Submit your post

Follow Us

मां ने कहा 'ढाई साल की बच्ची को पीटकर, स्कूल ने मेरा भरोसा तोड़ा है'

299
शेयर्स

मशहूर डायरेक्टर विशाल भारद्वाज की फ़िल्म ‘मक़बूल’ में एक डायलॉग है. ‘ये घर मां की कोख जैसा महफूज़ है’. एक बड़ा अपराधी दूसरे अपराधी से कहता है कि मुझे इस घर में कोई ख़तरा नहीं. यानि किसी भी बच्चे के लिए दुनिया में सबसे सुरक्षित ठिकाना क्या है. आप समझ चुके होंगे. उसके बाद बच्चा कहां महफूज़ होता है? अपने स्कूल में. वही स्कूल जहां माता-पिता बच्चे को इस विश्वास के साथ भेजते हैं कि बच्चा वहां न सिर्फ़ महफूज़ रहेगा बल्कि स्कूल ‘दूसरे माता-पिता’ का रोल निभाएगा. लेकिन दुनिया में आपका यक़ीन हर बार क़ायम ही रहे, ऐसा होता नहीं है. बच्चों के साथ मारपीट और गंभीर लापरवाही का एक नया मामला सामने आया है गुरुग्राम से. बात सामने आई एक फ़ेसबुक पोस्ट से. पोस्ट किया है निकिता अग्रवाल ने. उनका कहना है कि उनकी बच्ची को इंसाफ़ चाहिए.

# हुआ क्या है

इस फ़ेसबुक पोस्ट में दावा किया गया है कि, गुरुग्राम के सेक्टर 51 में एक स्कूल है. Little Gems international school. यहां उन बच्चों का भी ध्यान रखा जाता है जिनके पैरेंट्स वर्किंग होते हैं यानि दोनों लोग सुबह से शाम तक दफ़्तर में रहते हैं. कहने को इस तरह के स्कूल को ‘प्ले स्कूल’ भी कहा जाता है. तो ऐसे ही एक कामकाजी पैरेंट्स हैं निकिता अग्रवाल और शौर्य अग्रवाल. दोनों की एक बच्ची है. दोनों सुबह से शाम तक अपने दफ़्तर में रहते हैं. ऐसे में इनकी ढाई साल की बच्ची गुरुग्राम सेक्टर 51 के इसी स्कूल के जिम्मे है. बच्ची के खाने पीने, सोने और बाकी देखभाल की ज़िम्मेदारी स्कूल लेता है. ऐसे कई बच्चे इस स्कूल में भर्ती हैं.

# लेकिन ऐसे निभाई जाती है ज़िम्मेदारी

निकिता अग्रवाल कहती हैं कि, एक दिन बच्ची ने उन्हें बताया कि उसे स्कूल में पीटा गया है. मां हैरान रह गई. जिस स्कूल पर अपना सारा भरोसा जताया उससे ये उम्मीद तो क़तई नहीं की जा सकती. मां और पिता बच्ची को लेकर स्कूल पहुंचे. और शिकायत दर्ज कराई. स्कूल वालों ने पहले तो ना नुकुर की, कहा ‘हम पर भरोसा रखें, ये बच्ची का दूसरा घर है’. लेकिन मां को अपनी बच्ची पर ज़्यादा भरोसा था. CCTV कैमरे की फुटेज जांचने की बात कही. स्कूल ने CCTV दिखाया तो मां और स्कूल प्रशासन दोनों हैरान रह गए. कैमरे में साफ़ दिख रहा था कि उस दिन ड्यूटी पर जो महिला थी उसने बच्ची को पीटा. सिर्फ़ इसलिए क्योंकि बच्ची ने महिला के सुलाने पर सोने से मना कर दिया. बच्ची को जब नींद आएगी तभी तो सोएगी. लेकिन बच्चों को सुलाकर छुट्टी पाने की फ़िराक में महिला ने बच्ची को घसीटा और तमाचा जड़ दिया.

# अब शुरू होती है असली कहानी

अब तक स्कूल के एक कर्मचारी की लापरवाही सामने आ चुकी थी. स्कूल प्रशासन भी हैरान था. लेकिन बच्ची के माता पिता का भरोसा वापस आता, इतनी कार्रवाई की नहीं गई. बात यहीं से बिगड़ गई. स्कूल और पैरेंट्स में बतकही हो गई. पैरेंट्स चाहते थे कि ड्यूटी पर मौजूद महिला को तत्काल नौकरी से निकाला जाए. स्कूल प्रशासन ने मानते मानते बात मान ली.

# लेकिन हुआ कुछ नहीं

मां निकिता तब और हैरान रह गई जब अगले दिन वही महिला वापस बच्ची को स्कूल ले जाने आई. मां ने बच्ची को साथ भेजने से मना कर दिया. और स्कूल गई. शिकायत वापस करने पर स्कूल प्रशासन ने सुनने से ही मना कर दिया. तब माता पिता ने कहा कि हमें सीसीटीवी की फुटेज दो. स्कूल ने मना कर दिया. और सिर्फ़ मना ही नहीं किया बल्कि पिता शौर्य अग्रवाल का कहना है कि कैमरे की फुटेज से छेड़छाड़ भी की गई.

