Submit your post

Follow Us

जानिए क्या है ‘हुडिनी ट्रिक’, जिसे दिखाने के लिए कोलकाता के जादूगर पानी में गए, लेकिन बाहर नहीं आए

485
शेयर्स

अगर मैं इसे सही करूंं तो ये मैजिक है, अगर गलत करूं, तो ट्रैजिक.


यही वो लाइनें हैं जो पश्चिम बंगाल के जादूगर ने अपना आखिरी जादू दिखाने से पहले कही. किसी को इस बात का अंदाजा नहीं था कि जादूगर जिस गलती की बात कर रहे हैं, वो शायद इसी कारनामे के दौरान कर बैठेंगे. एक गलती हुई और 41 साल के चंचल लहरी मौत की आगोश में चले गए.

जादूगर चंचल ने जीवन की ये आखिरी गलती 16 जून के दौरान की. रविवार का था. चंचल लहरी ने बाकायदा प्रशासन से जादू दिखाने की अनुमति मांगी थी. लेकिन इस अनुमति मांगने के दौरान भी वो पुलिस के साथ एक ट्रिक खेल गए. अगर वो ऐसा नहीं करते तो चंचल शायद दुनिया के सामने ज़िंदा होते. उन्होंने क्या ट्रिक खेली हम आपको आगे बताएंगे. फिलहाल उस दिन का ज़िक्र जिस दिन उन्होंने ‘हुडिनी ट्रिक’ दोहराने की एक असफल कोशिश की.

तो, दिन रविवार का था. चंचल अपनी टीम के साथ हावड़ा ब्रिज के नीचे पहुंचे थे. ‘हुडिनी ट्रिक’ दोहराने के लिए वे पूरी तरह से तैयार थे. नदी के किनारे दर्शकों की भीड़ तालियों से जादूगर का हौंसला आफज़ाई कर रही थी. इसी दौरान जादूगर के हाथ-पैर बांधे गए. फिर उनके शरीर को चेन से बांधा गया. चेन ना खुल जाए इसीलिए ताले भी लगाए गए. उसके बाद क्रेन की मदद से उन्हें नदी में डाल दिया गया.

नदी किनारे खड़ी भीड़ चंचल का हौसला आफज़ाई कर रही थी
नदी किनारे खड़ी भीड़ चंचल का हौसला आफज़ाई कर रही थी

जादू के मुताबिक उन्हें कुछ ही मिनटों में ताला और रस्सी खोलकर, पानी से बाहर आ जाना था. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. 10 मिनट तक भी जब वो बाहर नहीं आए, तब लोगों ने चिल्लाना शुरू कर दिया. किसी ने जाकर पुलिस को इस बात की जानकारी दी. फिर पुलिस दल बल के साथ पहुंच गई, साथ में डाइवर्स भी बुलाए गए. जादूगर को खूब ढूंढा गया. लेकिन वो ज़िंदा नहीं मिले. मिली तो उनकी लाश. जिस जगह पर उन्होंने डुबकी लगाई थी उसके 1 किलोमीटर दूर.

पीटीआई के मुताबिक-

चंचल ने कोलकाता पुलिस से जादू दिखाने की परमिशन तो ली थी लेकिन असल में वो क्या एक्ट करने वाले थे उसे वो छिपा ले गए थे, उन्होंने जो एप्लिकेशन पुलिस के सामने दी थी उसमें सिर्फ एक नाव का ज़िक्र था. उन्होंने अस्पष्ट रूप से किसी ‘एक्सट्रा एक्ट’ का भी ज़िक्र किया था. लेकिन पानी वाले एक्ट की बात उन्होंने छिपा ली थी. अगर वो एप्लिकेशन में जानकारी देते तो शायद नतीजा कुछ और होता.

चंचल लहरी इससे पहले भी हुडिनी ट्रिक कर चुके हैं. (तस्वीर सोशल मीडिया)
चंचल लहरी इससे पहले भी हुडिनी ट्रिक कर चुके हैं. (तस्वीर सोशल मीडिया)

स्थानीय मीडिया के मुताबिक उन्हें इस बात का भरोसा था कि वो इस ट्रिक को पहले की तरह आसानी से कर लेंगे. क्योंकि चंचल ने इससे पहले भी साल 2002 और 2013 में इस ट्रिक को दोहरा चुके थे. हालांकि उस दौरान उनकी सुरक्षा के लिए पुलिस और डाइवर्स की टीम भी मुस्तैद थी.

