Submit your post

Follow Us

कश्मीर की मस्जिद में लोगों को भड़का रहे लश्कर के आतंकियों का वीडियो सामने आया

947
शेयर्स

कश्मीर में आतंकवाद अपने पैर पसारने की कोशिश करता रहता है. सरकार भी इसका सफाया करने के मौके नहीं छोड़ती. लेकिन मौका पाते ही आतंकवादी अपनी मुहीम तेज़ कर देते हैं. कश्मीर में आतंकवादी किस कदर हावी हैं इसका नमूना पेश करता एक वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में दिख रहा है कि कुछ आतंकी जम्मू कश्मीर के कुलगाम की एक मस्जिद में जमा भीड़ को बरगला रहे हैं. खुलेआम कश्मीर की आज़ादी के नारे लगा रहे हैं. उनके मिशन के लिए लोगों से मदद मांग रहे हैं. बंदूकें लहरा रहे हैं. वीडियो में भारत विरोधी नारे लगते नज़र आ रहे हैं. साथ ही उन लोगों को धमका रहे हैं जो सिक्यूरिटी फोर्सेज के लिए काम करते हैं.

पाकिस्तान का समर्थन करने वाले इन आतंकियों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. इंडिया टुडे से जुड़े पत्रकार अशरफ वानी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में लश्कर तैयेबा के आतंकियों ने लोगों से पैसे भी इकट्ठे किए. लोग भी इन आतंकियों का खुलकर समर्थन कर रहे हैं. उन्हें पैसे आदि की मदद भी कर रहे हैं. आम लोगों का समर्थन ही सुरक्षा बलों के लिए सबसे बड़ी समस्या है.

#एक मूसा मारा, दूसरे तैयार हो रहे हैं

अभी कुछ दिन पहले 23 मई को खबर आई थी कि इंडियन सिक्योरिटी फोर्सेज़ ने आतंकी जाकिर मूसा को मार गिराया है. ये जम्मू कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों पर लगाम लगाने के लिहाज से भारत की बड़ी जीत मानी जा रही थी. नई सरकार के बनते ही जम्मू कश्मीर के सुरक्षा बलों ने देश के टॉप 10 आतंकवादियों की लिस्ट भी तैयार की है. सुरक्षा बलों का दावा है कि वो इस यात्रा के शुरू होने के पहले इन आतंकवादियों का सफाया कर देंगे.

#अभी भी एक्टिव हैं 287 आतंकी

सुरक्षा बलों के मुताबिक फिलहाल कश्मीर घाटी में 287 आतंकी सक्रिय हैं. अमरनाथ यात्रा शुरू होने में अभी वक़्त है.  पिछले पांच महीनों में फोर्सेज ने 101 आतंकियों को ढेर किया है. फिलहाल फोर्सेज की नज़र टॉप 10 आतंकवादियों पर है. 287 एक्टिव आतंकवादियों में से 109 पाकिस्तान के हैं. और 178 कश्मीर के ही हैं. कश्मीर में सबसे ज्यादा आतंकी हिजबुल मुजाहिद्दीन के हैं. इनकी संख्या 103 है. पिछले साल कश्मीर में सिक्यूरिटी फोर्सेज की कार्रवाई में 78 लोकल आतंकी भी मारे गए थे. लश्कर के कमांडर का मानना है कि वो सिक्यूरिटी फोर्सेज की कार्रवाई से कमज़ोर हो रहे हैं. इसके लिए ऐसे अभियान चला रहे हैं ताकि लोगों को रिक्रूट किया जाए. रमजान के महीने में मस्जिदों में लोगों की संख्या ज़्यादा होने के कारण आताकियों का काम और आसान हो गया था. कश्मीर से इस तरह की वीडियो आना खतरे की निशानी है. ऐसा लगता है कि इन्हें सुरक्षा बलों का कोई खौफ नहीं है. अब फोर्सेज की कार्रवाई का इंतजार है.


वीडियो:लोकसभा चुनाव के नतीजों के साथ कश्मीर से आतंकी ज़ाकिर मूसा के मरने की भी खबर आई है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सरकार Facebook से यूजर्स की जानकारी मांग रही है

2 साल में तीन गुनी हुई इमरजेंसी रिक्वेस्ट्स की संख्या.

पुनर्विचार की सभी याचिकाएं खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने रफ़ाल को हरी झंडी दी

राहुल गांधी ने पीएम मोदी को रफ़ाल डील में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए खूब घेरा था.

महाराष्ट्र में नहीं बनी शिवसेना-एनसीपी की सरकार, अब लगेगा राष्ट्रपति शासन

एनसीपी को सरकार बनाने के लिए आज शाम साढ़े आठ बजे तक का समय मिला था.

करतारपुर कॉरिडोर: PM मोदी ने इमरान को शुक्रिया कहा, लेकिन इमरान का जवाब पीएम मोदी को पसंद नहीं आएगा

वहां पर भी कॉरिडोर से ज़्यादा 'विवादित मुद्दे' पर ही बोलता नज़र आया पाकिस्तान.

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: विवादित ज़मीन रामलला को, मुस्लिम पक्ष को कहीं और मिलेगी ज़मीन

जानिए, कोर्ट ने अपने फैसले में और क्या-क्या कहा है...

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.