Submit your post

Follow Us

किस “घपले” के चक्कर में अंबानी के भाई, भौजी, सब पर 25 करोड़ का जुर्माना हो गया

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड, शॉर्ट में कहें तो SEBI ने अंबानी परिवार को एक बड़ा झटका दिया है. SEBI ने 20 साल पुराने मामले में अंबानी परिवार पर कुल 25 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है. जिन लोगों पर जुर्माना लगाया गया है उसमें अनिल अंबानी और उनकी पत्नी टीना अंबानी, मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता अंबानी औऱ मां कोकिला अंबानी भी शामिल हैं. आइए आपको पूरा मामला बताते हैं.

क्यों लगा यह जुर्माना?

जनवरी, 2000 में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड(RIL) के प्रमोटर्स ने कंपनी में 6.83 प्रतिशत शेयर का अधिग्रहण किया था. यह अधिग्रहण सन् 1994 में जारी हुए ‘वारंट’ को परिवर्तित करके किया गया था.अब ये वारंट क्या है? इकोनॉमिक टाइम्स के अनुसार-इक्विटी वारंट एक ऐसा साधन है, जो इसके धारकों को एक निर्धारित समय सीमा के भीतर, किसी कंपनी के स्टाॅक को पूर्व-निर्धारित दाम पर खरीदने का अधिकार देता है. ऐसे में मौका देखते ही ये वारंटधारक इन्ही वारंट्स का उपयोग करके उस कंपनी में अपनी हिस्सेदारी बढ़ा लेते हैं. वही इस केस में भी हुआ. लेकिन मामला थोड़ा सा गड़बड़ हो गया. यह अधिग्रहण SEBI द्वारा निर्धारित 5% की सीमा से अधिक था.

SAST रेगुलेशंस यानी सब्सटेंशियल एक्विजिशन ऑफ शेयर्स एंड टेकओवर्स के अनुसार इस स्थिति में प्रमोटर्स को जनवरी 2000 में इस शेयर अधिग्रहण की सार्वजनिक तौर पर घोषणा करनी थी. जिसे ओपन ऑफर कहते हैं. इन प्रमोटर्स ने ऐसी कोई घोषणा नहीं की और इस हिसाब से उन्होंने अधिग्रहण नियमों का उल्लंघन किया.

SEBI के इस आदेश में क्या था?

SEBI अधिनियम की धारा 15H के अनुसार अधिग्रहण नियमों के उल्लंघन के लिए 25 करोड़ या इन नियमों के उल्लंघन करने से मिले मुनाफे का तीन गुना पैसा, इनमें से जो भी ज्यादा हो, जुर्माने के रूप में लगाया जा सकता है. SEBI ने 85 पेज के अपने आदेश में कहा की रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमोटर्स इस शेयर अधिग्रहण के बारे में सार्वजनिक घोषणा करने में विफल रहे. ऐसा करके उन्होंने शेयरधारकों को उनके अधिकारों से वंचित किया है. इसके लिए SEBI ने 25 करोड़ का जुर्माना लगाया है जो कि अंबानी परिवार और कुछ अन्य लोगों द्वारा मिलकर भरा जाएगा.

पहले भी लगा है जुर्माना

इससे पहले इसी साल जनवरी महीने में भी SEBI ने रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड (RIL) पर 25 करोड़ और मुकेश अंबानी पर 15 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया था. SEBI ने जुर्माने की यह कार्रवाई RIL के शेयरों में नवंबर-2007 में किए गए कथित हेर-फेर के लिए की थी. SEBI ने अपने 95 पेज के आदेश में कहा था कि मुकेश अंबानी RIL के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं. इस नाते किसी भी हेर-फेर के लिए वो भी ज़िम्मेदार हैं. मार्च-2007 में RIL ने रिलायंस प्राइवेट लिमिटे (RPL) में अपनी 4.1 फीसदी हिस्सेदारी बेचने का निर्णय लिया था. बाद में लिस्टेड सहयोगी कंपनी का RPL में विलय कर दिया गया.


