Submit your post

Follow Us

सुशांत और दिशा केस में नाम घसीटे जाने के बाद अरबाज़ खान कोर्ट पहुंच गए

अरबाज़ खान. बॉलीवुड एक्टर और डायरेक्टर हैं. फिलहाल चर्चा में हैं, क्योंकि अरबाज़ ने कुछ अज्ञात सोशल मीडिया यूज़र्स पर मानहानि का मुकदमा दर्ज करवाया है. कुछ यूज़र सुशांत सिंह राजपूत और उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सालियान की मौत से अरबाज़ का नाम जोड़ रहे थे. एक्टर को यूज़र्स की ये हरकत बिल्कुल पसंद नहीं आई और उन्होंने मुंबई की अदालत में यूज़र्स के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया. अरबाज़ का कहना है कि ऐसे फेक कंटेंट और पोस्ट शेयर करके उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है.

क्या है पूरा मामला

दरअसल, सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले की जांच इस समय CBI कर रही है. लेकिन सोशल मीडिया पर लोग अलग-अलग कयास लगा रहे हैं. कोई किसी पर दोष मढ़ रहा है, तो कोई किसी के खिलाफ कुछ बोल रहा है. इन्हीं में से कुछ यूज़र ने सलमान खान के भाई अरबाज़ खान को इस मामले में घसीट लिया.

फेसबुक और दूसरे सोशल मीडिया पर ऐसे पोस्ट शेयर होने लगे, जिनमें अरबाज़ खान को दिशा और सुशांत की मौत से जोड़ा जा रहा है. अब अरबाज़ खान ने इस मामले में कानून का सहारा लिया है.


View this post on Instagram

Happy birthday Giorgia ❤️

A post shared by Arbaaz Khan (@arbaazkhanofficial) on

अरबाज़ ने क्या कहा

अरबाज़ ने अदालत से अपील की है कि ऐसा कोई भी कंटेंट या पोस्ट, जो डायरेक्ट या इनडायरेक्ट तरीके से उनके या उनके परिवार के सदस्यों का अपमान करता हो, उसे तुरंत हटवाया जाए. इसमें किसी भी तरह के ट्वीट, वीडियो, इंटरव्यू या यू-ट्यूब पर कोई भी ऐसा कंटेंट हो तो, उसे हटवाए जाने की मांग की है.

अरबाज़ खान कहा है कि ऐसे फेप पोस्ट और वीडियो कंटेट बनाकर लोग उनके और उनके परिवार को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं.
अरबाज़ खान ने कहा है कि फेक पोस्ट और वीडियो कंटेंट से लोग उन्हें बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं.

क्या लिखा है पोस्ट में

पोस्ट में कुछ सोशल मीडिया यूज़र्स ने ये लिखा है कि सुशांत और दिशा की मौत में अरबाज़ की भूमिका रही है. कुछ ने ये तक लिख दिया है कि सीबीआई ने अरबाज़ को भी अनौपचारिक तौर पर हिरासत में ले लिया है. हालांकि अभी तक सीबीआई ने अरबाज़ खान को हिरासत में लेने की किसी भी तरह से कोई बात नहीं कही है, मगर फिर भी लोग सोशल मीडिया पर ऐसे पोस्ट धड़ल्ले से शेयर कर रहे थे.

कोर्ट ने दिया आदेश

अरबाज़ खान की अपील के बाद कोर्ट ने अंतरिम आदेश दिया. कोर्ट ने तुरंत ही इस तरह बदनाम करने वाले पोस्ट को सोशल प्लेटफॉर्म से हटाने या वापस लेने का निर्देश दिया है. बता दें कि अरबाज़ ने 28 सितंबर को विभोर आनंद और साक्षी भंडारी के साथ अज्ञात प्रतिवादियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था.

सलमान खान और अरबाज़ खान की फिल्म 'हैलो बर्द्रर' का एक सीन.
सलमान खान और अरबाज़ खान की फिल्म ‘हैलो ब्रदर्स’ का एक सीन.

सलमान खान का नाम भी जोड़ने की कोशिश

कुछ दिनों पहले सुशांत मामले में टैलेंट मैनेजमेंट कंपनी KWAN का नाम सामने आया था. कंपनी के सीईओ समेत कई कर्मचारियों से भी पूछताछ की गई थी. खबर आई थी कि सलमान खान का बहुत सारा पैसा KWAN कंपनी में लगा है. हालांकि बाद में सलमान खान के वकील की तरफ से इस बात से पूरी तरह इनकार कर दिया गया. वकील ने कहा कि सलमान खान का किसी भी तरह से KWAN कंपनी में कोई पैसा नहीं लगा है.


वीडियो:  टैलेंट मैनेजमेंट एजेंसी KWAN से सलमान का नाम जुड़ा तो वकील ने कहा, ‘मीडिया वाले गलत खबर चला रहे’

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

तो क्या इस वक़्त देश के पास अर्थव्यवस्था सही करने का सिर्फ़ एक बटन बचा है?

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.