Submit your post

Follow Us

ब्लैक फंगस को कैसे पहचाने और इससे कैसे निपटें, एम्स ने नई गाइडलाइन में बताया

कोरोना की दूसरी लहर के बाद लोग नई समस्या से जूझ रहे हैं. इस परेशानी का नाम है म्यूकोरमाइकोसिस (Mucormycosis). जिसे हम ब्लैक फंगस के नाम से भी जानते हैं. इससे निपटने के लिए एम्स यानी ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज़ ने एक नई गाइडलाइन जारी की है. जिसमें बताया गया है कि किन लोगों को ये फंगस अपना शिकार बना रहा है? इसकी पहचान क्या है? और इससे बचने के लिए क्या कर सकते हैं?

ब्लैक फंगस के मामले महाराष्ट्र, दिल्ली और गुजरात से आने शुरू हुए थे. मगर अब ये मध्य प्रदेश में भी फैल रहा है. इस फंगस की वजह से महाराष्ट्र में 90 लोगों की जान चली गई. वहीं राजस्थान में भी ब्लैक फंगस के करीब 100 केसेज़ पाए गए हैं. राजस्थान सरकार ने इसे महामारी तक घोषित कर दिया है. ऐसा दावा किया जा रहा है कि कोरोना से लड़ रहे मरीजों को ये अपना शिकार बना रहा है.

पहले समझिए ब्लैक फंगस है क्या

जैसा कि इसका नाम है, ये एक फंगस के कारण होता है. फंगस का नाम है म्यूकर. ये ज़्यादातर उन लोगों में हो रहा है जो डायबिटीज के मरीज़ हैं. हालांकि ये कोई नई बीमारी नहीं है, पर कोविड पेशेंट्स में ये तेज़ी से देखी जा रही है. कई डॉक्टर्स का कहना है कि ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि कोविड के इलाज के लिए दिए जा रहे स्टेरॉयड शुगर लेवल बढ़ा रहे हैं. साथ ही कुछ दवाइयों के कारण पेशेंट की इम्यूनिटी भी कम हो रही है.

लंबे समय से स्टेरॉयड लेने वाले मरीज़ों को भी ब्लैक फंगस का खतरा हो सकता है.
लंबे समय से स्टेरॉयड लेने वाले मरीज़ों को भी ब्लैक फंगस का खतरा हो सकता है.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक एम्स ने अपनी गाइडलाइन में ये भी कहा है कि जिनकी डायबटीज कंट्रोल में नहीं है, ऐसे लोगों को ब्लैक फंगस तेज़ी से अपना शिकार बना रहा है. जिन लोगों की इम्यूनिटी कम है या जिन्हें पहले से कुछ बीमारियां हैं, वो इसके ज़्यादा शिकार हो रहे हैं. इस फंगस के कण हमारे शरीर में सांस के द्वारा घुसते हैं. जिन लोगों की इम्यूनिटी मज़बूत है, उन लोगों के शरीर में एक इम्यून रिएक्शन शुरू होता है. जिसकी वजह से हमारे शरीर के बॉडीगार्ड सेल्स एक्टिव हो जाते हैं और इस फंगस को खत्म कर देते हैं.

किन्हें हैं ब्लैक फंगस का सबसे ज़्यादा खतरा

1. एम्स की गाइडलाइन के मुताबिक जिन लोगों का मधुमेह यानी डायबटीज कंट्रोल में नहीं है, हाई स्टेरॉयड की खुराक लेने वाले या टोसिलिजुमैब इंजेक्शन लेने वाले पेशेंट को ब्लैक फंगस या म्यूकोरमाइकोसिस होने का खतरा सबसे ज़्यादा होता है.

2. जो लोग कैंसर का उपचार करवा रहे या जिन्हें कोई पुरानी और दुर्लब बीमारी है उन्हें भी ब्लैक फंगस का होने का खतरा रहता है.

3. हाई डोज की स्टेरॉयड या लंबे समय से स्टेरॉयड लेने वाले मरीज़ों को भी ब्लैक फंगस का खतरा हो सकता है.

4. कुछ कोविड केसेज़ में भी ब्लैक फंगस को देखा गया है. जैसे, जो मरीज़ ऑक्सीजन के सपोर्ट पर हैं या वेंटीलेटर पर हैं उन्हें भी ब्लैक फंगस अपना शिकार बना रहा है.

कैसे पहचाने कि ब्लैक फंगस का शिकार हो गए हैं

एम्स की गाइडलाइन के अनुसार कुछ लक्षणों पर ध्यान देकर हम इस बात का पता लगा सकते हैं कि ब्लैक फंगस का शिकार हो गए हैं.

1. नाक से अब-नॉर्मल ब्लैक डिसचार्ज या खून आना.

2. नाक का बंद हो जाना, सिर दर्द होना और आंखों में असहनीय दर्द. आंखों के आस-पास सूजन, डबल विजन यानी सबकुछ दो-दो दिखाई देना. आंखों का लाल होना. कई मामलों में आंखों से दिखाई नहीं देना. आंख बंद करने में दिक्कत होना, आंख खोलने में दिक्कत होना.

3. चेहरे का सुन्न पड़ जाना या चेहरे पर झुनझुनी होना.

4. किसी चीज़ को चबाने या खाने में तकलीफ होना. मुंह खोलने में तकलीफ होना.

अपनी डायबटीज़ पर कंट्रोल करें. इसे हर हाल में नियंत्रण में रखें.
अपनी डायबटीज़ पर कंट्रोल करें. इसे हर हाल में नियंत्रण में रखें.

5. चेहरे का सूजना, नाक, गाल, आंख के आस-पास का एरिया सख्त हो जाना. छूने पर दर्द होना.

6. दांतों का झड़ना. मुंह के अंदर काला पड़ना और सूजन आना.

क्या किया जाना चाहिए

एम्स की जारी की गई नई गाइडलाइंस के मुताबिक ब्लैक फंगस से बचने के लिए या निपटने के लिए इन चीज़ों को करना चाहिए.

1. जल्द से जल्द डॉक्टर के संपर्क में आएं. आंखों के स्पेशलिस्ट या मरीज़ का इलाज कर रहे डॉक्टर से फौरन सलाह लें.

2. नियमत रूप से इसका उपचार करें. अपनी डायबटीज पर कंट्रोल करें. इसे हर हाल में नियंत्रण में रखें.

3. रेग्युलर मेडिकेशन और डॉक्टरों की परामर्श के बाद ही कोई भी मेडिकल ट्रीटमेंट लें.

4. स्टेरॉयड या एंटीबायोटिक्स या एंटिफंगल दवाओं के साथ किसी भी दवा को बिना डॉक्टर के रेकमेंडेशन के ना लें.

म्यूकोरमाइकोसिस के लक्षणों को बिल्कुल इग्नोर न करें. तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें. इसका सही समय पर इलाज शुरू होना बहुत ज़रूरी है.


वीडियो: क्या है नीडल फोबिया जिसमें लोग इंजेक्शन या सुई से डरते हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.