Submit your post

Follow Us

मोदी जी ने पीएम केयर्स फंड में कितने रुपये दिए, पता चल गया है

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पीएम केयर्स फंड बनाया गया था. 27 मार्च के दिन. इस फंड में पीएम मोदी ने कितने पैसे दिए, ये अब पता चल गया है. ‘इकॉनमिक टाइम्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक, इस फंड के बनने के साथ ही पीएम मोदी ने इसमें 2.25 लाख रुपए का योगदान दिया था. वेबसाइट ने एक सीनियर अधिकारी को कोट करते हुए लिखा,

“पीएम मोदी लंबे समय से जनता के हित में डोनेशन देते आए हैं. पीएम केयर्स फंड की जो शुरुआती 2.25 लाख रुपए की राशि थी, वो पीएम ने ही डोनेट की थी.”

दरअसल, 2 सितंबर को सरकार ने एक ऑडिट स्टेटमेंट जारी किया था, जिसके मुताबिक, पीएम केयर्स फंड बनने के पांच दिन के अंदर ही इसमें 3,076 करोड़ रुपए आए थे. इनमें से 3,075.85 करोड़ रुपए घरेलू स्वैच्छिक दान से आए थे, 39.67 लाख रुपए विदेशी योगदान था. स्टेटमेंट में ये भी कहा गया था कि फंड की शुरुआत 2.25 लाख रुपए से हुई थी और इसे करीब 35 लाख रुपए ब्याज के तौर पर भी मिले थे. ये ब्यौरा शुरुआती पांच दिन, यानी 27 मार्च से 31 मार्च के बीच का है.

और कहां-कहां डोनेट कर चुके हैं?

‘इकॉनमिक टाइम्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम मोदी ने 2019 कुंभ मेले में सैनिटेशन वर्कर्स के वेलफेयर के लिए बने कोष में भी 21 लाख रुपए डोनेट किए थे, ये उनकी व्यक्तिगत बचत थी. इसके अलावा साउथ कोरिया में सियोल पीस प्राइज के तौर पर पीएम को जो 1.3 करोड़ रुपए मिले थे, वो भी उन्होंने नमामि गंगे प्रोजेक्ट को डोनेट कर दिए थे. फिर उन्होंने वित्त मंत्री से भी कहा था कि इस प्राइज मनी पर जो टैक्स की छूट दी गई है, उसे वापस ले लिया जाए.

अधिकारियों का कहना है कि पीएम को मिलने वाले तोहफों और स्मृति चिन्हों की नीलामी से भी जो पैसे मिले थे, वो भी नमामि गंगे मिशन को दे दिए गए थे. अधिकारियों के मुताबिक, हाल में हुई नीलामी से 3.4 करोड़ रुपए आए थे और साल 2015 तक मिले तोहफों की जो नीलामी सूरत में हुई थी, उससे 8.35 करोड़ रुपए आए थे, ये सारे पैसे नमामि गंगे मिशन को दिए गए थे. इसके अलावा 2014 में गुजरात सीएम पद से इस्तीफा देते तक, मोदी ने सरकारी कर्मचारियों की बेटियों की शिक्षा के लिए 21 लाख रुपए डोनेट किए थे. ये भी उनकी व्यक्तिगत बचत से दिए गए थे. इसके अलावा गुजरात के सीएम रहते हुए मोदी को जो गिफ्ट मिले थे, उनकी नीलामी से 89.96 करोड़ रुपए आए थे, ये पैसे कन्या केलवनी फंड को दे दिए गए थे.


वीडियो देखें: पीएम केयर्स फंड के जरिए खरीदे गए दो फर्म के वेंटिलेटर्स क्लिनिकल ट्रायल में फेल हो गए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पबजी बैन, सोशल मीडिया ने कहा- ‘उनका’ वीडियो डिसलाइक करने का नतीजा है

118 ऐप्स बैन कर दिए गए हैं.

चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए पॉज़िटिव न्यूज़ आई है

बड़े दिनों के बाद.

सेरो सर्वे की मानें, तो ठीक होने के बाद दोबारा हो सकता है कोरोना!

208 में से 97 लोगों में नहीं मिली एंटीबॉडी.

अवमानना वाले मामले में सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण को क्या सज़ा दी है?

प्रशांत भूषण के दो ट्वीट का मुद्दा था.

अनलॉक-4 की गाइडलाइंस जारी, मेट्रो चलेगी, जानिए स्कूल खोलने को लेकर क्या कहा गया है

धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों को लेकर क्या छूट मिली है?

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.