Submit your post

Follow Us

भर्ती नहीं किया, सरकारी हॉस्पिटल के गेट पर महिला की मौत

खबर ग्रेटर नोएडा से है, यहां एक महिला को किसी भी अस्पताल में जगह नहीं मिली. उसने सरकारी अस्पताल के बाहर गाड़ी में ही दम तोड़ दिया. तीन घंटे से ज्यादा समय तक उसकी डेड बॉडी गाड़ी में ही पड़ी रही. कोई ऐसा जिम्मेदार नहीं मिला जो महिला के शव को मोर्चरी तक पहुंचवा दे.

क्या है मामला? 

आज तक के तनसीम हैदर की रिपोर्ट के मुताबिक, ग्रेटर नोएडा के बीटा-2 में रहने वाली जागृति गुप्ता वैष्णवी इंजीनियरिंग कंपनी में काम करती थी. वह पिछले कुछ समय से बीमार चल रही थीं. 30 अप्रैल की सुबह उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने लगी. ऑक्सीजन लेवल गिरने लगा. उनके साथी और किराएदार फौरन मदद को दौड़े. जागृति को गाड़ी में बिठाया और अस्पताल की ओर चल पड़े. उन्हें गाड़ी में बिठाकर वे नोएडा के सभी अस्पतालों में गए. लेकिन किसी ने भी जागृति को एडमिट नहीं किया. इलाज करना तो दूर की बात थी. अंत में गवर्मेंट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज़ यानी जिम्स पहुंचे.

Corona Patient Dies In Car
जागृति को गाड़ी में बिठाकर कई अस्पतालों के चक्कर काटे, लेकिन सबने एडमिट करने से मना कर दिया.

यहां भी जागृति को एडमिट नहीं किया गया. उनकी साथी ने डॉक्टर्स से बार-बार दरख्वास्त की. बताया कि जागृति की हालत तेज़ी से बिगड़ रही है. लेकिन डॉक्टर उन्हें देखने को तैयार नहीं हुए. ऊपर से उन्हें किसी और हॉस्पिटल में ले जाने को कहा. इन्हीं सब फ़रियाद में करीब तीन घंटे बीत गए. एक बार फिर साथी भागकर डॉक्टर के पास गई. बताया कि हालत क्रिटिकल है और सांस भी नहीं आ रही. तब जाकर डॉक्टर बाहर आए. जागृति की जांच की और उन्हें मृत घोषित कर दिया. मरीज को मृत घोषित कर डॉक्टर वापस अस्पताल को लौट गए. यहां तक कि महिला के शव को मोर्चरी तक भेजवाने की व्यवस्था भी नहीं की.


वीडियो: ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए गिड़गिड़ाते आदमी का वीडियो वायरल हुआ तो पुलिस ने सफाई दे डाली

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना काल के बीच चीन ने मंगल ग्रह पर उतारा ‘आग का देवता’!

ऐसा करने वाला दुनिया का तीसरा देश बना.

मुसीबत में भी चालाकी करने से बाज नहीं आ रहा है चीन, मदद के नाम पर भेज रहा घटिया माल

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर में वो बात नहीं जो पहले थी, कई चीजें गायब.

यूपी के हर जिले में कोरोना से जुड़ी शिकायतों की सुनवाई की हाई कोर्ट ने स्पेशल व्यवस्था कर दी है

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने चुनावी ड्यूटी में जान गंवाने वालों पर भी अहम फैसला दिया है.

नदी में कोरोना पीड़ितों के शव बहाने से क्या पानी संक्रमित हो जाता है?

बिहार और यूपी में ऐसे मामले सामने आ रहे हैं.

कनाडा के बाद अब अमेरिका में भी 12 से 15 साल के बच्चों को लगेगी फाइज़र की वैक्सीन

ये वैक्सीन भारत कब तक आएगी.

डॉक्टरों की सबसे बड़ी संस्था IMA ने कोरोना पर सरकार को खूब सुनाया है!

कहा-स्वास्थ्य मंत्रालय का रवैया हैरान करने वाला.

दिल्ली में फिर बढ़ा लॉकडाउन, इस बार और भी सख़्ती

दिल्ली के सीएम ने क्या बताया?

बंगाल में केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ तो ममता बनर्जी ने उलटा क्या आरोप मढ़ दिया?

लगातार हो रही हिंसा की जांच के लिए होम मिनिस्ट्री ने अपनी टीम बंगाल भेज दी है.

पंजाबी फ़िल्मों के मशहूर एक्टर-डायरेक्टर सुखजिंदर शेरा का निधन

कीनिया में अपने दोस्त से मिलने गए थे, वहां तेज बुखार आया था.

सलमान खान ने मदद मांगने वाले 18 साल के लड़के को यूं दिया सहारा!

कुछ दिन पहले ही कोरोना से अपने पिता को गंवा दिया.