# हुडिनी ट्रिक क्या है ?

दरअसल हुडिनी ट्रिक मशहूर जादूगर हैरी हुडिनी के नाम पर पड़ा है. 1899 के दौर में वो ऐसे जादू दिखाया करते थे जो आज की तारीख में भी कोई नहीं कर पाया. चाहे खुद को लॉक करके पानी में कूद जाना, लोहे के बॉक्स में बंद करके जानलेवा स्टंट दिखाना इसके अलावा ना जाने कितने ही एक्ट. हुडिनी के बाद कई जादूगर ने उनके ट्रिक को आजमाने की कोशिश की. जिसमें कुछ सफल हुए तो कुछ असफल.

हैरी हुडिनी तरह-तरह की कई खतरनाक जादू दिखाया करते थे.
हैरी हुडिनी कई तरह की खतरनाक जादू दिखाया करते थे. हुडिनी वाटर स्टंट हैरी हुडिनी के स्टंट से ही प्रेरित था. (तस्वीर- विकिपीडिया)

# हुडिनी ‘वाटर’ ट्रिक क्या है?

हुडिनी के वाटर ट्रिक में जादूगर के हाथ और पैर बांध दिए जाते हैं. हाथ-पैर बांधने के बाद उसमें चेन के साथ ताला भी लगाया जाता है. ताकि किसी भी तरीके से खुले ना. इतना कुछ करने के बाद जादूगर को पानी में डाल दिया जाता है. पानी में डालने के कुछ ही सेकेंड में जादूगर खुद से चेन और हथकड़ी खोलकर पानी के बाहर आ जाता है. अब हैरी हुडिनी पानी के बाहर आने के लिए क्या ट्रिक आज़माया करते थे, ये तो वो ही जाने. लेकिन आज की खबर यही है कि इस ट्रिक को करने के दौरान पश्चिम बंगाल के 40 साल के एक जादूगर चंचल लहरी अपनी जान गंवा बैठे.


वीडियो: राजस्थान में इस गाय को भी कोर्ट कचहरी के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

देश के आधे पुलिसवाले मानकर बैठे हैं कि मुसलमान अपराधी होते ही हैं

पुलिसवाले और क्या सोचते हैं, ये सर्वे पढ़ लो

वो आदमी, जिसने पद्म श्री, पद्म भूषण और पद्म विभूषण ठुकरा दिया था

उस्ताद विलायत ख़ान का सितार और उनकी बातें.

विधानसभा में पॉर्न देखते पकड़ाए थे, BJP ने उपमुख्यमंत्री बना दिया

और BJP ने देश में पॉर्न पर प्रतिबंध लगाया हुआ है.

आईफोन होने से इतनी बड़ी दिक्कत आएगी, ब्रिटेन में रहने वालों ने नहीं सोचा होगा

मामला ब्रेग्जिट से जुड़ा है. लोग फॉर्म नहीं भर पा रहे.

पूर्व CBI जज ने कहा, ज़मानत के लिए भाजपा नेता ने की थी 40 करोड़ की पेशकश

और अब भाजपा के "कुबेर" गहरा फंस चुके हैं.

आशीर्वाद मांगने पहुंचे खट्टर, आदमी ने खुद को आग लगा ली

दो बार मुख्यमंत्री से मिला, फिर भी नहीं लगी नौकरी.

नेटफ्लिक्स पर आने वाली शाहरुख़ की 'बार्ड ऑफ़ ब्लड' में कश्मीर क्यूं खचेर रहा है पाकिस्तान?

पाकिस्तानी आर्मी के प्रवक्ता के बयान पर सोशल मीडिया कहने लगा 'पीछे तो देखो'.

केरल बाढ़ के हीरो आईएएस कन्नन गोपीनाथन ने कश्मीर मसले पर नौकरी छोड़ते हुए ये बातें कही हैं

नौकरी छोड़ दी. अब न कोई सेविंग्स है, न ही रहने को अपना ख़ुद का घर.

धरती पर क्राइम तो रोज़ होते हैं, लेकिन पहली बार अंतरिक्ष में हुए क्राइम की खबर आई है

अंतरिक्ष में रहते क्राइम करने की बात चौंकाती है.

अरुण जेटली नहीं रहे, यूएई से पीएम मोदी ने कुछ यूं किया याद

गौतम गंभीर ने जेटली को पिता तुल्य बताया.