Submit your post

Follow Us

बिल भरने के पैसे न होने की वजह से एक्टर को अस्पताल से डिस्चार्ज होना पड़ा

आम जनता को लगता है कि फिल्म टीवी इंडस्ट्री यानि छप्पर फाड़ पैसा. फिर कई बार इस इंडस्ट्री का वह चेहरा सामने आता है, जब काम ना मिलने से कई लोग कंगाली में पहुंच चुके होते हैं. कुछ दिनों पहले टीवी एक्टर राजेश करीर का एक वीडियो फेसबुक पर वायरल हुआ था. जिसमें वे लोगों से आर्थिक मदद की अपील कर रहे थे. अब पता चला है कि ‘ससुराल सिमर का’ सीरियल के एक एक्टर को पैसे की कमी के कारण अस्पताल से डिस्चार्ज होना पड़ा.

हर दूसरे दिन डायलिसिस के लिए अस्पताल जाना पड़ता है

बात हो रही है एक्टर आशीष रॉय की. जो ‘ससुराल सिमर का’ सीरियल में सूर्येंद्र के रोल में दिखे. ‘मेरे अंगने में’ सीरियल में भी उन्होंने सरला के पति, यानि अशोक का रोल निभाया था. पिछले कुछ दिनों से बीमार हैं. आर्थिक बदहाली के कारण उन्हें अस्पताल छोड़कर घर आना पड़ा. ‘स्पॉटबॉय’ को दिए हुए इंटरव्यू में उन्होंने कहा:

“अभी मैं घर पर हूं और बहुत कमज़ोर महसूस कर रहा हूं. घर पर एक हाउस हेल्प है, जो मेरा ख्याल रख रही है. चूंकि अभी फ्लाइट्स पूरी तरह से चल नहीं रही हैं, इसलिए मेरी बहन यहां नहीं आ पाई है.”

उन्होंने पैसे ना होने के कारण अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बारे में कहा:

“मुझे 24 मई को डिसचार्ज होना पड़ा क्योंकि मेरे पास उन्हें देने के लिए और पैसा नहीं था. 2 लाख का बिल था, किसी तरह से मैंने उसका भुगतान किया. मेरा डायलिसिस अब भी चल रहा है. अभी 2 महीने तक चलेगा. मैं हर दूसरे दिन अस्पताल जाता हूं, और वे 3 घंटे का डायलिसिस का 2000 रुपया चार्ज करते हैं.” 

Ashish Roy With Habib Faisal
आशीष रॉय लेखक-डायरेक्टर हबीब फैसल के साथ

जाने सलमान खान को मेरा मैसेज मिला या नहीं

17 मई के दिन उन्होंने फेसबुक पर बताया था कि वे आई.सी.यू. में भर्ती हो गए हैं, और उन्हें डायलिसिस के लिए पैसा चाहिए. कई कलाकारों ने उनकी पोस्ट पर कमेंट किया. उन्हें ठीक होने की दुआ की. डायरेक्टर हंसल मेहता ने उन्हें पैसा भेजा. फिर ट्विटर पर इंडस्ट्री के दूसरे लोगों से भी उनकी मदद करने के लिए कहा:

“एक्टर आशीष रॉय (बॉन्ड) बहुत बीमार हैं. डायलिसिस पर हैं और आई.सी.यू. में हैं. उन्होंने फेसबुक पर आर्थिक मदद के लिए अपील की है. मुझसे जितना हो सकता है, मैं कर रहा हूं. क्या इंडस्ट्री असोसिएशन इस बीमार एक्टर की मदद कर सकती है?”

आशीष ने 23 मई के एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्हें किसी से भी बहुत ज़्यादा मदद नहीं मिली है. उन्होंने कहा था:

“सोशल मीडिया पर अपनी बैंक डिटेल शेयर करने के बाद भी कोई बहुत बड़ी मदद नहीं आई. मेरे दोस्त सूरज थापर कुछ अरेंजमेंट करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं. लेकिन लॉकडाउन की वजह से वे भी रेस्ट्रिक्टेड हैं. अब मेरी आखिरी उम्मीद सलमान खान हैं. मैं सूरज के रास्ते कोशिश कर रहा हूं उन तक या उनकी फाउंडेशन बीइंग ह्यूमन तक पहुंचने की. क्योंकि सूरज ने उनके साथ काम किया है.”   

