Submit your post

Follow Us

हद से ज्यादा बिकने वाली स्मार्टफोन सीरीज़ को बंद क्यों कर सकती है शाओमी?

शाओमी के रेडमी फ़ोन के बीच कम्पनी की Mi-A सीरीज़ कुछ अलग से ही चमकती है. वजह है इसका स्टॉक ऐंड्रॉयड एक्सपीरियंस जो किसी भी तरह के एक्स्ट्रा फ़ीचर, कस्टमाइज़ेशन या फ़ालतू के ऐप्स के साथ नहीं आता है. मगर जानकारों का मानना है कि शायद शाओमी ऐंड्रॉयड वन (Android One) प्रोग्राम पर छुरी चलाकर Mi-A सीरीज़ को दफ़ना देगा.

ऐंड्रॉयड वन क्या है?
गूगल का वो प्रोग्राम, जो स्मार्टफ़ोन को ना सिर्फ़ प्योर ऐंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलाता है, बल्कि दो साल तक OS अपडेट और तीन साल तक सिक्यॉरिटी अपडेट का वादा भी करता है.

Mi-A सिरीज़ की पॉप्युलैरिटी
ऐंड्रॉयड वन प्रोग्राम की शुरुआत 2014 में हुई थी. शाओमी ने अपना पहला ऐंड्रॉयड वन वाला फ़ोन Mi A1 सितम्बर 2017 में निकाला था. शाओमी का हार्डवेयर और गूगल का प्योर ऐंड्रॉयड एक्सपीरियंस लोगों को बहुत पसंद आया. ख़ास तौर पर वेस्टर्न मार्केट में. फ़ोन की पॉप्युलैरिटी सेल के नम्बर में भी देखने को मिली.

कनालिस की रिपोर्ट के मुताबिक़, Mi A1 2017 में दुनिया में सबसे ज़्यादा बिकने वाला ऐंड्रॉयड वन स्मार्टफ़ोन रहा. यही हाल अगले साल, यानी 2018 में आए हुए Mi A2 का रहा. ये 2018 में दुनिया का सबसे ज़्यादा बिकने वाला ऐंड्रॉयड वन फ़ोन रहा. पिछले साल अगस्त में Mi A3 के लॉन्च के टाइम पर शाओमी ने बताया कि Mi A1 और Mi A2 को मिलाकर दुनिया भर में 1 करोड़ से ज़्यादा Mi-A सीरीज़ के फ़ोन बिके हैं.

Mi A4 आएगा या नहीं?
जर्मन वेबसाइट स्मार्टड्रॉइड के फ़ाउंडर और टेक एनालिस्ट डैनी फ़िशर ने लिखा है कि शाओमी अपने ऐंड्रॉयड वन प्रोग्राम को ख़त्म कर सकता है. फ़िशर ने ये भी लिखा कि अगर ऐसा होता है तो Mi A4 नहीं आएगा और Mi-A सीरीज़ ख़त्म हो जाएगी. फ़िलहाल इस बात को शाओमी ने कन्फ़र्म नहीं किया है. लेकिन हालात देख कर यही लगता है कि शाओमी का ऐंड्रॉयड वन का सफ़र यहीं तक था.

ऐंड्रॉयड वन के साथ क्या दिक्कत आ रही?
शाओमी काफ़ी टाइम से अपने Mi-A सीरीज़ फ़ोन्स में सॉफ़्टवेयर अपडेट को लेकर जूझ रहा है. ऐंड्रॉयड वन आया ही इसलिए था कि लोगों को वक़्त से सिक्यॉरिटी अपडेट और ऑपरेटिंग सिस्टम अपडेट मिलते रहें. लेकिन शाओमी की Mi-A सीरीज़ में अपडेट काफ़ी लेट होती आई हैं.