# फिर आई पुलिस की बारी

अब पैरेंट्स पहुंचे पुलिस के पास. और शिकायत दर्ज करवाई. स्कूल प्रशासन भी आपा धापी में थाने पहुंचा. और बच्ची के माता पिता के खिलाफ़  शिकायत दर्ज करा दी. स्कूल का कहना था कि बच्ची के माता पिता जबरन स्कूल में घुस आए. और स्टाफ़ के साथ बद-तमीज़ी की. अब दोनों पक्ष पुलिस के आमने-सामने हैं.

# क्या कहना है स्कूल का

हमारी बात Little Gems international school के अधिकारी सचिन ढींगरा से हुई. उन्होंने बताया कि, एक अंतर्राष्ट्रीय स्कूल होने के नाते हम बच्चों को लेकर बहुत ज़्यादा सचेत रहते हैं. हमने पुलिस को सीसीटीवी फुटेज दिखाई है और उसमें बच्ची के साथ किसी तरह का कोई बुरा बर्ताव नहीं किया गया है. जो कोई भी देखना चाहे हम सीसीटीवी फुटेज दिखा सकते हैं. हमने फुटेज में कोई गड़बड़ नहीं की है.

बहरहाल अब मामला क़ानून के हाथ में है. दोनों पक्ष अपनी बात रखेंगे और जो फैसला होगा वो होगा. लेकिन एक प्ले स्कूल को इतना संवेदनशील तो होना ही चाहिए कि बच्चों के माता पिता को शिकायत का कभी कोई मौक़ा मिले ही न. आख़िर बच्चा अपनी मां की गोद के बाद सबसे ज़्यादा अपने ‘दूसरे घर’ में ख़ुद को सुरक्षित पाता है. स्कूल इसीलिए बनाए गए हैं. इसका हमेशा ख्याल रखा जाना चाहिए.


वीडियो देखें:

जिस आतंकी को कांधार हाईजैक के बदले छोड़ा, उसी के संगठन ने अंनंतनाग में सीआरपीएफ पर हमला किया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
A two and half year girl slapped and misbehaved in play school gurugram, parents complained Police against school

क्या चल रहा है?

क्या वेस्ट इंडीज़ के साथ मैच में गलत आउट दिए गए रोहित शर्मा?

क्रिकेट की दुनिया दो फाड़ हुई पड़ी है.

पहले शॉक फिर मुस्कान देने वाली मुंबई की इस वीडियो में पूरी ट्रेन गुज़र गई, बंदे को खरोंच न आई

सब उनके लिए चिंतित थे, पर आदमी ने दाएं-बाएं देखा और ऐसे चल दिया मानो ये बहुत नॉर्मल हो.

जानिए बैट से पीटने वाले आकाश के केस की सुनवाई से जज का इंकार क्यूं, जिससे उन्हें जेल में रहना पड़ा

IND vs WI मैच में बल्ले के औसत प्रदर्शन के बावज़ूद उदीयमान बल्लेबाज आकाश को कोर्ट ने रिहा न किया.

क्या है आदित्य पंचोली के खिलाफ रेप का मामला और उन्होंने इस पर क्या कहा है?

आदित्य पर रेप, जबरन वसूली, मारपीट और जहर देकर मारने की कोशिश मामले में एफआईआर दर्ज.

'दबंग 3' में विनोद खन्ना की जगह जिन्हें लिया गया है, वो देखकर विनोद ऊपर से ही मुस्कुरा रहे होंगे

'दबंग 2' की रिलीज़ के पांच साल बाद विनोद खन्ना का निधन हो गया था.

जितना टाइम धोनी की स्टंपिंग के लिए था उतने में धोनी पूरी टीम निपटा देते!

धोनी ने नॉट आउट 56 रन बनाए.

महाराजा रणजीत सिंह, जिनकी मूर्ति पाकिस्तानी लाहौर में लगा रहे हैं

सिख साम्राज्य के संस्थापक थे महाराजा रणजीत सिंह.

मेट्रो में फ्री यात्रा: केंद्र कह रहा प्रस्ताव भेजा ही नहीं, केजरीवाल कह रहे कबका भेज दिया

फिर से लड़ाई शुरू हो गई है.

MG Hector: आपकी बात से चलने वाली कार इंडिया में लॉन्च, कीमत सुनकर खुश हो जाएंगे

अगर कहीं हादसा हुआ तो खुद कॉल करके मदद बुला लेगी.

जिसके विरोध में आकाश विजयवर्गीय ने बल्ले से अधिकारी को पीटा, वो आदेश शिवराज के वक्त का था

नगर निगम कर्मचारियों को पहले भी कई बार धमका चुके हैं साहिबजादे.