Submit your post

Follow Us

PhD-मास्टर्स वालों से ज्यादा काबिल हैं तालिबानी? नए अफगानी उच्च शिक्षा मंत्री तो यही मानते हैं

अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) सरकार का ऐलान हो चुका है. इसके बाद वही सब शुरू होता दिख रहा है, जिसका अंदेशा जताया जा रहा था. शिक्षा को लेकर तालिबान की सोच क्या है, ये उनके नए उच्च शिक्षा मंत्री के बयान से जाहिर है. तालिबान सरकार में शेख अब्दुल बकी हक्कानी को उच्च शिक्षा मंत्री बनाया गया है. उन्होंने पीएचडी और मास्टर्स डिग्री की बेकार बता दिया है.

अब्दुल बकी हक्कानी ने कहा है कि

“पीएचडी या मास्टर डिग्री की कोई वैल्यू नहीं है. मुल्लाओं और सत्ता में शामिल तालिबानी नेताओं के पास भी ये डिग्रियां नहीं हैं. यहां तक कि उनके पास तो हाईस्कूल की डिग्री भी नहीं है, लेकिन फिर भी वे महान हैं.”

महिला और पुरुष स्टूडेंट्स के बीच पर्दा

तालिबान ने वादे बड़े-बड़े किए थे लेकिन 20 साल बाद भी जमीनी हकीकत में कुछ ज्यादा बदलाव नहीं दिख रहा है. हाल ही में तालिबान ने अफगानिस्तान की प्राइवेट यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाली लड़कियों के लिए फरमान जारी किया था. कहा था कि उन्हें अबाया बागे और नकाब पहनना होगा. अबाया बागे में महिलाओं का पूरा शरीर ढका रहता है जबकि नकाब के जरिए चेहरे को ढका जाता है.

स्थानीय समाचार एजेंसी के मुताबिक, अफगानिस्तान में विश्वविद्यालय की परीक्षाएं शुरू हो गई हैं. लेकिन तालिबान शासन में लड़के और लड़कियों के बैठने की अलग-अलग व्यवस्था है. आमज न्यूज ने हाल में ट्विटर पर एक तस्वीर पोस्ट की थी, जिसमें दिखा था कि एक ही क्लास में लड़के और लड़कियां दोनों बैठे हैं, लेकिन उनके बीच में पर्दा पड़ा हुआ है.

तालिबान ने कहा, शरिया से होंगे सारे फैसले

शरिया को लेकर भी तालिबान ने अपना इरादा जाहिर कर दिया है. 7 सितंबर को तालिबान ने अपनी सरकार की घोषणा की. मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद को अफगानी पीएम बनाने का ऐलान किया. नई कैबिनेट में कई ऐसे चेहरे भी हैं, जिन्हें अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं ने ग्लोबल आतंकवादी घोषित कर रखा है. कैबिनेट के साथ ही तालिबान ने अपनी नई नीति का भी ऐलान किया. कहा कि अफगानिस्तान में अब शरिया कानून के तहत शासन चलाया जाएगा.

तालिबान ने कहा है कि बीते दो दशक से हमने जो संघर्ष किया है, उसके दो ही मकसद थे. सबसे पहले विदेशी ताकतों को देश से निकालना, और फिर अपना एक इस्लामिक सिस्टम लागू करना. भविष्य में अफगान सरकार और आम लोगों की ज़िंदगी को शरिया कानून के तहत चलाया जाएगा. तालिबान ने कहा है कि आगे माहौल ठीक होता जाएगा. ऐसे में लोगों से अपील है कि वे अफगानिस्तान ना छोड़ें. भविष्य को लेकर चिंता न करें. तालिबान ने भरोसा दिलाया कि देश के जितने भी स्कॉलर्स, प्रोफेसर, डॉक्टर और अन्य प्रोफेशनल्स हैं, उन सभी का ध्यान रखा जाएगा. हर किसी से राय ली जाएगी. उनके काम को बढ़ावा दिया जाएगा.

बता दें कि अफगानिस्तान की नई सरकार में मुल्ला मुहम्मद हसन अखुंद प्रधानमंत्री बनाए गए हैं. मुल्ला अब्दुल गनी, मौलवी अब्दुल सलाम हनफी उप-प्रधानमंत्री बने हैं. मुल्ला याकूब को रक्षा मंत्री और सिराज हक्कानी को आंतरिक मामलों का मंत्री बनाया गया है. शेर अब्बास स्टेनिकजई डिप्टी विदेश मंत्री होंगे. खैरउल्लाह खैरख्वा सूचना मंत्री और जबीउल्लाह मुजाहिद सूचना मंत्रालय में डिप्टी मंत्री की जिम्मेदारी संभालेंगे. अब्दुल हकीम को न्याय मंत्रालय सौंपा गया है.


दुनियादारी: तालिबान की आड़ में पाकिस्तान के घर में ही पनप रहा बड़ा खतरा!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अक्षय कुमार की मां का निधन

अक्षय कुमार की मां का निधन

अपने जन्मदिन से सिर्फ एक दिन पहले अक्षय को मिला गहरा सदमा.

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

नई अफगानिस्तान सरकार का लीडर यूएन की आतंकियों की लिस्ट में शामिल है.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

रायपुर पुलिस ने नंद कुमार बघेल को ब्राह्मणों पर आपत्तिजनक टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार किया.

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

पीड़ित इस वक़्त कूपर अस्पताल में भर्ती है, जहां उसकी हालत बेहद नाज़ुक है.

अक्षय कुमार की मां ICU में एडमिट, यूके से शूटिंग छोड़ वापस आए अक्षय

अक्षय कुमार की मां ICU में एडमिट, यूके से शूटिंग छोड़ वापस आए अक्षय

कई दिनों से अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया की तबीयत खराब है.

तस्वीरों में देखिए मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

तस्वीरों में देखिए मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

500 लंगर, 100 चिकित्सा शिविर, 5 हज़ार वॉलेंटियर्स.

Hurricane Ida से अमेरिका में तबाही, दिल दहलाने वाली तस्वीरें आ रही हैं

Hurricane Ida से अमेरिका में तबाही, दिल दहलाने वाली तस्वीरें आ रही हैं

न्यूयॉर्क समेत पूरे अमेरिका में अब तक 44 लोगों के मारे जाने की बात कही गई है.

तालिबान का समर्थन करने वाले भारतीय मुसलमानों को नसीरुद्दीन शाह ने तगड़ा पाठ पढ़ाया

तालिबान का समर्थन करने वाले भारतीय मुसलमानों को नसीरुद्दीन शाह ने तगड़ा पाठ पढ़ाया

सोशल मीडिया पर नसीरुद्दीन शाह का ये वीडियो वायरल है.

सिद्धार्थ शुक्ला की आखिरी सोशल मीडिया पोस्ट दिल दुखा देगी

सिद्धार्थ शुक्ला की आखिरी सोशल मीडिया पोस्ट दिल दुखा देगी

फ्रंटलाइन वारियर्स को ट्रिब्यूट देते हुए की थी सिड ने अंतिम पोस्ट.

WHO का अनुमान, कोविड-19 से यूरोप में अभी भी बहुत बड़ी संख्या में मौतें हो सकती हैं

WHO का अनुमान, कोविड-19 से यूरोप में अभी भी बहुत बड़ी संख्या में मौतें हो सकती हैं

कोरोना संक्रमण से होने वाली मौतों के मामले में यूरोप पहले ही सबसे आगे है.