Submit your post

Follow Us

टूलकिट मामले में दिशा रवि के खिलाफ केस बंद करने पर विचार क्यों कर रही है पुलिस?

दिशा रवि. पर्यावरण कार्यकर्ता हैं. 26 जनवरी को हुई किसान हिंसा से जुड़े कथित टूलकिट मामले में पुलिस ने गिरफ्तार किया था. देशद्रोह, आपराधिक साजिश और नफरत फैलाने जैसे आरोप लगे थे. लेकिन करीब साढ़े आठ महीने बाद भी दिशा रवि के खिलाफ जांच किसी ठोस दिशा में जाती नहीं दिख रही है. इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि पुलिस को गूगल और जूम से जवाब नहीं मिल पाया है. इसकी वजह से चार्जशीट दाखिल नहीं हो पा रही है. इसके बाद अब इस मामले में क्लोज़र रिपोर्ट दाखिल करने पर विचार किया जा रहा है.

क्या आरोप हैं दिशा रवि पर?

किसान आंदोलन को लेकर वर्ल्ड फेमस पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने एक टूलकिट ट्वीट किया था. टूलकिट बेसिकली गूगल डॉक्युमेंट था, जिसमें कथित तौर पर बताया गया था कि कैसे भारत सरकार का विरोध करना है, कैसे घेरना है, कैसे अंबानी और अडानी के ऑफिसों के बाहर प्रदर्शन करना है, कैसे ट्विटर पर अभियान चलाना है. ग्रेटा ने इस ट्वीट को डिलीट करके बाद में संशोधित टूलकिट अपलोड की. इस मामले में पुलिस ने टूलकिट बनाने वालों के खिलाफ FIR दर्ज की.

इस मामले में बेंगलुरु से दिशा रवि की गिरफ्तारी हुई. पुलिस ने दावा किया कि दिशा ही टूलकिट की संपादक और मुख्य साजिशकर्ता है. यह टूलकिट किसान आंदोलन की आड़ में देश की छवि ख़राब करने के लिए बनाया गया था. दिशा पर ख़ालिस्तान समर्थक समूह पोइटिक जस्टिस फ़ाउंडेशन के साथ मिलकर काम करने का भी आरोप लगा. हालांकि दिशा का कहना था कि उन्होंने टूलकिट की केवल दो लाइनें एडिट की हैं. 10 दिन बाद उन्हें ज़मानत मिल गई.

गूगल, जूम से नहीं मिला जवाब

अब अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि इस मामले में पुलिस की जांच आगे नहीं बढ़ पा रही है. इस बारे में गूगल और जूम से जो सवाल पूछे गए थे, उस पर उनका कोई जवाब नहीं आया है. साइबर सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने अखबार को बताया कि उन्होंने फ़रवरी में विडियो कम्युनिकेशन प्लेटफ़ॉर्म ज़ूम को इस सम्बंध में लिखा था, लेकिन उसकी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है. उन्होंने कहा कि

“हमने पाया कि दिशा रवि और निकिता जैकब कथित तौर पर PFJ (poetic justice foundation) के धालीवाल के साथ ज़ूम कॉल पर थे. हमें उस ज़ूम कॉल के विवरण की ज़रूरत थी. हमने ज़ूम को इस मामले में लिखा लेकिन अमेरिकी अधिकारियों ने कोई जवाब नहीं दिया. हम उन्हें इस सम्बंध में कोई टाइम बाउंड नोटिस भी नहीं भेज सकते क्योंकि वो भारत के नहीं हैं.”

एक्सप्रेस के मुताबिक, मुंबई के वकील निकिता जैकब और इंजीनियर शांतनु को लेकर भी पुलिस को कोई जवाब नहीं मिला है. इन दोनों पर भी दिशा रवि के साथ मिलाकर टूलकिट को तैयार करने और एडिट करने का आरोप है. निकिता और शांतनु यूके की संस्था Extinction Rebellion में काम करते  हैं. पुलिस ने उनकी संस्था से भी संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिली. इसी तरह की समस्या गूगल को लेकर भी सामने आ रही है. पुलिस को वहां से भी कोई जवाब नहीं मिला है.

गार्जियन मैगज़ीन के कवर पर दिशा रवि

हाल ही में गार्जियन के वीकेंड मैगज़ीन कवर पर जिन 20 लोगों की तस्वीरें छपी हैं, उनमें दिशा रवि भी हैं. दिशा ने खुद इस बारे में ट्वीट की तस्वीर शेयर किया.

दिशा रवि ने इस फ़ीचर में यह भी बताया कि कैसे उनके किसान दादा-दादी ने एक जल संकट के ख़िलाफ़ संघर्ष किया था जिससे उन्हें जलवायु संकट में रुचि पैदा हुई और वो पर्यावरण कार्यकर्ता बनने के लिए प्रेरित हुईं.


वीडियो: सिंघु बॉर्डर पर जिस लखबीर की हत्या हुई थी, उसके परिवार ने क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आर्यन खान केस: किरण गोसावी के बॉडीगार्ड का दावा, 18 करोड़ में डील होने की बात सुनी थी

गवाह प्रभाकर सेल का दावा-8 करोड़ समीर वानखेड़े को देने की बात हुई थी.

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

लिंक करने का पूरा प्रोसेस बता रहे हैं, जान लीजिए.

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

सपा ने ट्वीट कर कहा- 2022 में मिलकर करेंगे बीजेपी को साफ़!

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

थाने के मालखाने से 25 लाख चोरी के आरोप में पुलिस ने पकड़ा था सफाईकर्मी को.

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.