Submit your post

Follow Us

महामारी में लोग परेशान, महाराष्ट्र सरकार ने डिप्टी सीएम का सोशल मीडिया चमकाने के लिए खजाना खोल दिया

महाराष्ट्र. कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य. ज़ाहिर है, वहां प्रायोरिटी स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने की होनी चाहिए. लेकिन महाराष्ट्र की सरकार अपने डिप्टी सीएम अजित पवार का सोशल मीडिया चमकाने में लगी है. राज्य के सामान्य प्रशासन विभाग ने इसके लिए इस साल का बजट 5.98 करोड़ तय किया है.

इंडिया टुडे के मुस्तफा शेख की रिपोर्ट के मुताबिक, सामान्य प्रशासन विभाग ने 12 मई को एक आदेश जारी किया. इस आदेश में एक एक्सटर्नल एजेंसी हायर किए जाने की सूचना दी गई. बताया गया कि ये एजेंसी अजित पवार के सोशल मीडिया अकाउंट्स हैंडल करेगी. सुनिश्चित करेगी कि डिप्टी सीएम के फैसले आम जनता तक पहुंचें. इस आदेश के मुताबिक, ये एजेंसी अजित पवार का ट्विटर, फेसबुक, ब्लॉग, यूट्यूब और इंस्टाग्राम हैंडल देखेगी. इसके अलावा उनका क्लाउड अकाउंट, वॉट्सऐप बुलेटिन, टेलीग्राम चैनल और SMS भी यही एजेंसी संभालेगी.

Ajit Pawar Serious
अजित पवार की फाइल फोटो

आदेश में बताया गया कि डिप्टी सीएम के सचिवालय और सूचना व पब्लिक रिलेशन विभाग के महानिदेशक (DGIPR) से चर्चा के बाद ये फैसला लिया गया. एजेंसी ये सुनिश्चित करेगी कि मुख्यमंत्री और डिप्टी सीएम के कार्यालय से जारी होने वाले संदेशों का डुप्लिकेशन न हो. बता दें कि मुख्यमंत्री कार्यालय का सोशल मीडिया पहले से ही एक एक्सटर्नल एजेंसी देख रही है. जुलाई, 2020 में इस एजेंसी को हायर किया गया था.

1200 कर्मचारियों का विभाग सोशल मीडिया हैंडल नहीं कर सकता

इस आदेश में तर्क दिया गया है कि DGIPR के पास सोशल मीडिया से डील करने के लिए प्रोफेशनल और टेक्निकल जानकारी की कमी है. इसलिए एक्सटर्नल एजेंसी को हायर किया गया है. हालांकि, एक सीनियर अधिकारी ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि महाराष्ट्र के पास 1200 कर्मचारियों वाला DGIPR स्टाफ है. उसका सालाना बजट 150 करोड़ का है. इसके बावजूद जुलाई 2020 में मुख्यमंत्री कार्यालय का सोशल मीडिया हैंडल करने के लिए एक एक्सटर्नल एजेंसी हायर की गई थी.

Uddhav Thackeray
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे.  इनके ऑफिस का सोशल मीडिया हैंडल करने के लिए जुलाई 2020 में बाहरी एजेंसी हायर की गई थी. फाइल फोटो- PTI.

बीजेपी ने जताया विरोध

BJP के MLA राम कदम ने महाराष्ट्र सरकार के इस फैसले का विरोध किया है. उन्होंने कहा,

“महाराष्ट्र सरकार की लापरवाही की वजह से कोरोना महामारी में लोग मर रहे हैं. एक तरफ सरकार कह रही है कि उनके पास वैक्सीन खरीदने के लिए पर्याप्त बजट नहीं है. दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर अपनी पीठ थपथपाने के लिए डिप्टी सीएम के वास्ते छह करोड़ में एक टीम हायर की है. अगर एक मंत्री के लिए इतना बजट है तो सारे मंत्रियों के लिए कितना बजट होगा? महामारी में सरकारी खर्चे पर नई गाड़ियां खरीदी गईं, मंत्रियों के घरों को रिनोवेट किया गया. सोशल मीडिया के लिए तो मंत्रियों को अपनी जेब से पैसा देना चाहिए.”

बता दें कि डिप्टी सीएम होने के अलावा अजित पवार राज्य का वित्त और योजना विभाग भी संभालते हैं.


कोरोना महामारी के बीच गुजरात में ‘नमो ऑक्सीजन बूस्टर’ बंटे, लोग बोले- आपदा में अवसर?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी के हर जिले में कोरोना से जुड़ी शिकायतों की सुनवाई की हाई कोर्ट ने स्पेशल व्यवस्था कर दी है

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने चुनावी ड्यूटी में जान गंवाने वालों पर भी अहम फैसला दिया है.

नदी में कोरोना पीड़ितों के शव बहाने से क्या पानी संक्रमित हो जाता है?

बिहार और यूपी में ऐसे मामले सामने आ रहे हैं.

कनाडा के बाद अब अमेरिका में भी 12 से 15 साल के बच्चों को लगेगी फाइज़र की वैक्सीन

ये वैक्सीन भारत कब तक आएगी.

डॉक्टरों की सबसे बड़ी संस्था IMA ने कोरोना पर सरकार को खूब सुनाया है!

कहा-स्वास्थ्य मंत्रालय का रवैया हैरान करने वाला.

दिल्ली में फिर बढ़ा लॉकडाउन, इस बार और भी सख़्ती

दिल्ली के सीएम ने क्या बताया?

बंगाल में केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ तो ममता बनर्जी ने उलटा क्या आरोप मढ़ दिया?

लगातार हो रही हिंसा की जांच के लिए होम मिनिस्ट्री ने अपनी टीम बंगाल भेज दी है.

पंजाबी फ़िल्मों के मशहूर एक्टर-डायरेक्टर सुखजिंदर शेरा का निधन

कीनिया में अपने दोस्त से मिलने गए थे, वहां तेज बुखार आया था.

सलमान खान ने मदद मांगने वाले 18 साल के लड़के को यूं दिया सहारा!

कुछ दिन पहले ही कोरोना से अपने पिता को गंवा दिया.

उत्तराखंड में एक और आपदा, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग के पास बादल फटा

भारी नुक़सान की ख़बरें लेकिन एक राहत की बात है

क्या वाकई केंद्र सरकार ने मार्च के बाद वैक्सीन के लिए कोई ऑर्डर नहीं दिया?

जानिए वैक्सीन को लेकर देश में क्या चल रहा है.