Submit your post

Follow Us

टीवी पर 40 से ज्यादा एपिसोड दिखाए जाने के बाद इस सीरियल को बैन क्यों कर दिया गया

असम. यहां एक टीवी सीरियल को बैन कर दिया गया है. टेलीविजन शो का नाम ‘बेगम जान’ है. इसे दो महीने के लिए बैन किया गया है. कुछ हिन्दूवादी संगठनों ने शो पर ‘लव जिहाद’ को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था. ये भी आरोप लगे थे कि शो असम की संस्कृति को धूमिल कर रहा है. स्थानीय प्रशासन ने 24 अगस्त को ‘बेगम जान’ शो पर प्रतिबंध लगा दिया. ये सीरियल ‘रेंगोनी’ चैनल पर आता था.

क्या है पूरा मामला

‘बेगम जान’ का पहला एपिसोड 6 जुलाई को टीवी पर दिखाया गया. कहानी एक लड़की के इर्द-गिर्द घूमती है, जो अपने अस्तित्व को बचाने के लिए दुनिया से लड़ती है. लड़की हिन्दू धर्म से है. एक मुस्लिम लड़का उसकी मदद करता है. उसकी मदद से वह समाज से लड़ती है. इस शो का प्रसारण शुरू होने के बाद से ही इसका विरोध होने लगा था. कुछ हिन्दूवादी संगठनों ने सड़क पर उतरकर विरोध जताया था. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े ‘हिंदू जागरण मंच’ ने इस शो को बैन कराने के लिए ऑनलाइन सिग्नेचर कैंपेन शुरू किया था.

बैन किए जाने से पहले यूट्यूब पर इस शो के 40 से ज्यादा एपिसोड मौजूद हैं.

गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर एमपी गुप्ता ने इस मामले में ‘एनडीटीवी’ से बात की. उन्होंने कहा,

जिला स्तर की 10 सदस्यीय कमेटी से इस बारे में चर्चा की गई थी. आरोप है कि ये शो लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत कर रहा है. प्रथम दृष्टया शांति व्यवस्था बनी रहे, इसको देखते हुए ये तय किया गया कि शो को दो महीने के लिए बैन किया जाएगा.

वहीं चैनल का दावा है कि उनका सीरियल किसी भी तरह से किसी भी धर्म या समुदाय का अपमान नहीं कर रहा था. ‘रेंगोनी’ चैनल के सीएमडी संजीव नारायण ने कहा,

इसका ‘लव जिहाद’ से कोई लेना-देना नहीं है. यह एक हिंदू लड़की की कहानी है, जो एक मुस्लिम इलाके में मुसीबत में पड़ जाती है और एक मुस्लिम व्यक्ति उसे बचाता है. हमारी कानूनी टीम इस मसले पर काम कर रही है. यह पहली बार है, जब इस तरह की कार्रवाई की गई है. हमें इस धारावाहिक में किसी भी धर्म के लिए अपमानजनक कुछ भी नहीं दिख रहा है.

एक्ट्रेस प्रीति कोंगकोना ‘बेगम जान’ में लीड रोल में हैं. उन्होंने जुलाई में ‘आउटलुक’ से बातचीत में बताया था,

मैंने इस सीरियल में हिन्दू लड़की की भूमिका निभाई है. सीरियल की मेन कैरेक्टर जनमोनी मुश्किल में पड़ जाती है. और एक मुस्लिम उसकी मदद करता है. फिर गांव में कोई अफवाह फैला देता है कि जनमोनी मुस्लिम लड़के के साथ भाग गई, जबकि ऐसा होता नहीं है. यह बहुत दर्दनाक है, जब लोग धारावाहिक देखे बिना प्रतिक्रिया दे रहे हैं. स्क्रिप्ट में लव-जिहाद जैसा कुछ नहीं है. इसमें कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं है. इसके विपरीत इसमें दिखाया गया है कि मानवता धर्म से कितनी बड़ी है.

प्रीति कोंगकोना को इस सीरियल में काम करने की वजह से टारगेट किया गया. यहां तक कि उन्हें रेप और मर्डर की धमकी मिली. उन्होंने कहा,

मुझे प्रशासन और कानून पर पूरा भरोसा है. मुझे सोशल मीडिया के जरिए रेप की धमकी मिली. किसी भी आर्टिस्ट को सोशल मीडिया पर ट्रोल करना आजकल का ट्रेंड बन गया है. ये बहुत कष्टदायक है.

पुलिस पर आरोप लगा है कि प्रीति कोंगकोना की शिकायत के बावजूद कोई एक्शन नहीं लिया गया. वहीं पुलिस का कहना है कि एक्ट्रेस की शिकायत पर केस दर्ज किया गया है. मामले की जांच चल रही है.

‘हिंदू जागरण मंच’ के प्रदेश अध्यक्ष मृणाल कुमार लश्कर ने ‘एनडीटीवी’ से कहा-

बेगम जान ने सही अर्थों में हिंदू समाज या असमिया समाज के विचारों का चित्रण नहीं किया है. इसने ब्राह्मणों का अपमान किया है. असमिया समाज में पहले से ही ‘लव जिहाद’ है और ये सीरियल इसे और ज्यादा बढ़ावा दे सकता है. कोई भी मूवी या सीरियल अगर हिन्दू समाज को नीचा दिखाने की कोशिश करेगा, तो हम उसका विरोध करेंगे.


सुशांत केस: रिया ने उन चैट्स पर क्या कहा जिसके बाद ड्रग्स वाली बात सामने आई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?