ये स्टोरी हमारे साथ इंटर्नशिप कर रहे नीलोत्पल ने लिखी है.


वीडियो- SEBI ने मुकेश अंबानी पर किस मामले में 15 करोड़ का जुर्माना लगा दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इंडिया में कोरोना की वैक्सीन की क़िल्लत का ये रहा पूरा सच!

इंडिया में कोरोना की वैक्सीन की क़िल्लत का ये रहा पूरा सच!

किस-किस राज्य ने क़िल्लत की बात की है

सरकार ने FCAT बंद करने का मनमाना फैसला लेकर बोल्ड फिल्मों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी

सरकार ने FCAT बंद करने का मनमाना फैसला लेकर बोल्ड फिल्मों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी

फिल्म मेकर्स भड़क गए हैं. जानिए क्या है पूरा मामला.

अनिल देशमुख का महाराष्ट्र के गृह मंत्री पद से इस्तीफा, जानिए क्या कारण बताया है

अनिल देशमुख का महाराष्ट्र के गृह मंत्री पद से इस्तीफा, जानिए क्या कारण बताया है

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने उन पर गंभीर आरोप लगाए थे.

अमेरिकी संसद पर हमले के बारे में अब तक क्या-क्या पता चला है?

अमेरिकी संसद पर हमले के बारे में अब तक क्या-क्या पता चला है?

हमले में पुलिसवाले की मौत हो गई, हमलावर मारा गया.

यूपी पुलिस ने जिस हिस्ट्रीशीटर आबिद को गनर दिया है, वो है कौन?

यूपी पुलिस ने जिस हिस्ट्रीशीटर आबिद को गनर दिया है, वो है कौन?

आबिद पर आरोप है कि उसने अतीक के कहने पर अपनी बहन की हत्या करवाई थी.

मनसुख हिरेन मर्डर केस: NIA को मीठी नदी में कौन से अहम सुराग मिले हैं?

मनसुख हिरेन मर्डर केस: NIA को मीठी नदी में कौन से अहम सुराग मिले हैं?

आरोपी सचिन वाझे को लेकर नदी पहुंची थी जांच एजेंसी.

फिल्मी अंदाज में अस्पताल से भागने वाला गैंगस्टर कुलदीप फज्जा एनकाउंटर में मारा गया!

फिल्मी अंदाज में अस्पताल से भागने वाला गैंगस्टर कुलदीप फज्जा एनकाउंटर में मारा गया!

पुलिस की आंखों में मिर्च पाउडर फेंक कुलदीप को भगा ले गए थे उसके साथी.

सुशांत सिंह राजपूत की बहन के खिलाफ़ मुकदमा खारिज करने से सुप्रीम कोर्ट ने साफ़ इंकार कर दिया

सुशांत सिंह राजपूत की बहन के खिलाफ़ मुकदमा खारिज करने से सुप्रीम कोर्ट ने साफ़ इंकार कर दिया

सुशांत को गैरकानूनी दवाइयां देने के मामले में रिया चक्रवर्ती ने केस दर्ज करवाया था.

पंजाब से यूपी की जेल भेजा जाएगा मुख्तार अंसारी, SC में काम कर गई विजय माल्या वाली दलील!

पंजाब से यूपी की जेल भेजा जाएगा मुख्तार अंसारी, SC में काम कर गई विजय माल्या वाली दलील!

यूपी सरकार के बार-बार कहने पर भी मुख्तार को क्यों नहीं भेज रही थी पंजाब सरकार?

लॉकडाउन के दौरान लोन की EMI टाली थी तो ब्याज को लेकर सुप्रीम कोर्ट का ये फैसला पढ़ लीजिए

लॉकडाउन के दौरान लोन की EMI टाली थी तो ब्याज को लेकर सुप्रीम कोर्ट का ये फैसला पढ़ लीजिए

EMI टालने की छूट बढ़ाने और पूरा ब्याज माफ करने पर भी कोर्ट ने रुख साफ कर दिया है.