Submit your post

Follow Us

जोकोविच अब तीन साल ऑस्ट्रेलियन ओपन नहीं खेल पाएंगे?

विश्व के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच (Novak Djokovic) का वीजा दूसरी बार रद्द हो गया है. ऑस्ट्रेलिया के इमिग्रेशन मिनिस्टर एलेक्स हॉक ने विवेकाधीन शक्ति का प्रयोग करते हुए जोकोविच का वीजा रद्द किया है. अब नोवाक जोकोविच का ऑस्ट्रेलियन ओपन 2022 में खेलना नामुमकिन है.

इतना ही नहीं, वीजा रद्द होने के बाद संभव है कि अगले तीन साल तक जोकोविच ऑस्ट्रेलिया में घुस नहीं सकेंगे. हालांकि आधिकारिक तौर पर इस बात की घोषणा नहीं हुई है. लेकिन ऑस्ट्रेलिया का नियम तो यही कहता है. एलेक्स हॉक ने जोकोविच का वीजा रद्द करते हुए अपने बयान में कहा,

‘आज मैं अपनी शक्ति का प्रयोग करते हुए माइग्रेशन एक्ट के सेक्शन 133C(3) के तहत नोवाक जोकोविच का वीजा जनहित के आधार पर रद्द करता हूं.’

बता दें कि इससे पहले जब नोवाक जोकोविच का वीजा रद्द हुआ था तो सर्बियाई खिलाड़ी ने कोर्ट में अपील की थी. जिसके बाद कोर्ट ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार को आदेश दिया था कि जोकोविच का पासपोर्ट और उनका तमाम सामान तुरंत वापस लौटाया जाए. साथ ही उन्हें डिटेंशन सेंटर से भी बाहर निकाला जाए. इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई सरकार की खूब आलोचना हुई थी.

बाद में इमिग्रेशन मिनिस्टर एलेक्स हॉक ने कहा था कि वह अपनी विवेकाधीन शक्ति का प्रयोग कर दूसरी बार वीजा रद्द करने पर विचार करेंगे. और एलेक्स हॉक ने ये कर दिखाया. हालांकि जोकोविच के वकील फिर से फेडरल सर्किट और फैमिली कोर्ट में सरकार के फैसले को चैलेंज कर सकते हैं. जैसा कि उन्होंने पहले भी किया था.

बता दें कि पिछले दिनों नोवाक जोकोविच के वीजा विवाद पर वर्ल्ड नंबर चार टेनिस खिलाड़ी स्टेफानोस सितसिपास का बयान भी आया था. स्टेफानोस सितसिपास ने जोकोविच पर तंज कसते हुए कहा था,

‘वह अपने बनाए गए नियम पर चल रहे हैं. और वो काम कर रहे हैं जो बाकी खिलाड़ियों में करने की हिम्मत नहीं है. किसी ने सोचा नहीं होगा कि जोकोविच बिना वैक्सीन लगवाए ही ऑस्ट्रेलिया खेलने आ जाएंगे. और प्रोटोकॉल का पालन नहीं करेंगे. ग्रैंडस्लैम को इस तरह खतरे में डालने का रिस्क हर खिलाड़ी नहीं उठा सकता है.’

बताते चलें कि ऑस्ट्रेलिया आने से पहले और उसके बाद नोवाक जोकोविच ने कई गलतियां की. नियमों का उल्लंघन किया. पहले तो उन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाई. कहा कि टेनिस ऑस्ट्रेलिया की तरफ से उन्हें मेडिकल छूट मिली है. बाद में जब वीजा रद्द हुआ और जोकोविच को बॉर्डर फोर्स ने मेडिकल छूट साबित करने को कहा तो वह ऐसा नहीं कर पाए. इसके बाद 20 बार के ग्रैंडस्लैम चैंपियन ने दिसंबर में खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की बात छिपाना स्वीकार. और तो और 14 दिनों की ट्रैवल हिस्ट्री भी गलत बताई.

इसके बाद भी जोकोविच उम्मीद कर रहे हैं कि वह ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलने का अधिकार रखते हैं. खैर 17 जनवरी से साल का पहला ग्रैंडस्लैम शुरू होने जा रहा है. जोकोविच को पहली सीड दे दी गई थी. जब ड्रॉ निकला तो उनका पहला मैच सर्बिया के ही मियोमिर केसमानोविच से था. देखने वाली बात ये होगी कि नोवाक जोकोविच आगे क्या कदम उठाते हैं. झोला उठाकर वापस घर जाते हैं या फिर कोर्ट में ऑस्ट्रेलियाई सरकार के खिलाफ केस लड़ते हैं.


केपटाउन टेस्ट में ऋषभ पंत ने कर दी रिकॉर्ड की बरसात

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

कांग्रेस की पहली लिस्ट में 50 महिला उम्मीदवार शामिल हैं

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

तस्वीर गौर से देखेंगे तो समझ आ जाएगा, हम तो बता ही देंगे.

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

बीते 24 घंटों के भीतर यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है.

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने असल में क्या कहा है?

दिल्ली में प्राइवेट ऑफिस, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह बंद किए गए, छूट किसे मिली है ये जान लो

कोरोना के केस बढ़ने के बीच DDMA की नई गाइडलाइंस जारी.

यूपी में MSP कृषि लागत से ज्यादा नहीं तो BJP इसका ढोल क्यों पीट रही है?

यूपी में MSP की तारीफ़ का सच.

Nykaa का IPO अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा के बीच जंग की वजह कैसे बन गया?

BharatPe के लीगल नोटिस और अशनीर ग्रोवर के 'गाली' वाले ऑडियो पर क्या बोला Kotak?

Xiaomi ने सरकार को कैसे लगा दिया 653 करोड़ का चूना?

Xiaomi भारत में सबसे ज्यादा मोबाइल बेचने वाली चीनी कंपनी है.

नरसिंहानंद का एक और घटिया बयान, 'जिसने एक बेटा पैदा किया, उस मां को औरत मत मानना'

नरसिंहानंद ने कहा, "मुसलमानों से हिंदुओं को मरवाओगे क्या?"