Submit your post

Follow Us

रोडीज के एक्स डायरेक्टर ने कहा, शो और उसके एंकर्स शर्मनाक स्तर तक पहुंच चुके हैं

एमटीवी रोडीज. ये शो अपनी जज नेहा धूपिया की वजह से भारी आलोचना का सामना कर रहा है. सोशल मीडिया पर लोग शो को क्रूर बता रहे हैं. नेहा के लिए फेक फेमिनिस्ट, डबल स्टैंडर्ड जैसी बातें लिखी जा रही हैं. अब इस मामले पर शो के पहले सीजन के डायरेक्टर निवेदित अल्वा का बयान आया है. निवेदित ने कहा कि शो के एंकर्स को गालीगलौज करते देखकर और हिंसा देखकर वो परेशान हो जाते हैं.

निवेदित ने कहा,

‘एमटीवी रोडीज’ का फॉरमेट मेरे भाई निखिल अल्वा ने तैयार किया था. ये एक ऐसा शो था जो, राष्ट्र-निर्माण के लिए भारत के यूथ को एकजुट और कुछ अच्छा करने के लिए प्रेरित करता था. मैं ये देखकर परेशान हूं कि वक्त के साथ ‘रोडीज’ का फॉरमेट कैसा हो गया है. धोखाधड़ी, भद्दी भाषा, गालियां देने वाले एंकर्स, हिंसा और सेक्सुअलिटी कभी फॉरमेट का हिस्सा नहीं थे. शो इस हद तक गिर चुका है कि एमटीवी ब्रांड और इससे जुड़े हुए एडवरटाइजर के लिए शर्मिंदगी बन चुका है. अंत में इन सभी पार्टिसिपेंट को असली दुनिया में वापस लौटना होगा. रेटिंग के लिए उनके साथ लॉन्ग टर्म में होने वाला डैमेज विचार करने लायक है. 

 क्या हुआ था?

‘रोडीज’ के ऑडिशन चल रहे हैं. एक लड़का ऑडिशन देने पहुंचा था. वहां उसने बताया कि उसकी एक्स गर्लफ्रेंड उसे चीट करके पांच और लड़कों के साथ रिलेशनशिप में थी. उसे जब ये पता लगा, तो उसने लड़की के साथ कुछ बहुत बुरा करने की बजाय उसे सिर्फ एक थप्पड़ मारा. नेहा धूपिया ये सुनकर गुस्सा होने लगती हैं. वो बीच शो में लड़के को गाली देती हैं. लड़के से कहती हैं कि लड़की की मर्जी है कि वो कितने ब्वॉयफ्रेंड बनाए या फिर किसके साथ रिश्ते में रहे. इसके साथ सोशल मीडिया पर एक और क्लिप चल रहा था, जिसमें ऑडिशन देने आई एक लड़की बताती है कि उसने अपने रिलेशनशिप में चार लड़कों को मारा था. ये सुनकर नेहा समेत सारे जजेस हंसने लगते हैं और उससे पूछते हैं कि मजा आया पीटकर?

इन दोनों क्लिप्स को मिक्स करके लोगों ने सोशल मीडिया पर नेहा को काफी कुछ कहा. नेहा ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में बताया कि उनके पापा के वॉट्सएप तक गालियां दी गईं.

MTV रोडीज

‘रोडीज’ चौथे-पांचवें सीजन तक शो काफी पॉपुलर रहा. लोगों ने खूब देखा, क्योंकि तब इस तरह का कॉन्सेप्ट नया था. ‘रोडीज’ में लड़के-लड़कियों को उनके बिहेवियर, विचार और स्ट्रेंथ के आधार पर चुना जाता है. सेलेक्ट होने के बाद उनसे टास्क कराए जाते हैं. और उसी के आधार पर सबसे आखिर तक टिका रहने वाला विनर बनता है. उसे एमटीवी की तरफ से बाइक वगैरह इनाम मिलती है. शो से 10 साल तक जुड़े रहे रघु और उनके भाई राजीव ‘रोडीज’ के मेकर्स भी थे. लेकिन फिर उन्होंने भी शो छोड़ने का ऐलान कर दिया. तब एक इंटरव्यू में रघु ने कहा था,

‘रोडीज’ के साथ मेरा हो चुका है. और अगर मैं किसी चीज को लेकर एक्साइटेड ही नहीं हूं, तो उसे कंटिन्यू करने का कोई मतलब नहीं है. ऑडिशन बहुत क्रूर होते हैं. मेरे पास जाहिर करने के लिए शब्द नहीं हैं. देखकर दिमाग सुन्न हो जाता है. जर्नी भी बहुत बुरी होती है, जो मुझे बिल्कुल प्रेरित नहीं करती है. ये बस पूरा हो चुका है. कितना करूंगा? हो गया.

एक अन्य इंटरव्यू में रघु ने कहा था कि शो की वजह से उनकी इमेज बहुत खराब हो गई थी. उन्होंने बताया था कि उनकी पत्नी नताली डि लुसियो के माता पिता उन्हें क्रूर समझते थे. शादी से पहले रघु को उन्हें समझाना पड़ा था कि वो असल में वो आदमी नहीं हैं, जिसे टीवी पर चीखते-चिल्लाते हुए देखा जाता है.

शो का इस साल 18वां सीजन चल रहा है. शो के होस्ट कम जज हैं- रणविजय सिंह, जो सबसे पहले ‘रोडीज’ विनर हैं. बॉलीवुड एक्ट्रेस नेहा धूपिया, ‘रोडीज’ 12 विनर प्रिंस नरूला, हॉकी प्लेयर संदीप सिंह और निखिल चिनप्पा, जिन्होंने 1999 में ‘एमटीवी वीजे हंट’ में भाग लिया था और तब से चैनल से जुड़े हुए हैं.


Video: काजोल ने के बेटे युग की परवरिश कैसे की, जानिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?