हालांकि उन्हें सलमान से मदद नहीं मिल पाई. वे नहीं जानते कि सलमान तक उनका मैसेज पहुंचा या नहीं. उन्होंने कहा कि वे बस अब ठीक होना चाहते हैं, और वापस काम पर लौटना चाहते हैं.

हंसल मेहता, अनुराग कश्यप, विजय कृष्ण आचार्य जैसे कई लोग फ़रिश्ते साबित हुए

ऐसा नहीं कि उन्हें किसी से भी मदद ना मिली हो. दरअसल वे करीब 2 साल से अलग अलग बीमारियों से जूझ रहे हैं. बहुत समय से काम नहीं कर पाए हैं. ऐसी आर्थिक बदहाली, और इलाज बहुत महंगा. भले ही उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज होना पड़ा, लेकिन जितना इलाज हुआ, उसके लिए भी कई लोगों ने मदद की है.

Walking after 10 days! Swelling going down. Dialysis seems to be working. Mask on…Sorry! Love from all you people working wonders. I really am humbled!

Posted by Ashiesh Roy on Wednesday, 27 May 2020

23 मई को उन्होंने इन लोगों को धन्यवाद देते हुए फेसबुक पर पोस्ट किया था:

“उन सब कमाल के लोगों को शुक्रिया कहना चाहता हूं, जिन्होंने मेरा मेडिकल बिल भरने में मदद की. आप जैसे अच्छे लोगों की वजह से मेरी ज़िंदगी बची है. शुक्रिया.”   

Just wish to thank all those wonderful people who contributed to my medical Bill’s. I owe my life to you lovely people. Thank you:)

Posted by Ashiesh Roy on Saturday, 23 May 2020

24 मई को उन्होंने राइटर-डायरेक्टर हबीब फैसल के साथ फोटो शेयर की, जो अस्पताल में उनका हालचाल पूछने आए थे. उसी दिन वे अस्पताल से डिस्चार्ज हुए थे. उनके पास कई लोगों की मदद आती रही. 30 मई को उन्होंने एक करीब 10 मिनट की वीडियो पोस्ट की, जिसमें उन्होंने उनकी मदद करने वाले सब लोगों का ज़िक्र किया.

This is my Thank you to all of you wonderful people who lkve me and want me to remain alive! I am humbled,

Posted by Ashiesh Roy on Saturday, 30 May 2020

उन्होंने अपने दोस्त सूरज थापर के अलावा कई दूसरे लोगों का नाम लिया. इनमें डायरेक्टर हंसल मेहता, अनुराग कश्यप, बिजॉय नांबियार, विजय कृष्ण आचार्य का नाम शामिल था. बीच में एक नाम आया शिखा कालरा का. उन्होंने बताया कि वे उनके साथ 8 साल तक रिलेशनशिप में थे. फिर शिखा उनसे बोर हो गईं और किसी से शादी कर ली. अब उनके 2 बच्चे हैं. उन्होंने भी आशीष की मदद के लिए रुपया भेजा. आपको बता दें कि आशीष शादीशुदा नहीं हैं.

आशीष फिल्म, टीवी और थिएटर में एक्टिंग करते रहे हैं. उन्होंने 1997 में ‘ब्योमकेश बख्शी’ टीवी सीरीज़ से एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी. इसके अलावा वे एक मंझे हुए डबिंग आर्टिस्ट भी रहे हैं. उन्होंने हॉलीवुड की फिल्म ‘डार्क नाइट’ में जोकर के किरदार को आवाज़ दी थी. और ‘सुपरमैन रिटर्न्स’ में लैक्स ल्यूथर को.


वीडियो देखें: बॉलीवुड के सपोर्टिंग एक्टर्स लॉकडाउन में इस तरह से गुजारा कर रहे हैं? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

WHO ने कोरोना पर राहत देने वाली बात की तो दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने कहा, “अरी मोरी मईया!”

पलटकर WHO से ही सबूत मांग रहे हैं लोग.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां को हुआ कोरोना इंफेक्शन, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

बीते कुछ दिनों से दोनों की तबीयत खराब थी.

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.