Submit your post

Follow Us

हरियाणा के शाकाहारी बुजुर्ग को चिकन सैंडविच खिलाने वाली फ्लाइट पर 1.54 लाख का जुर्माना

4.12 K
शेयर्स

हरियाणा के पंचकुला के परिवार के लिए मलेशिया की यात्रा हमेशा के लिए यादगार बन गई, लेकिन गलत कारणों से. इस परिवार ने एयर एशिया से अक्टूबर 2018 में यात्रा की थी. यह उनके लिए कठिन यात्रा थी. परिवार का आरोप है कि इस यात्रा के दौरान एयरलाइन के कर्मचारियोंने उन्हें परेशान किया. इतना ही नहीं, परिवार के सबसे बड़े सदस्य जो वेजिटेरियन हैं, उन्हें नॉनवेज खाना परोस गया. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक अब पंचकुला कंज्यूमर फोरम ने एयर एशिया पर भारी जुर्माना लगाया है. फोरम ने पीड़ित परिवार को 1.54 लाख रुपए का भुगतान करने का निर्देश दिया है.

मामला क्या है?

61 वर्षीय विजय कुमार त्रेहन ने कंज्यूमर फोरम में शिकायत दर्ज कराई थी. शिकायत में उन्होंने कहा कि अमृतसर से कुआलालंपुर जाने के लिए एयर एशिया की फ्लाइट में टिकट बुक कराई थी. 7 अक्टूबर 2018 को जाने की और 13 अक्टूबर 2018 को लौटने के लिए टिकट बुक कराई थी. भारत लौटने के दौरान एयरलाइन के अधिकारियों ने उन्हें फ्लाइट में चढ़ने से रोक दिया. 10 मिनट की देरी को इसकी वजह बताया.

त्रेहन ने आरोप लगाया कि परिवार को भारत लौटने के लिए 1.03 लाख रुपये में टिकट खरीदना पड़ा. उन्हें विदेशी जमीन पर एक और दिन रुकना पड़ा. ज्यादा कीमत पर एक होटल में कमरा लेना पड़ा. और यह सब तक हो रहा था, जब उनके पास खर्च करने के लिए बहुत कम पैसे बचे थे.

नवरात्र के समय की घटना

विजय त्रेहन ने कहा कि अगले दिन उसी फ्लाइट से लौटते समय उन्होंने शाकाहारी भोजन का ऑर्डर दिया था. क्योंकि वे एक हिंदू परिवार से हैं और इस्कॉन के भक्त भी हैं. लेकिन जैसे ही उन्होंने पनीर सैंडविच का स्वाद चखा, उन्हें एहसास हुआ कि उसमें चिकन मिला हुआ है. त्रेहान ने आरोप लगाया कि नवरात्र के दौरान फ्लाइट अटेंडेंट द्वारा उनकी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई गई.

त्रेहन की शिकायत के बाद फोरम ने एयर एशिया को नोटिस जारी किया था. 30 दिनों में जवाब मांगा था. लेकिन 30 दिन बीत जाने के बाद भी एयरलाइन की ओर से कोई जवाब नहीं आया. फोरम ने कहा,

समय पर हवाई अड्डे पर पहुंचने और बोर्डिंग पास लेने के बाद भी परिवार को फ्लाइट में नहीं चढ़ने दिया गया. हम एयर एशिया की ओर से इसे सेवा में कमी पाते हैं. शाकाहारी व्यक्ति को मांसाहारी भोजन परोसना भी सेवा में घोर कमी है. यह न केवल धार्मिक भावनाओं को आहत करती है, बल्कि संबंधित व्यक्ति के मन में अपराध बोध पैद करती है. साथ ही उल्टी जैसी समस्या भी हो सकती है.

शिकायतकर्ता ने नए टिकटों कि बुकिंग, होटल का खर्च और खाने पर 1,19,213 रुपए खर्च किए. फोरम ने एयर एशिया को निर्देश दिया कि 1,19,213 रुपए साथ ही प्रति वर्ष 9 प्रतिशत की ब्याज से परिवार को आर्थिक हर्जाना दिया जाए. शारीरिक और मानसिक उत्पीड़न के लिए 30,000 रुपये का भुगतान किया जाए. साथ ही मुकदमेबाजी पर खर्च हुए 5,500 रुपए का भी भुगतान किया जाए.

अगर आपके साथ भी इस तरह की कोई परेशानी होती है तो आप कंज्यूमर फोरम जा सकते हैं. कई बार हमें यात्रा के दौरान इस तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है.


केरल से अकेली महिला MP राम्या हरिदास की कहानी जिन्हें राहुल गांधी ने गांधी टैलंट हंट में ढूंढा था

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.

US ने जारी किया विडियो, देखिए कैसे लादेन स्टाइल में किया गया बगदादी वाला ऑपरेशन

अमेरिका ने इस ऑपरेशन से जुड़े तीन विडियो जारी किए हैं.

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

अमेठी: पुलिस हिरासत में आरोपी की मौत, 15 पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज

मौत कैसे हुई? मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

PMC खाताधारकों ने बीजेपी नेता को घेरा, तो पुलिस ने उन्हें बचाकर निकाला

RBI के साथ मीटिंग करने पहुंचे थे.

इस विदेशी सांसद को कश्मीर आने का न्योता दिया फिर कैंसल कर दिया, वजह हैरान करने वाली है

सांसद ने ऐसी शर्त रख दी थी कि विदेशी डेलिगेशन का हिस्सा नहीं बन पाए.