Submit your post

Follow Us

'आर्टिकल 370' के विरोध में इस्तीफा देने वाले IAS कन्नन गोपीनाथन के खिलाफ चार्जशीट जारी

77
शेयर्स

कन्नन गोपीनाथन ने हाल ही जम्मू और कश्मीर में स्वतंत्रता, अभिव्यक्ति की आज़ादी और मूलभूत अधिकार जैसी वजहों को लेकर इस्तीफा दे दिया था. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कन्नन के खिलाफ चार्जशीट जारी की है. उन पर आरोप है कि उन्होंने सरकारी ऑर्डर का पालन नहीं किया. कन्नन ने ट्वीट करके बताया है कि उन पर 5 पॉइंट्स में आरोप लगाए हैं.

Kannan Tweet
कन्नन ने ट्वीट करके जानकारी दी है. (फोटो: Twiter | naukarshah)

चार्जशीट में उन पर वक्त पर फाइल नहीं जमा करने, बिजली की अंडरग्राउंड केबल बिछाने और बिजली के खंभे शिफ्ट करने के काम में देरी होना शामिल है. 2018 में केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों में आधिकारिक दौरे की रिपोर्ट आला अधिकारियों को नहीं देने और प्रधानमंत्री अवॉर्ड के लिए नामांकन से संबंधित फाइल वक्त रहते जमा नहीं करने और कई मौकों पर अपने कंट्रोलिंग अफसर को जानकारी दिए बिना फाइल्स प्रशासन के पास जमा कराने के आरोप लगाए गए हैं.

कन्नन ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए कहा-

कार्यकाल के दौरान मेरी परफॉर्मेंस बहुत अच्छी थी और अथॉरिटीज ने इसे अप्रूवल भी दिया था. 2017-18 में 10 पॉइंट वाले एनुअल परफॉर्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट में एडमिनिस्ट्रेटर ने मुझे 9.95 पॉइंट्स दिए थे. यह अप्रेजल रिपोर्ट 24 दिसंबर 2018 को सबमिट की गई थी, जिसे केंद्रीय गृह मंत्रालय ने स्वीकार किया था.

कन्नन ने आगे कहा-

मैंने अपने पॉइंट्स को लिख कर जवाब दे दिया है. करीब ढाई महीने महीने पहले मैंने नौकरी से इस्तीफा दिया था और अब मेरे इस्तीफे की प्रोसेसिंग की जगह वह चार्जशीट भेज रहे हैं. मुझे नहीं पता इसके पीछे क्या कारण है. प्रधानमंत्री अवॉर्ड के लिए आवेदन नहीं करने पर इससे पहले कभी भी किसी अधिकारी के खिलाफ चार्जशीट नहीं दायर किया गया.

कन्नन ने 23 अगस्त को अपने इस्तीफे का ऐलान किया था. इसके पीछे उन्होंने कश्मीर घाटी में सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों को कारण बताया था. रेज़िगनेशन देते हुए उन्होंने कहा था-

दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र ने एक राज्य (जम्मू-कश्मीर) को बंद कर दिया और लोगों के मौलिक अधिकारों का हनन तक किया. आगे चलकर अगर कोई पूछे कि ऐसे वक़्त में मैं क्या कर रहा था. तब मेरे पास देने के लिए कम-से-कम ये एक जवाब तो होगा कि मैंने अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया था.


वीडियो- केरल का वो IAS अफसर जिसने इस्तीफा दिया, कश्मीर के हालात को वजह बताकर

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.

US ने जारी किया विडियो, देखिए कैसे लादेन स्टाइल में किया गया बगदादी वाला ऑपरेशन

अमेरिका ने इस ऑपरेशन से जुड़े तीन विडियो जारी किए हैं.

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

अमेठी: पुलिस हिरासत में आरोपी की मौत, 15 पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज

मौत कैसे हुई? मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

PMC खाताधारकों ने बीजेपी नेता को घेरा, तो पुलिस ने उन्हें बचाकर निकाला

RBI के साथ मीटिंग करने पहुंचे थे.

इस विदेशी सांसद को कश्मीर आने का न्योता दिया फिर कैंसल कर दिया, वजह हैरान करने वाली है

सांसद ने ऐसी शर्त रख दी थी कि विदेशी डेलिगेशन का हिस्सा नहीं बन पाए.