Submit your post

Follow Us

जिसे टीम में लाने के लिए इंग्लैंड ने नियमों में चालाकी दिखाई, उसने कोहली को लेकर इरादे साफ कर दिए हैं

442
शेयर्स

आखिरकार इंग्लैंड क्रिकेट वर्ल्ड कप टीम में उस बॉलर को जगह मिल ही गई जिसके लिए सारी जुगत हो रही थी. कैरीबियाई आइलैंड के बारबेडोस में पैदा हुए जोफ्रा आर्चर को इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने देखते ही अपनी टीम में शामिल करने का फैसला कर लिया था. 24 साल के जोफ्रा को इंग्लैंड टीम में आखिरी मौके पर शामिल किया गया है. अभी इसी महीने जोफ्रा को इंग्लैंड की वनडे और टी20 टीम में शामिल किया गया था. डेविड विली को टीम से बाहर किया गया है.

आर्चर की मां बारबेडोस से हैं और पिता यूके से. इन्हें टीम में लाने के लिए ईसीबी ने अपने रेजीडेंसी रूल तक बदल दिए हैं. पहले इंग्लैंड टीम में शामिल होने के लिए कम से कम 7 साल के लिए यूके में पहला जरूरी था जिसे घटाकर 3 साल कर दिया गया. इसके लिए इंग्लैंड टीम के ही कई खिलाड़ियों समेत पूर्व इंग्लिश खिलाड़ियों ने भी जोफ्रा को इस तरफ टीम में लाए जाने का विरोध किया था. मगर इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड को पता है कि ये खिलाड़ी उनके लिए वर्ल्ड कप में कितना बड़ा दांव हो सकता है. इसके बाद एशेज सीरीज में भी ऑस्ट्रेलिया से निपटने के लिए भी आर्चर तुरुप का इक्का साबित हो सकते हैं.

खैर, जोफ्रा का नाम वर्ल्ड कप टीम में आ गया और इस पेसर ने आते ही जो कहा वो भी सुनने लायक है. आर्चर ने कहा, “मेरा ध्यान वर्ल्ड कप में विराट कोहली का विकेट निकालने पर रहेगा क्योंकि आईपीएल में भी मैं विराट कोहली को आउट नहीं कर पाया था. हर बार उन्हें लेग स्पिनर्स आउट कर ले जा रहे थे.” साथ ही आर्चर ने क्रिस गेल को भी आउट करने को अपनी प्राथमिकता बताया है. आर्चर ने कहा,” आईपीएल में खेलने का काफी फायदा मिला है. मुझे बड़े बड़े बल्लेबाजों की कमजोरी और ताकत पता चली है. इसका फायदा वर्ल्ड कप में मिलेगा.” इंडिया और इंग्लैंड के बीच मैच 30 जून को  है. इतना तो पक्का है कि विराट कोहली भी जोफ्रा के खिलाफ अपनी तैयारी पुख्ता करके ही मैदान पर उतरेंगे. देखना दिलचस्प होगा कि कोहली को इस बार इंग्लैंड में जेम्स एंडरसन की गैरमौजूदगी में कौन आउट करता है.

जोफ्रा इंग्लैंड सिर्फ काउंटी क्रिकेट खेलने आए थे. यहां की क्रिकेट में इतना रच बच गए हैं कि अब यहीं के होकर रह गए हैं. मगर यहां के खिलाड़ियों के लिए जोफ्रा अभी भी बाहरी ही हैं. पहले कोई भी खिलाड़ी 18 साल की उम्र के बाद यदि यूके आता था तो उसे कम से कम 7 साल यहां बिताने होते थे, तभी वो इंग्लैंड के लिए खेलने के योग्य माना जाता था. मगर फिर ईसीबी ने इस रूल को बदल कर 3 साल कर दिया. इस लिहाज से जोफ्रा आर्चर 2015 में यहां आए थे और अब तीन साल यहां पूरे कर चुके हैं. यूके में क्रिकेट के कानूनों में ढील खुद ईसीबी ने दी है.


लल्लनटॉप वीडियो भी देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इमरान खान की भयानक बेज्ज़ती बिजली विभाग के क्लर्क ने कर दी है

सोचा होगा, 'हमरा एक्के मकसद है, बदला!'

जज साहब ने भ्रष्टाचार पर जजों का धागा खोला, मगर फिर जो हुआ वो बहुत बुरा है

कहानी पटना हाईकोर्ट के जज राकेश कुमार की, जो चारा घोटाले के हीरो हैं.

अयोध्या में बाबरी मस्जिद को बाबर ने बनवाया ही नहीं?

ये बात सुनकर मुग़लों की बीच मार हो गयी होती.

पेरू में लगभग 250 बच्चों की बलि चढ़ा दी गयी और लाशें अब जाकर मिली हैं

खुदाई करने वालों ने जो कहा वो तो बहुत भयानक है

देश के आधे पुलिसवाले मानकर बैठे हैं कि मुसलमान अपराधी होते ही हैं

पुलिसवाले और क्या सोचते हैं, ये सर्वे पढ़ लो

वो आदमी, जिसने पद्म श्री, पद्म भूषण और पद्म विभूषण ठुकरा दिया था

उस्ताद विलायत ख़ान का सितार और उनकी बातें.

विधानसभा में पॉर्न देखते पकड़ाए थे, BJP ने उपमुख्यमंत्री बना दिया

और BJP ने देश में पॉर्न पर प्रतिबंध लगाया हुआ है.

आईफोन होने से इतनी बड़ी दिक्कत आएगी, ब्रिटेन में रहने वालों ने नहीं सोचा होगा

मामला ब्रेग्जिट से जुड़ा है. लोग फॉर्म नहीं भर पा रहे.

पूर्व CBI जज ने कहा, ज़मानत के लिए भाजपा नेता ने की थी 40 करोड़ की पेशकश

और अब भाजपा के "कुबेर" गहरा फंस चुके हैं.

आशीर्वाद मांगने पहुंचे खट्टर, आदमी ने खुद को आग लगा ली

दो बार मुख्यमंत्री से मिला, फिर भी नहीं लगी नौकरी.