Submit your post

Follow Us

UGC ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- अंतिम साल की परीक्षा के बिना डिग्री नहीं

UGC, यानी यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन. इसने एक गाइडलाइन जारी की थी. 6 जुलाई को. कहा था कि फाइनल सेमेस्टर की परीक्षाएं 30 सितंबर तक करवा दी जाएं. ये भी कहा था कि टर्मिनल सेमेस्टर/ फाइनल ईयर के छात्रों का मूल्यांकन परीक्षा के माध्यम से ही किया जाएगा. गाइडलाइन आने के बाद इसका विरोध हुआ. UGC के फैसले के खिलाफ स्टूडेंट्स सुप्रीम कोर्ट पहुंचे. फाइनल ईयर के एग्जाम कैंसिल कराने की मांग की. इस पर सुप्रीम कोर्ट में आज यानी 10 अगस्त को सुनवाई हुई. कोर्ट ने UGC को अपना जवाब दाखिल करने का वक्त दिया और सुनवाई की अगली तारीख 14 अगस्त तय कर दी.

केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉक्टर रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने UGC की गाइडलाइन्स ट्वीट की थी-

अब कैसा जवाब देने का वक्त दिया?

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली और महाराष्ट्र सरकार ने एफिडेविट फाइल किए थे, जिसमें बताया था कि उन्होंने डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट (DMA) के तहत स्टेट यूनिवर्सिटीज़ में फाइनल टर्म के एग्जाम न कराने का फैसला लिया है. इस पर UGC की तरफ से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल (SG) तुषार मेहता ने जवाब दाखिल करने के लिए कोर्ट से वक्त मांगा. इसी पर कोर्ट ने उन्हें वक्त दिया. साथ ही ये भी सवाल किया कि ‘क्या डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट (DMA) UGC की गाइडलाइन्स को निष्प्रभावी कर सकता है?’

और क्या-क्या कहा गया कोर्ट में?

‘लाइव लॉ’ के मुताबिक, सॉलिसिटर जनरल मेहता ने कहा,

“स्टेट अपनी तरफ से एग्जाम कैसे कैंसिल कर सकते हैं, जबकि डिग्री तो UGC ही देता है. ये UGC की गाइडलाइन्स के उलट है.”

आगे मेहता ने कहा कि स्टूडेंट्स को परीक्षा की तैयारी जारी रखनी चाहिए. उन्होंने कहा,

“अगर एग्जाम्स ही नहीं हुए, तो फिर स्टूडेंट्स को डिग्री नहीं मिल सकती. यही कानून है.”

ये कहते हुए तुषार मेहता ने जवाब दाखिल करने का वक्त मांगा. इस मामले पर जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस आर. सुभाष रेड्डी और एम.आर. शाह की बेंच सुनवाई कर रही है. पिछले हफ्ते कोर्ट ने फाइनल ईयर के एग्जाम कराने को लेकर दिल्ली और महाराष्ट्र सरकार से उनका स्टैंड जानना चाहा था.

इसके जवाब में महाराष्ट्र सरकार ने कहा था कि स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने सारे पहलुओं को ध्यान में रखते हुए, दोनों ही- प्रोफेशनल और नॉन-प्रोफेशनल कोर्सेज में फाइनल ईयर के एग्जाम नहीं कराने का फैसला किया है. दिल्ली सरकार की तरफ से कहा गया कि राज्य के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री ने 11 जुलाई को ही स्टेट यूनिवर्सिटीज़ को निर्देश दे दिया था कि वो फाइनल एग्जाम समेत सभी लिखित और ऑफलाइन एग्जाम कैंसिल कर दें.

6 जुलाई की गाइडलाइन्स में क्या-क्या था, यहां पढ़ें-

रंगरूट: UGC के फाइनल ईयर के एग्जाम कराने के फैसले का इतना विरोध क्यों हो रहा है?


वीडियो देखें: रंगरूट: झज्जर में बिन लैब-ICU का मेडिकल कॉलेज सिस्टम की पोल खोल रहा है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

रिया ने सुप्रीम कोर्ट में नया हलफनामा देकर अपने मन की भड़ास निकाल दी

कहा- मीडिया में इस मुद्दे को लगातार सनसनीखेज़ बनाकर दिखाया जा रहा है.

दिल्ली दंगा : "अरेस्ट से हिंदुओं में नाराज़गी" वाले आदेश पर कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को क्लीन चिट दी

मीडिया पर क्या टिप्पणी की कोर्ट ने?

रूस की जिस कोरोना वैक्सीन का हल्ला मचा हुआ है, उसमें एक बहुत चिंता की बात है

पहले भी बवाल हुआ था, और अब फिर से हुआ है.

बादशाह ने यूट्यूब पर व्यूज चोरी कर अपना गाना हिट बनाया!

पुलिस के हत्थे चढ़े, 10 घंटे हुई पूछताछ.

दिल्ली दंगा : मरा है या नहीं, ये चेक करने के लिए ज़िंदा शाहबाज़ पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी गयी!

कोर्ट में सुनवाई में दिल्ली पुलिस ने क्या बताया

अयोध्या भूमिपूजन से पहले मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की 'धमकी' का क्या सुप्रीम कोर्ट लेगा संज्ञान?

AIMPLB ने Tweet पर विवाद देख डिलीट कर लिया है.

दिशा सालियान की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने खुलासा किया कि मौत की असली वजह क्या थी

मुंबई में एक बिल्डिंग के 14वें माले से गिरकर दिशा की जान गई थी.

दिशा सालियान केस में मुंबई पुलिस अब लोगों से क्या मदद मांग रही है?

बीजेपी सांसद नारायण राणे ने गंभीर आरोप लगाए थे.

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के UPSC निकालने वाले कैंडिडेट्स ने बताया एग्ज़ाम की तैयारी कैसे की

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के 16 कैंडिडेट ने परीक्षा पास की है.

अयोध्या : भूमिपूजन में नरेंद्र मोदी और सारे गेस्ट्स की इन तस्वीरों को देखिए!

राम मंदिर का भूमिपूजन.