Submit your post

Follow Us

मां ने कहा 'ढाई साल की बच्ची को पीटकर, स्कूल ने मेरा भरोसा तोड़ा है'

299
शेयर्स

मशहूर डायरेक्टर विशाल भारद्वाज की फ़िल्म ‘मक़बूल’ में एक डायलॉग है. ‘ये घर मां की कोख जैसा महफूज़ है’. एक बड़ा अपराधी दूसरे अपराधी से कहता है कि मुझे इस घर में कोई ख़तरा नहीं. यानि किसी भी बच्चे के लिए दुनिया में सबसे सुरक्षित ठिकाना क्या है. आप समझ चुके होंगे. उसके बाद बच्चा कहां महफूज़ होता है? अपने स्कूल में. वही स्कूल जहां माता-पिता बच्चे को इस विश्वास के साथ भेजते हैं कि बच्चा वहां न सिर्फ़ महफूज़ रहेगा बल्कि स्कूल ‘दूसरे माता-पिता’ का रोल निभाएगा. लेकिन दुनिया में आपका यक़ीन हर बार क़ायम ही रहे, ऐसा होता नहीं है. बच्चों के साथ मारपीट और गंभीर लापरवाही का एक नया मामला सामने आया है गुरुग्राम से. बात सामने आई एक फ़ेसबुक पोस्ट से. पोस्ट किया है निकिता अग्रवाल ने. उनका कहना है कि उनकी बच्ची को इंसाफ़ चाहिए.

# हुआ क्या है

इस फ़ेसबुक पोस्ट में दावा किया गया है कि, गुरुग्राम के सेक्टर 51 में एक स्कूल है. Little Gems international school. यहां उन बच्चों का भी ध्यान रखा जाता है जिनके पैरेंट्स वर्किंग होते हैं यानि दोनों लोग सुबह से शाम तक दफ़्तर में रहते हैं. कहने को इस तरह के स्कूल को ‘प्ले स्कूल’ भी कहा जाता है. तो ऐसे ही एक कामकाजी पैरेंट्स हैं निकिता अग्रवाल और शौर्य अग्रवाल. दोनों की एक बच्ची है. दोनों सुबह से शाम तक अपने दफ़्तर में रहते हैं. ऐसे में इनकी ढाई साल की बच्ची गुरुग्राम सेक्टर 51 के इसी स्कूल के जिम्मे है. बच्ची के खाने पीने, सोने और बाकी देखभाल की ज़िम्मेदारी स्कूल लेता है. ऐसे कई बच्चे इस स्कूल में भर्ती हैं.

# लेकिन ऐसे निभाई जाती है ज़िम्मेदारी

निकिता अग्रवाल कहती हैं कि, एक दिन बच्ची ने उन्हें बताया कि उसे स्कूल में पीटा गया है. मां हैरान रह गई. जिस स्कूल पर अपना सारा भरोसा जताया उससे ये उम्मीद तो क़तई नहीं की जा सकती. मां और पिता बच्ची को लेकर स्कूल पहुंचे. और शिकायत दर्ज कराई. स्कूल वालों ने पहले तो ना नुकुर की, कहा ‘हम पर भरोसा रखें, ये बच्ची का दूसरा घर है’. लेकिन मां को अपनी बच्ची पर ज़्यादा भरोसा था. CCTV कैमरे की फुटेज जांचने की बात कही. स्कूल ने CCTV दिखाया तो मां और स्कूल प्रशासन दोनों हैरान रह गए. कैमरे में साफ़ दिख रहा था कि उस दिन ड्यूटी पर जो महिला थी उसने बच्ची को पीटा. सिर्फ़ इसलिए क्योंकि बच्ची ने महिला के सुलाने पर सोने से मना कर दिया. बच्ची को जब नींद आएगी तभी तो सोएगी. लेकिन बच्चों को सुलाकर छुट्टी पाने की फ़िराक में महिला ने बच्ची को घसीटा और तमाचा जड़ दिया.

# अब शुरू होती है असली कहानी

अब तक स्कूल के एक कर्मचारी की लापरवाही सामने आ चुकी थी. स्कूल प्रशासन भी हैरान था. लेकिन बच्ची के माता पिता का भरोसा वापस आता, इतनी कार्रवाई की नहीं गई. बात यहीं से बिगड़ गई. स्कूल और पैरेंट्स में बतकही हो गई. पैरेंट्स चाहते थे कि ड्यूटी पर मौजूद महिला को तत्काल नौकरी से निकाला जाए. स्कूल प्रशासन ने मानते मानते बात मान ली.

