Submit your post

Follow Us

राकेश टिकैत बोले-महापंचायत में किसानों को जाने से कोई नहीं रोक सकता

5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में किसान महापंचायत का ऐलान किया गया है. पुलिस प्रशासन हाई अलर्ट पर है. पश्चिमी यूपी के जिलों में सुरक्षा के भारी बंदोबस्त किए गए हैं. एडीजी राजीव सभरवाल और आईजी प्रवीण कुमार पूरी व्यवस्था की निगरानी कर रहे हैं. इस बीच किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों को महापंचायत में जाने से कोई नहीं रोक सकता. अगर रोका जाएगा तो किसान इस रोक को तोड़कर महापंचायत में पहुंचेंगे.

आजतक की एक रिपोर्ट के मुताबिक मुजफ्फनगर में रह चुके अफसरों को भी बुलाया गया है. साथ ही सहारनपुर, शामली और बागपत में विशेष IPS तैनात किए गए हैं. यहां आकाश कुल्हरी, अनुराग वत्स, कुंवर अनुपम, नरेन्द्र कुमार सिंह, सिद्धार्थ शंकर मीणा जैसे अफसरों की तैनाती की गई है.एसपी संजीव वाजपेई, एसपी शिवराम यादव की तैनाती की गई है. साथ ही सीओ चमन चावड़ा, अरुण कुमार, पीपी सिंह भी तैनात किए गए हैं. अपर पुलिस उपायुक्त (ट्रैफिक) रईस अख्तर भी पंचायत के दौरान मुजफ्फरनगर में मौजूद रहेंगे. किसानों की महापंचायत के मद्देनजर मुजफ्फरनगर में कई जिलों की पुलिस बुलाई गई है.

राकेश टिकैत ने क्या कहा?

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि महापंचायत में शामिल होने के लिए तमाम जगहों से किसान मुजफ्फरनगर पहुंचेंगे. उन्होंने कहा,

“महापंचायत में शामिल होने वाले किसानों की संख्या बता पाना मुश्किल है. लेकिन मैं लोगों से वादा करता हूं कि ये संख्या बहुत बड़ी होगी. किसानों को महापंचायत जाने से कोई नहीं रोक सकता. यह सरकारी कार्यक्रम नहीं है. अगर वे रोकेंगे तो हम तोड़कर जाएंगे.”

आजतक के साथ बातचीत करते हुए टिकैत ने कहा कि वॉलेंटियर्स को जिम्मेदारी सौंपी गई है, इमरजेंसी नंबर शेयर किया गया है. जो किसान पहुंच चुके हैं उनके लिए व्यवस्थाएं की गई हैं. उन्होंने कहा कि आंदोलन वाली जगहों से भी किसान मुजफ्फरनगर जाएंगे. लेकिन ज्यादातर किसान गांवों से आ रहे हैं.

राकेश टिकैत ने कहा कि आस-पास 12-14 स्क्रीनें भी लगाई गई हैं ताकि भीड़ के कारण जो लोग महापंचायत तक नहीं पहुंच पाएं वो भी किसानों की बात सुन सकें. भीड़ को कोई परेशानी ना हो इसके लिए 4-4 मैदानों की भी व्यवस्था की गई है.

चुनावों से कोई मतलब नहीं: टिकैत

आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक राकेश टिकैत ने कहा कि इस महापंचायत का चुनावों से कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा,

“चुनाव 6 महीने बाद हैं. आज यूपी में किसानों को परेशानी हो रही है. पिछले 5 सालों से यूपी में गन्ने के दाम नहीं बढ़े हैं, लेकिन बिजली के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. केंद्र सरकार ने गन्ने के दाम में 5 रुपये प्रति किलो की बढ़ोतरी की है. क्या आप किसानों का अपमान कर रहे हैं. यह मिशन यूपी है. हम उत्तर प्रदेश में 18 महापंचायत करेंगे.”

मुजफ्फरनगर महापंचायत में भाकियू ने झोंकी ताकत

संयुक्त किसान मोर्चा और भारतीय किसान यूनियन, 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में होने वाली महापंचायत को ऐतिहासिक बनाना चाहते हैं. इसके लिए किसानों के कई संगठनों को पंचायत में बुलाया गया है. साथ ही अन्य सामाजिक संगठनों को भी बुलाया जा रहा है. यूपी के अलावा अन्य कई राज्यों से भी इस महापंचायत में किसान पहुंचेंगे. नरेश टिकैत के नेतृत्व वाली बालियान खाप के अलावा भी तमाम खापें इस पंचायत के इंतजामों में लगी हैं.


वीडियो- प्रश्न प्रदेश: मुजफ्फरनगर किसान महापंचायत से पहले योगी के इस दांव से टिकैत का खेल खराब होगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?