Submit your post

Follow Us

दुनियाभर में ट्रेंड होने के बाद SSC ने जारी की रिजल्ट की संभावित तारीख

1 सितंबर 2020. SSC, रेलवे और दूसरी भर्ती परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों ने ट्विटर पर धावा बोला हुआ था. देशभर के छात्र अलग-अलग भर्तियों की अटकी परीक्षाओं को लेकर हल्ला बोले हुए थे. कोरोना काल में नई भर्तियां तो आने से रहीं. इन छात्रों की मांग थी कि ऐसे में जो वैकेंसी तीन-तीन साल से अटकी पड़ी हैं, कम से कम उन्हें ही पूरा कराया जाए. अब SSC ने छात्रों की सुध ली है. वैसी कुछ परीक्षाएं, जिनका रिजल्ट महीनों से अटका पड़ा है, उनको जारी करने की संभावित तारीख बताई गई है.

क्या है पूरा मामला

अपनी मांग को लेकर #SpeakUpForSSCRailwayStudents पर छात्र ट्वीट करते रहे. और इतना ट्वीट किया कि ये इंडिया में तो ट्रेंड हुआ ही, दुनियाभर की टॉप 3 ट्रेंडिंग में भी आ गया.

#SpeakUpForSSCRailway पर 3 मिलियन ट्वीट हो चुके हैं.
#SpeakUpForSSCRailway पर 3 मिलियन ट्वीट हो चुके हैं.

कहानी शुरू हुई ‘मन की बात’ से. 30 अगस्त को पीएम नरेंद्र मोदी ने देशवासियों के साथ अपने मन की बात की. जैसा कि वे हर महीने करते हैं. लेकिन इस ‘मन की बात’ में देश के युवा अपने लिए कुछ खोज रहे थे, जो उन्हें नहीं मिला. छात्र चाहते थे कि पीएम NEET JEE के मुद्दे पर कुछ बोलें. छात्र चाहते थे कि रोजगार और नौकरियों की बात भी हो, लेकिन ऐसा हुआ नहीं. प्रोग्राम खत्म हुआ और बीजेपी के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर अपलोड हुआ. इसके बाद छात्रों ने अपने मन की बात सरकार तक पहुंचानी शुरू की. वीडियो को डिसलाइक करना शुरू कर दिया. अब तक पीएम के वीडियो पर 10 लाख से ज्यादा डिसलाइक हो चुके हैं.

मन की बात पर अब तक 1 मिलियन डिसलाइक आ चुके हैं.
मन की बात पर अब तक 1 मिलियन डिसलाइक आ चुके हैं.

लेकिन डिसलाइक करने वालों में केवल NEET JEE की परीक्षा का विरोध कर रहे छात्र नहीं शामिल थे. इसमें शामिल थे महीनों, बरसों से सरकारी भर्ती आयोगों से रिजल्ट जारी करने, परीक्षा कराने, नियुक्ति देने की मांग कर रहे लाखों स्टूडेंट. 31 अगस्त को छात्रों ने ट्विटर पर अटकी पड़ी भर्तियों को पूरा करने की मांग करना शुरू कर दिया. यही वजह है कि थोड़ी ही देर में #आ_रही_है_बेरोजगारो_की_सवारी और #SpeakUpForSSCRailwaysStudents नेशनल ट्रेंड बन गया.

अलग-अलग राज्यों के अभ्यर्थी इन हैशटैग के साथ अपने राज्य की अटकी पड़ी भर्तियों को पूरी करने की मांग के साथ ट्वीट करने लगे. कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दलों ने भी इस मौके का फायदा उठाया और सरकार पर भर्तियों के लटकाने का ठीकरा फोड़ दिया.

अब SSC ने क्या किया है

#SpeakUpForSSCRailwayStudents पर इतना ट्वीट हुआ कि ये दुनिया के टॉप ट्रेंड में तीसरे स्थान पर आ गया. लेकिन सरकार की ओर से इस पर कोई कमेंट नहीं आया. SSC ने जरूर एक काम किया. जिन परीक्षाओं का रिजल्ट महीनों से अटका पड़ा है, उनको जारी करने की संभावित तारीख जरूर जारी कर दी.

SSC ने CGL 2018 का रिजल्ट 4 अक्टूबर, MTS 2019 का रिजल्ट 31 अक्टूबर और जूनियर इंजीनियर का रिजल्ट 21 सितंबर, 2020 को जारी करने की घोषणा की है. लेकिन ये तारीख भी संभावित ही है, इसलिए छात्रों का गुस्सा ठंडा नहीं हुआ है.


ये भी पढ़ें- 

SSC रेलवे की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों ने ट्विटर पर मोर्चा क्यों खोला हुआ है?

BPSC AE 2017: मेन्स का रिजल्ट मांग रहे छात्रों पर बरसीं लाठियां

ग्राम विकास अधिकारी भर्ती 2018: सालभर में तीसरी जांच, लेकिन दोषियों का पता नहीं

छत्तीसगढ़ सब-इंस्पेक्टर भर्ती: 655 पदों के लिए फॉर्म भरवाकर भूल गई सरकार!

CGL 2018 का रिजल्ट क्यों नहीं जारी कर रहा है SSC?

राजस्थान पंचायती राज LDC में सेलेक्ट हुए सात साल हो गए, अब तक जॉइनिंग नहीं हुई


NEET पर अड़ी मोदी सरकार भर्ती परीक्षाओं को क्यों नहीं पूरा कराना चाहती?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए पॉज़िटिव न्यूज़ आई है

बड़े दिनों के बाद.

सेरो सर्वे की मानें, तो ठीक होने के बाद दोबारा हो सकता है कोरोना!

208 में से 97 लोगों में नहीं मिली एंटीबॉडी.

अवमानना वाले मामले में सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण को क्या सज़ा दी है?

प्रशांत भूषण के दो ट्वीट का मुद्दा था.

अनलॉक-4 की गाइडलाइंस जारी, मेट्रो चलेगी, जानिए स्कूल खोलने को लेकर क्या कहा गया है

धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों को लेकर क्या छूट मिली है?

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.