिराए पांच पाकिस्तानी सैनिक और कई आतंकवादी

पाकिस्तान ने भी मान लिया कि भारत ने हमला किया है.

अयोध्या : मुस्लिम पक्ष ने कहा, 'केवल हमसे ही सारे सवाल क्यों पूछे जा रहे?'

इस पर हिन्दू पक्ष ने कोर्ट में क्या कह दिया?

राफेल बनाने वालों ने राजनाथ सिंह से ऐसी बात कह दी कि निर्मला सीतारमण का दिल बैठ जाए

टैक्स को लेकर क्या कह दिया?