Submit your post

Follow Us

बाढ़ में तिरंगे को सलाम करते इस बच्चे के साथ जो हुआ, उस पर विश्वास नहीं होता

15 अगस्त 2017. ठीक एक साल पहले की बात है. स्वतंत्रता दिवस पर एक तस्वीर सोशल मीडिया पर आई और उसे देख लोग भावुक हो गए. जमके शेयर किया. तस्वीर बाढ़ से प्रभावित असम के धुबरी जिले के लश्कारा प्राइमरी स्कूल की थी, जहां चार शिक्षक और दो बच्चे स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए पानी की परवाह किए बिना पहुंचे थे. तस्वीर में चार लोग दिख रहे हैं. पर सबकी नजर गर्दन तक पानी में डूबे दो बच्चों पर अटक गई. वो इसलिए कि इस हालत में भी ये तिरंगे को सलाम कर रहे थे. जश्न मना रहे थे.

पिछले साल आई थी ये तस्वीर.
पिछले साल आई थी ये तस्वीर.

पर अब एक दूसरी खबर आई है. इसी तस्वीर को लेकर. हाल ही में आई वो नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन वाली रिपोर्ट तो आपको याद ही होगी, जिसमें असम में रह रहे अवैध नागरिकों की पहचान करनी थी. अब इसका कंप्लीट ड्राफ्ट आ गया है, जिसमें 40 लाख लोगों के नाम आए हैं मगर इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक लिस्ट में इस तस्वीर में दिख रहे एक बच्चे का नाम नहीं है. माने वो कथित तौर पर अब असम का नागरिक ही नहीं भारत का भी नागरिक नहीं है. इस बच्चे का नाम है हैदोर अली खान.

यही वजह है कि पिछले साल गर्व से भारतीय झंडे को सैल्यूट करने वाला 10 साल का हैदोर अली अब परेशान है. आपको जान के ताज्जुब होगा होगा कि हैदोर के परिवार के अन्य लोगों का नाम इस लिस्ट में शामिल है. हैदोर की मां जॉयगन खातून ने कहा कि हैदोर का नाम लिस्ट में नहीं है मगर उसके भाई और बहन का नाम उसमें है. हैदोर की मां एक स्कूल में कुक का काम करती हैं और उनकी तनख्वाह सिर्फ एक हजार रुपये है. इसी में उनको गुजारा करना होता है. उनके पति भी नहीं हैं. उन्होंने सरकार से गुजारिश की है कि उनके बेटे का नाम एनआरसी लिस्ट में शामिल कर लिया जाए.

हैदोर के स्कूल में इस बार भी हुआ झंडारोहण.
हैदोर के स्कूल में इस बार भी हुआ झंडारोहण.

हैदोर के स्कूल वाले भी इस खबर से नाराज हैं. नक्सारा लोअर प्राइमरी स्कूल में टीचर मिनाजुर रहमान ने कहा कि ये बहुत दुखी करने वाला है कि हैदोर के साथ ऐसा हुआ. उस हैदोर के साथ जो पिछले स्वतंत्रता दिवस पर पानी में तैर कर आया और झंडा रोहण करवाया. हेडमास्टर ताजेन सिकदर ने कहा कि इस बार के झंडा रोहण कार्यक्रम में भी हैदोर आया था. उनका कहना है कि उन्होंने हैदोर की मां को भरोसा दिलाया है कि उसका नाम जरूर एनआरसी में आ जाएगा.


ये भी पढ़ें –

पाकिस्तानी सेना अपने PM को मूर्ख बना रही थी और PM श्रीनगर में झंडा फहराने के ख्वाब देख रहे थे

क्या है आयुष्मान भारत योजना, जो 25 सितंबर 2018 से लागू हो रही है

इस ‘तिरंगा’ से आजादी कब मिलेगी सरकार?

क्यों बिना देखे लता मंगेशकर ने सुनिधि चौहान को फर्स्ट प्राइज़ दे दिया था?

लल्लनटॉप वीडियो देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

कोरोना के खतरे के बीच टी20 विश्वकप को लेकर ऑस्ट्रेलिया ने क्या कहा?

टी20 विश्वकप होगा या नहीं, ऑस्ट्रेलिया ने बताया.

मैदान पर भिड़ जाने की कोहली की आदत पर टीम इंडिया के पूर्व कोच ने बड़ी बात बोल दी

न्यूज़ीलैण्ड दौरे पर कोहली अति-आक्रामक नज़र आए थे.

'कोरोना प्यार है' का नाम सुनकर क्यों भड़क गए ऋतिक के पिता और डायरेक्टर राकेश रोशन?

'कोरोना प्यार है'. न सिर्फ ये टाइटल बेकार है, फिल्ममेकर्स में थोड़ी संवेदनशीलता की भी दरकार है.

MP: भांजे की जगह 10वीं का पेपर देने पहुंचे थे, टीचर के ट्रिक क्वेश्चन में उलझ गए मामाजी

बहन ने भाई को बेटे की जगह स्कूल भेजने का कारण भी बताया, जो कुछ काम न आया.

कोरोना वायरस के चलते रेलवे ने कई जगह प्लेटफॉर्म टिकट के दाम पांच गुना बढ़ा दिए

पश्चिमी रेलवे ने ये उपाय अपनाया है.

कोरोना वायरस पर बाबा सहगल, नरेंद्र चंचल और ये राजस्थानी महिलाएं क्या गा रहे हैं?

दुनियाभर में लोग कोरोना के जवाब में म्यूजिक तैयार कर रहे हैं. देखें वीडियोज़.

घटे टैक्स का फायदा जनता को नहीं दिया, पतंजलि पर 75 करोड़ का जुर्माना लगा

जब GST के रेट घटे तो पतंजलि ने वॉशिंग पाउडर की कीमत बढ़ा दी थी.

रंजन गोगोई के राज्यसभा जाने को लेकर ओवैसी ने ऐसी बात लिख दी कि सब गूगल करने लगे

ओवैसी का शशि थरूर मोमेंट!

कोरोना वायरस के बाद मोदी पर किस बात पर फायर हो रहे हैं राहुल गांधी?

COVID-19 के साथ सुनामी की चेतावनी और सरकार को रेत से सिर निकालने की सलाह दे रहे हैं.

रोडीज के एक्स डायरेक्टर ने कहा, शो और उसके एंकर्स शर्मनाक स्तर तक पहुंच चुके हैं

रोडीज की जज नेहा धूपिया को कंटेस्टेंट के साथ गालीगलौज करने पर काफी क्रिटिसाइज किया गया था.