Submit your post

Follow Us

भवानीपुर उपचुनाव: 10वें राउंड की गिनती के बाद 31 हजार हुई ममता बनर्जी की लीड

पश्चिम बंगाल विधानसभा उपचुनाव की मतगणना चल रही है. भवानीपुर सीट पर  10वें राउंड की गिनती के बाद ममता बनर्जी को मिले कुल वोटों की संख्या 42,122 हो गई है. प्रियंका टिबरेवाल को अबतक 10477 वोट मिले हैं. जबकि सीपीएम के श्रीजीब विश्वास को अबतक मात्र 1234 वोट मिले हैं. यहां ममता की लीड अब 31 हजार वोटों की हो गई है.

TMC कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाना भी शुरू कर दिया है. ममता बनर्जी के आवास पर बड़ी संख्या में TMC कार्यकर्ता जमा हो रहे हैं.

भवानीपुर में ममता के खिलाफ BJP ने प्रियंका टिबरेवाल को उतारा था. वहीं लेफ्ट फ्रंट ने CPM नेता श्रीजीब विश्वास को उम्मीदवार बनाया था. उपचुनाव की मतगणना के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. कोलकाता में मतगणना परिसर के पास अर्धसैनिक बलों की 24 कंपनियां तैनात हैं. मतदान 30 सितंबर को हुआ था.

ममता के लिए जीत जरूरी

भवानीपुर ममता बनर्जी की पारंपरिक सीट है. हालांकि, इस बार के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में उन्होंने अपनी ये पारंपरिक सीट छोड़कर नंदीग्राम से चुनाव लड़ने का फैसला लिया था. जहां उन्हें उनके ही सिपहसालार रहे सुभेंदु अधिकारी ने बेहद ही नजदीकी मुकाबले में हरा दिया था. अब भवानीपुर उपचुनाव ममता बनर्जी के लिए बहुत जरूरी है. मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए उन्हें पांच नवंबर तक विधानसभा का हिस्सा बनना है. TMC के विधायक सोवन्देब चट्टोपाध्याय ने खुद ही भवानीपुर सीट खाली कर दी, ताकि ममता बनर्जी यहां से चुनाव लड़ सकें.

कौन हैं प्रियंका टिबरेवाल?

ममता के सामने उतरीं उम्मीदवार के बारे में भी जान लेते हैं. BJP की प्रियंका टिबरेवाल पेशे से वकील हैं. कलकत्ता हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस करती हैं. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में हुई हिंसा को लेकर उन्होंने याचिका दायर की थी. 41 साल की प्रियंका BJP यूथ विंग में उपाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी भी संभालती हैं. दिल्ली विश्वविद्यालय से इंग्लिश ऑनर्स में ग्रेजुएशन करने के बाद प्रियंका ने कलकत्ता विश्वविद्यालय से लॉ की पढ़ाई की. प्रियंका के पास थाईलैंड की एजम्पशन यूनिवर्सिटी से MBA की भी डिग्री है. हालांकि, उन्होंने वकालत और राजनीति में अपना करियर बनाना ज्यादा मुनासिब समझा.

प्रियंका टिबरेवाल 2014 में BJP में शामिल हुई थीं. उस समय वो बाबुल सुप्रियो की कानूनी सलाहकार हुआ करती थीं. सुप्रियो ही टिबरेवाल को BJP में लेकर आए थे. इस साल हुए विधानसभा चुनाव में टिबरेवाल को एंटली सीट से टिकल मिली थी. यहां उन्हें TMC नेता स्वर्णा कमल ने 58,257 वोटों के भारी अंतर से हराया था.

ऐसी खबरें आई थीं कि भवानीपुर उपचुनाव के लिए BJP ने छह उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया था. इनमें प्रियंका टिबरेवाल के साथ-साथ तथागत रॉय और रुद्रमिल घोष का भी नाम शामिल था. BJP के पश्चिम बंगाल अध्यक्ष दिलीप घोष के मुताबिक कई नेताओं ने चुनाव लड़ने से मना कर दिया और ऐसे में प्रियंका टिबरेबाल ने ममता के खिलाफ चुनाव लड़ने की हामी भरी.


उपचुनाव में ममता के खिलाफ खड़ी BJP की प्रियंका पहले भी TMC को टक्कर दे चुकीं है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गोरखपुर के रामगढ़ताल में ही एक और मनीष की हत्या कर दी गई है!

गोरखपुर के रामगढ़ताल में ही एक और मनीष की हत्या कर दी गई है!

रामगढ़ताल पुलिस थाने से महज़ 200 मीटर दूर की घटना है.

यूपी पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

यूपी पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

मनीष गुप्ता हत्याकांड यूपी पुलिस के दामन पर लगा अकेला दाग नहीं है.

इस्तीफे के बाद सिद्धू ने पंजाबी में नाराज़गी की जो वजह बताई, हिंदी में जानिए

इस्तीफे के बाद सिद्धू ने पंजाबी में नाराज़गी की जो वजह बताई, हिंदी में जानिए

दाग़ी नेताओं और दाग़ी अफसरों की नियुक्तियों से नाराज़ हैं सिद्धू.

यूपी: रामलीला में बरसों से राम का किरदार निभा रहे मुस्लिम युवक का आरोप, मिल रही हैं धमकियां

यूपी: रामलीला में बरसों से राम का किरदार निभा रहे मुस्लिम युवक का आरोप, मिल रही हैं धमकियां

"तू भगवान राम का किरदार निभाना बंद कर दे वर्ना हम तेरे साथ कुछ भी कर सकते हैं."

सिद्धू के इस्तीफे के तुरंत बाद पंजाब के सीएम चन्नी ने पीसी की, कही ये बड़ी बात

सिद्धू के इस्तीफे के तुरंत बाद पंजाब के सीएम चन्नी ने पीसी की, कही ये बड़ी बात

सिद्धू के इस्तीफे पर बाकी दलों ने किस तरह प्रतिक्रिया दी?

सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, सीएम चन्नी से नाराजगी बनी वजह?

सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, सीएम चन्नी से नाराजगी बनी वजह?

सिद्धू के इस्तीफे की असली वजह ये तो नहीं?

उत्तराखंड : मोदी सरकार के आश्वासन के बाद फिर से आमरण अनशन पर क्यों बैठ गए हैं आत्मबोधानंद?

उत्तराखंड : मोदी सरकार के आश्वासन के बाद फिर से आमरण अनशन पर क्यों बैठ गए हैं आत्मबोधानंद?

संतों की मौत, टूटते पहाड़ और गंगा बचाने की जुगत.

UP: योगी कैबिनेट में नए-नए मंत्री बने इन 7 चेहरों के बारे में जानिए

UP: योगी कैबिनेट में नए-नए मंत्री बने इन 7 चेहरों के बारे में जानिए

चुनाव से पहले योगी का कैबिनेट विस्तार.

सिनेमा प्रेमियों के लिए पिछले डेढ़ साल की सबसे बड़ी अनाउंसमेंट हो गई है!

सिनेमा प्रेमियों के लिए पिछले डेढ़ साल की सबसे बड़ी अनाउंसमेंट हो गई है!

अक्षय कुमार ने ट्वीट करके ख़बर दी.

कोर्ट के अंदर गैंगवॉर, ताबड़तोड़ फ़ायरिंग में अपराधी जितेंद्र गोगी की मौत

कोर्ट के अंदर गैंगवॉर, ताबड़तोड़ फ़ायरिंग में अपराधी जितेंद्र गोगी की मौत

दोनों हमलावरों को भी मौके पर ही मार गिराया गया.