Submit your post

Follow Us

अमेरिकन कपल ने IVF पर 3 करोड़ खर्च किये, बेटी पैदा हुई लेकिन उनकी नहीं थी

क्रिस्टीना और ड्रयू अमेरिका के न्यू जर्सी में रहते हैं. दोनों पहले शादीशुदा थे, अब तलाक हो चुका है. खैर, जब शादीशुदा थे, तब साल 2013 में क्रिस्टीना ने IVF के ज़रिए एक बच्ची को जन्म दिया. बच्ची जैसे-जैसे बड़ी हुई, तो दोनों ने ऑब्जर्व किया कि बच्ची का चेहरा एशियन लोगों की तरह दिखता है.

ड्रयू को क्रिस्टीना पर शक हुआ. उसे लगा कि उसकी पत्नी ने उसे धोखा दिया है. इसलिए उन्होंने बच्ची का DNA टेस्ट कराया, तो पता चला कि बच्ची का पिता ड्रयू नहीं था. लेकिन बच्ची तो IVF ट्रीटमेंट से पैदा हुई थी, इसलिए दोनों ने उस फर्टिलिटी सेंटर पर केस करने का फैसला किया, जहां से उन्होंने ये ट्रीटमेंट लिया था. इस ट्रीटमेंट के लिए उन्होंने 3 करोड़ 50 लाख रुपए से भी ज़्यादा का खर्चा किया था.

क्रिस्टीना और ड्रयू ने फर्टिलिटी सेंटर के खिलाफ केस दायर कर दिया. इसके लिए उन्होंने एसेक्स काउंटी सुपीरियर कोर्ट में याचिका डाली. अपनी याचिका में लिखा कि क्लिनिक की लापरवाही की वजह से उनकी शादी टूट गई. पिछले महीने कोर्ट की जज ने क्लिनिक को एक ऑर्डर दिया. ये कि वो उन सभी स्पर्म डोनर्स की लिस्ट दे, जिन्होंने क्रिस्टीना के IVF ट्रीटमेंट के आसपास स्पर्म डोनेट किया था. कोर्ट ने बच्ची के असली पिता का पता लगाने की उम्मीद से ये ऑर्डर दिया.

क्रिस्टीना और ड्रयू ये चाहते हैं कि उन्हें बच्ची के असली पिता का पता चल जाए. ताकि जब बच्ची बड़ी हो और अपने पिता से मिलना चाहे, तो मिल सके. इसके अलावा वो ये भी जानना चाहते हैं कि क्या ड्रयू का स्पर्म भी किसी दूसरी महिला के IVF ट्रीटमेंट में इस्तेमाल हुआ है?

इस कपल का ये कहना है कि वो अपनी बच्ची को बहुत प्यार करते हैं, लेकिन फर्टिलिटी सेंटर की गड़बड़ी की वजह से उन्हें बहुत कुछ सहन करना पड़ रहा है.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.