Lt Nokia
नोकिया-ब्राण्डेड ऐंड्रॉयड वन स्मार्टफ़ोन. (फ़ोटो: ऐंड्रॉयड)

इसके अलावा स्मार्टफ़ोन बनाने वाली कम्पनियां हमेशा से अपने ख़ुद के इंटरफ़ेस को स्टॉक ऐंड्रॉयड से बेहतर मानती हैं. इनकी ख़ुद की स्किन इनको अपने फ़ोन के एक्सपीरियंस पर पूरा कंट्रोल देती है. रेडमी फ़ोन के अंदर तो MIUI में ऐड तक पड़े होते हैं. ये सब ऐंड्रॉयड वन में पॉसिबल नहीं हो पाता. क्योंकि फ़ोन कम्पनियों को इसमें ऑपरेटिंग सिस्टम में छेड़छाड़ की इजाज़त नहीं है. शायद इन्हीं वजहों से शाओमी ऐंड्रॉयड वन को टाटा, बाय-बाय बोल दे.

अगर शाओमी ऐंड्रॉयड वन प्रोग्राम को छोड़ देती है. तो बड़े नामों में सिर्फ़ इकलौती कंपनी नोकिया ही बचेगी, जो अभी भी ऐंड्रॉयड वन वाले फ़ोन बना रही हैं. कुछ वक़्त पहले मोटोरोला ने भी इस प्रोग्राम को छोड़ दिया और स्टॉक ऐंड्रॉयड पर अपने ख़ुद के कुछ फ़ीचर लगाकर एक अलग इंटरफ़ेस बना डाला. रियलमी तो कभी स्टॉक ऐंड्रॉयड की तरफ़ बढ़ा भी नहीं. इसके फ़ैन गुहार लगाते रह गए, पर मिला उनको रियलमी यूआई.


वीडियो: इंटरनेट एक्सप्लोरर की तरह क्या मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स भी खात्मे की तरफ बढ़ रहा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दिशा सालियान केस में मुंबई पुलिस अब लोगों से क्या मदद मांग रही है?

बीजेपी सांसद नारायण राणे ने गंभीर आरोप लगाए थे.

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के UPSC निकालने वाले कैंडिडेट्स ने बताया एग्ज़ाम की तैयारी कैसे की

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के 16 कैंडिडेट ने परीक्षा पास की है.

अयोध्या : भूमिपूजन में नरेंद्र मोदी और सारे गेस्ट्स की इन तस्वीरों को देखिए!

राम मंदिर का भूमिपूजन.

UPSC रैंकर जिसकी तुलना 'पाताल लोक' के इमरान अंसारी से हो रही है

दिल्ली पुलिस परिवार से पांच लोगों ने इस बार UPSC एग्ज़ाम क्रैक किया है.

इमरान खान ने तमाम छेड़छाड़ करके पाकिस्तान का एक नया नक्शा पेश किया है

उनकी कैबिनेट ने वो नक्शा पास कर दिया है.

मुंबई पुलिस कमिश्नर ने अधिकारियों से कहा, सुशांत की मौत से जुड़ी जानकारी किसी से भी शेयर नहीं करना!

उस मीटिंग में और क्या कहा मुंबई के पुलिस कमिशनर ने?

फ़रवरी में ही परिवार ने मुंबई पुलिस से सुशांत को बचाने की अपील की थी, पुलिस ने कहा, 'नहीं मिली कम्प्लेन'

सुशांत के जीजा ने DCP को लिखे अपने मैसेज में और क्या बताया?

बिहार पुलिस के एसपी विनय तिवारी मुंबई पहुंचे, प्रशासन ने ज़बरन होम क्वारंटीन कर दिया!

इस पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने क्या कहा है?

आ गया, आ गया, आ गया … IPL 2020 का पूरा नियम-कानून आ गया

हज़रात हज़रात हज़रात

पैंगोंग झील को लेकर चीन ने भारत की मुश्किल बढ़ा दी है

चीन पैंगोंग झील के बारे में बात ही नहीं करना चाहता.