Submit your post

Follow Us

दूरदर्शन के लिए रामायण ने वो काम किया, जो हनुमान ने लक्ष्मण के लिए किया था

देश में 25 मार्च से कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन में है. लोगों को घरों में बांधे रखने के लिए रामायण और महाभारत जैसे सीरियल फिर शुरू किए गए. इससे दूरदर्शन की किस्मत चमक उठी. दूरदर्शन अब देश का सबसे ज्यादा देखे जाने वाला चैनल बन गया है. ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल यानी बार्क ने यह जानकारी दी है.

बार्क का काम टीवी से जुड़े आंकड़ों पर नज़र रखना होता है. जैसे कौनसा चैनल सबसे ज्यादा देखा जाता है, कौनसा सीरियल सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है.

दूरदर्शन की घर-घर में फिर से धूम मची हुई है.
दूरदर्शन की घर-घर में फिर से धूम मची हुई है.

27 मार्च तक टॉप-10 में भी नहीं था दूरदर्शन

बार्क ने बताया कि पिछले सप्ताह यानी 29 मार्च से 3 अप्रैल के बीच दूरदर्शन को सबसे ज्यादा देखा गया. चैनल पर सुबह और शाम को देखने वालों की संख्या में 40 हजार प्रतिशत का उछाल आया है. दूरदर्शन ने रामायण, महाभारत के साथ ही बुनियाद, शक्तिमान, सर्कस, ब्योमकेश बक्शी जैसे सीरियल भी फिर से शुरू किए हैं. 90 के दशक के इन कार्यक्रमों ने दूरदर्शन के सुनहरे दिन लौटा दिए. बता दें कि 27 मार्च तक हिंदी मनोरंजन चैनलों में दूरदर्शन टॉप-10 में भी नहीं था.

वहीं पीएम नरेंद्र मोदी की रात 9 बजे लाइट बंद रखने की अपील के दौरान सबसे कम टीवी देखा गया. पीएम मोदी ने 5 अप्रैल को बत्तियां बंदकर बालकनी में दिया या मोमबत्ती या मोबाइल फ्लैश या टॉर्च जलाने की अपील की थी.

टीवी के दर्शकों में तगड़ा उछाल

बार्क ने बताया कि लॉकडाउन के चलते टीवी देखने में उछाल आया है. लॉकडाउन से पहले की अवधि की तुलना में अब 43 प्रतिशत ज्यादा लोग टीवी देखते हैं. टीवी की सभी कैटेगरी चाहे न्यूज हो या स्पोर्टस या मनोरंजन चैनल सभी के दर्शक बढ़े हैं.

न्यूज चैनलों की बल्ले बल्ले

बार्क की रिपोर्ट में कहा गया है कि जिन चैनलों ने भी अपने पसंदीदा सीरियल शुरू किए उन्हें फायदा हुआ है. खबरिया चैनलों को देखने में भी इज़ाफा हुआ है. इनको देखने वाले दर्शकों की संख्या अब तक की सबसे ज्यादा है.

स्पोर्ट्स चैनलों पर अभी किसी भी नए मैच का प्रसारण नहीं हो रहा. फिर भी इन चैनलों की व्यूअरशिप बढ़ी है. इस तरह के चैनलों के दर्शकों में 21 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है. देश में स्पोर्ट्स चैनल भारतीय क्रिकेट के पुराने जीते हुए मैच दिखा रहे हैं.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: ए.आर. रहमान, ‘मसकली 2.0’ देखने के बाद नाराज़ क्यों हो गए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

20 अप्रैल से कौन-कौन से लोग अपना काम-धंधा शुरू कर सकते हैं?

और खाने-पीने के सामान को लेकर सरकार ने क्या कहा?

लॉकडाउन के बीच ज़रूरी सामान भेजना है? बस एक कॉल पर हो जाएगा काम

रेलवे अधिकारियों ने शुरू की है 'सेतु' सर्विस.

सड़क पर मजदूरों संग खाना खाने वाले अर्थशास्त्री ने सरकार को कमाल का फॉर्मूला सुझाया है

कोरोना और लॉकडाउन ने मजदूर को कहीं का नहीं छोड़ा.

सरकार की नई गाइडलाइंस, जानिए किन इलाकों में, किन लोगों को लॉकडाउन से छूट

कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन पहले ही बढ़ाया जा चुका है.

टेस्टिंग किट की बात पर राहुल गांधी ने भारत की तुलना किन देशों से की?

कहा, 'हम पूरे खेल में कहीं नहीं हैं.'

चीन से भारत के लिए चली टेस्टिंग किट की खेप अमरीका निकल गयी!

और अभी तक भारत में नहीं शुरू हो पाई मास टेस्टिंग.

कोरोना: मरीजों की खातिर बेड और लैब के लिए कितना तैयार है भारत, PM मोदी ने बताया

लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा पीएम ने क्या-क्या कहा?

15 अप्रैल को लॉकडाउन-2 की जो गाइडलाइंस आनी हैं, उनमें क्या-क्या हो सकता है

पूरे देश में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ चुका है.

सुप्रीम कोर्ट ने बता दिया है कि किन लोगों का कोरोना वायरस टेस्ट फ्री में होगा

प्राइवेट लैब भी नहीं ले सकेंगे इनसे पैसा.

PM CARES Fund पर लगातार उठ रहे सवाल, अब हिसाब-किताब की होगी जांच

वकील ने PM Cares फंड को रद्द करने की मांग की है.