Submit your post

Follow Us

16 साल की लड़की ने माता-पिता को मारने वाले तीन आतंकवादियों को मार डाला

अफ़गानिस्तान में 16 साल की लड़की क़मर गुल ने तीन तालिबानी आतंकवादियों को मार गिराया. इन आतंकवादियों ने क़मर गुल के माता-पिता को उनके घर में घुसकर गोली मार दी थी. इसके बाद गुल बाहर निकलीं और अपने पिता की बंदूक लेकर आतंकवादियों पर ताबड़तोड़ फ़ायरिंग कर दी. इससे तीन आतंकवादी वहीं मारे गए और कई आतंकवादी ज़ख़्मी हो गए.

# हुआ क्या था?

सरकारी प्रवक्ता मोहम्मद आरिफ़ अबर ने दी गार्डियन को बताया कि 17 जुलाई को रात 1 बजे क़रीब 40 तालिबानी आतंकवादी घोर प्रांत के गेरिवाह गांव में घुस आए. वो सरकार का समर्थन कर रहे परिवार पर हमला करना चाहते थे. क़मर गुल के पिता उनमें से एक थे जिन्हें आतंकवादी मारना चाहते थे. घटना की रात जब क़मर गुल के घर का दरवाज़ा खटखटाया गया तो सबसे पहले उनकी मां दरवाज़े पर गईं. हथियारबंद लोगों को देखते ही उन्होंने दरवाज़ा खोलने से मना कर दिया. इसके बाद आतंकवादियों ने क़मर गुल की मां को गोली मारी जिससे उनकी वहीं मौत हो गई. इसके बाद वो घर में घुसकर क़मर के पिता को तलाश करने लगे. पिता को खोजकर आतंकियों ने उन्हें भी मार दिया.

इसके बाद जब ये गुट गांव छोड़कर जा रहा था तब क़मर गुल अपने भाई हबीबुल्लाह के साथ बाहर निकलीं. क़मर गुल के हाथ में उनके पिता की सुरक्षा के लिए रखी गई एके 47 थी. उसने आतंकवादियों पर फ़ायरिंग शुरू कर दी. इससे तीन आतंकवादी मौक़े पर ही मारे गए.

# इसके बाद आतंकवादी वापस लौटे

हमले का बदला लेने के लिए कई तालिबान समर्थक आतंकवादी वापस लौटे. लेकिन गांव में पहले से तैनात सुरक्षा बल के जवानों ने उन्हें वापस लौटने पर मजबूर किया. अफ़गान सरकार के अधिकारी अब क़मर गुल और उसके भाई को किसी सुरक्षित जगह लेकर चले गए हैं. जहां क़मर ने बताया कि उनके माता पिता के अलावा उनका कोई दूसरा रिश्तेदार नहीं है. इसके बाद सोशल मीडिया पर क़मर गुल की ए के 47 के साथ तस्वीर वायरल हुई. लोग क़मर गुल की बहादुरी की तारीफ़ करने लगे.

# तालिबानी अक्सर हमला करते हैं

अफ़गान सरकार का समर्थन करने वाले गांवों पर तालिबान आतंकवादी मौक़ा मिलते ही हमला कर देते हैं. साल 2001 के बाद जबसे अमेरिका ने तालिबान को सत्ता से हटाया है तबसे क़रीब एक लाख अफ़गान नागरिक इन हमलों में मारे गए हैं. काबुल के साथ शांतिवार्ता के लिए तैयार होने के बाद भी तालिबानी हमले रुके नहीं हैं.


ये वीडियो भी देखें:

ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा तैयार की जा रही वैक्सीन की शीशी पर क्या लिखा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बाइक चला रहे CJI बोबड़े पर ट्वीट करने पर twitter और वकील प्रशांत भूषण पर अवमानना का केस हो गया!

सुनवाई में ट्वीट डिलीट करने की बात पर कोर्ट ने क्या कहा?

जाटों-पंजाबियों को बिना बुद्धि का बोलकर माफ़ी मांगने लगे बीजेपी के सीएम

और कौन? वही त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब.

इन तीन परिवारों के उजड़ने की कहानी से समझिए कि कोरोना से बचाव कितना ज़रूरी है

पहले मां की मौत, फिर एक के बाद एक 5 बेटों की मौत

दिशा सालियान की मौत के बाद क्या सुशांत सिंह ने डिप्रेशन की दवाइयां लेनी बंद कर दी थीं?

डॉक्टर ने पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में बताया

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन नहीं रहे

वो 85 बरस के थे, कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे.

उत्तर बिहार में हर साल क्यों आती है बाढ़, अभी कैसे हैं हालात

भौगोलिक स्थिति समझना बहुत जरूरी है.

बिहार महादलित विकास मिशन घोटाला: 'स्पोकन इंग्लिश' के नाम पर कैसे हुई हेरा-फेरी

एक निलंबित और तीन रिटायर्ड IAS अधिकारियों समेत 10 लोगों पर FIR.

राजस्थान में सियासी संकट के बीच अशोक गहलोत ने एक और मोर्चा मार लिया है!

19 जुलाई को राजस्थान की राजनीति से संबंधित ये 5 चीजें हुईं.

ये 'एयर बबल' क्या है, जिस पर हवाई यात्रा करने वाले टकटकी लगाए देख रहे हैं

भारत ने 'एयर बबल' को लेकर कदम उठाए हैं.

राजस्थान में गहलोत और पायलट की लड़ाई, वसुंधरा राजे ने पहली बार कुछ कहा है

वसुंधरा राजे पर गहलोत सरकार को बचाने का आरोप लगा था.