# लेकिन हुआ कुछ नहीं

मां निकिता तब और हैरान रह गई जब अगले दिन वही महिला वापस बच्ची को स्कूल ले जाने आई. मां ने बच्ची को साथ भेजने से मना कर दिया. और स्कूल गई. शिकायत वापस करने पर स्कूल प्रशासन ने सुनने से ही मना कर दिया. तब माता पिता ने कहा कि हमें सीसीटीवी की फुटेज दो. स्कूल ने मना कर दिया. और सिर्फ़ मना ही नहीं किया बल्कि पिता शौर्य अग्रवाल का कहना है कि कैमरे की फुटेज से छेड़छाड़ भी की गई.

# फिर आई पुलिस की बारी

अब पैरेंट्स पहुंचे पुलिस के पास. और शिकायत दर्ज करवाई. स्कूल प्रशासन भी आपा धापी में थाने पहुंचा. और बच्ची के माता पिता के खिलाफ़  शिकायत दर्ज करा दी. स्कूल का कहना था कि बच्ची के माता पिता जबरन स्कूल में घुस आए. और स्टाफ़ के साथ बद-तमीज़ी की. अब दोनों पक्ष पुलिस के आमने-सामने हैं.

# क्या कहना है स्कूल का

हमारी बात Little Gems international school के अधिकारी सचिन ढींगरा से हुई. उन्होंने बताया कि, एक अंतर्राष्ट्रीय स्कूल होने के नाते हम बच्चों को लेकर बहुत ज़्यादा सचेत रहते हैं. हमने पुलिस को सीसीटीवी फुटेज दिखाई है और उसमें बच्ची के साथ किसी तरह का कोई बुरा बर्ताव नहीं किया गया है. जो कोई भी देखना चाहे हम सीसीटीवी फुटेज दिखा सकते हैं. हमने फुटेज में कोई गड़बड़ नहीं की है.

बहरहाल अब मामला क़ानून के हाथ में है. दोनों पक्ष अपनी बात रखेंगे और जो फैसला होगा वो होगा. लेकिन एक प्ले स्कूल को इतना संवेदनशील तो होना ही चाहिए कि बच्चों के माता पिता को शिकायत का कभी कोई मौक़ा मिले ही न. आख़िर बच्चा अपनी मां की गोद के बाद सबसे ज़्यादा अपने ‘दूसरे घर’ में ख़ुद को सुरक्षित पाता है. स्कूल इसीलिए बनाए गए हैं. इसका हमेशा ख्याल रखा जाना चाहिए.


वीडियो देखें:

जिस आतंकी को कांधार हाईजैक के बदले छोड़ा, उसी के संगठन ने अंनंतनाग में सीआरपीएफ पर हमला किया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

40 साल बाद हेमा मालिनी ने बताया कि धर्मेंद्र से शादी के दौरान उन्हें किस बात से तकलीफ थी

पॉलिटिक्स पर तो पहले भी बोलती रही हैं, लेकिन अबकी बात कुछ अलग थी. कुछ पर्सनल थी.

अच्छा खेलने वाले खिलाड़ियों को बीसीसीआई अलग से ये इनाम दे रही है

इस बंपर योजना का कुछ खिलाड़ियों ने लाभ भी उठाया है.

BSP के नेताओं के मुंह पर कालिख पोती, जूतों की माला पहनाई और गधे पर घुमाया

ऐसा करने वाले कौन लोग थे?

BCCI प्रेसिडेंट बनने के बाद गांगुली ने क्या कहा है?

दादा ने धोनी को लेकर बहुत बड़ी बात कही है.

यूपी पुलिस से आंसू गैस के गोले भी नहीं चले, यहां तो मुंह से ठांय-ठांय भी काम नहीं आएगा

यूपी पुलिस का एक और वीडियो वायरल हो रहा है.

पीएम मोदी को बम से उड़ाना चाहती है ये पाकिस्तानी सिंगर

खुद को कश्मीर की बेटी बताती है. और भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी को हिटलर.

पता चल गया कि कमलेश तिवारी की हत्या कैसे की गयी थी

पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट में नए खुलासे हुए हैं.

कमलेश तिवारी की मां, पत्नी और बेटा UP पुलिस पर भड़क गए

पहले पीएम मोदी का नाम सुनकर भी भड़की थीं.

युवराज और हरभजन सिंह को इत्ता तगड़ा गुस्सा आया कि पूछो मत!

लेकिन गुस्सा आया क्यों?

आखिरकार पकड़ लिए गए कमलेश तिवारी के हत्यारोपी अशफाक और मोइनुद्दीन

गुजरात एटीएस ने गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से की गिरफ्तारी, 2.5 लाख रुपये का था इनाम.