Submit your post

Follow Us

चंद्रयान 2 : ISRO चीफ के. सिवन ने बताया कि लैंडर 'विक्रम' के साथ क्या हादसा हुआ?

2.57 K
शेयर्स

के सिवन. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान यानी कि ISRO के मुखिया हैं. उन्हीं की देखरेख में ISRO की टीम चंद्रयान 2 पर काम कर रही थी. सब कुछ ठीक था. चंद्रयान 2 से उसका ऑर्बिटर अलग होकर चंद्रमा के चक्कर काटने लगा था. लैंडर विक्रम चांद की सतह पर उतरने की तैयारी कर रहा था. लेकिन 6 सितंबर की देर रात 1:48 पर विक्रम से ISRO का संपर्क टूट गया. सब निराश हो गए. के सिवन भी. इतने निराश हुए कि पीएम मोदी के गले लगकर रो पड़े. पीएम ने उन्हें हौसला दिया. और कहा कि कामयाबी ज़रूर मिलेगी.

ये बेहद भावुक क्षण था.
ये बेहद भावुक क्षण था.

7 सितंबर का पूरा दिन बीता. रात के करीब 8 बजे ISRO के मुखिया के सिवन ने डीडी न्यूज़ से पहली बार इस मुद्दे पर खुलकर बात की. बोले-

इस मिशन के दो हिस्से थे. पहला था विज्ञान का और दूसरा था तकनीक का. विज्ञान वाला हिस्सा ऑर्बिटर का था और उसने अपना काम पूरा किया है. तकनीक के प्रदर्शन वाला हिस्सा लैंडर का था. हम उसे 35 किमी की दूरी से दो किमी की दूरी तक लाए. कुल मिलाकर देखें तो ये मिशन करीब 99 फीसदी तक सफल रहा है.

लैंडर का क्या होगा. क्या वो अब भी सुरक्षित है. के सिवन ने इसका भी जवाब दिया. बोले-

‘विक्रम लैंडर से संपर्क की कोशिश जारी है. हम अगले 14 दिनों तक ये कोशिश करते रहेंगे, क्योंकि उसकी लाइफ 14 दिनों तक है.’

क्या चंद्रयान 2 अपना काम करना जारी रखेगा. के सिवन बोले-

‘लैंडर के साथ संपर्क टूटने के बाद भी चंद्रयान 2 काम करना जारी रखेगा. विक्रम लैंडर चंद्रमा की सतह से 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई तक सामान्य तरीके से नीचे उतरा. इसके बाद लैंडर का धरती से संपर्क टूट गया. लैंडर के लैंड करने का जो आखिरी हिस्सा था, वो ठीक तरह से काम नहीं कर पाया और हमारा संपर्क टूट गया.’

ऑर्बिटर के बारे में बात करते हुए के सिवन बोले-

‘चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर लगभग 7.5 साल तक काम कर सकता है. भारत के मिशन गगनयान समेत इसरो के सारे मिशन हम तय वक्त पर पूरा करेंगे.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हौसलाअफजाई पर ISRO चीफ बोले-

प्रधानमंत्री की बातों से टीम का हौसला बढ़ा है. ISRO में मौजूद बच्चे हार मानने को तैयार नहीं थे, लेकिन वो बच्चे हैं. उनका नज़रिया साफ होता है. मैं उनकी सोच से बिल्कुल इत्तेफाक रखता हूं.

इसरो चीफ के सिवन ने इस मिशन के बारे में और भी कई जानकारियां दीं. जैसे ऑर्बिटर में दुनिया का सबसे बेहतरीन कैमरा लगा है, जो चांद की तस्वीरें खींचेगा.  इस मिशन को बेहद मुश्किल मिशन करार देते हुए के सिवन ने कहा कि ऐसी बाधाएं आने से मिशन पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. हम अपना काम जारी रखेंगे और भविष्य के जो भी मिशन हैं, हम उनको तय वक्त पूरा करेंगे.

फिलहाल ISRO चीफ की इन बातों से एक उम्मीद बंधी है. कि शायद हमारे वैज्ञानिक फिर से लैंडर से संपर्क कर सकें. वो चांद की सतह पर अपनी खोज जारी रख सके. और हमारा मिशन 99 फीसदी नहीं, 100 फीसदी कामयाब हो.


चंद्रयान 2 के लैंडर विक्रम की लैंडिंग के बारे में इसरो चीफ के सिवन ने क्या कहा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

गणपति विसर्जन करने गए थे, झील में नाव पलटी और 11 लोग मर गए

खुशी का माहौल मातम में बदल गया.

सोच रहे हैं कि बच्चे को गोद में लेकर चलेंगे और चालान न होगा, तो ये जानकारी आपके लिए है

'ट्रिपलिंग' को लेकर एक बहुत बड़ा कन्फ्यूजन हो गया है.

CRPF की इस असिस्टेंट कमांडेंट ने अजनबी बुजुर्ग के लिए जो किया वो दिल जीत लेगा

छुट्टियां खत्म हो रही थीं तो देखभाल की जिम्मेदारी अपनी मां को सौंप दी.

अर्थव्यवस्था को मंदी से निकालने के लिए मनमोहन सिंह ने दिए पांच मंत्र

सिंह ने कहा कि सरकार को मान लेना चाहिए कि हम आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं.

अमेरिकन कपल ने IVF पर 3 करोड़ खर्च किये, बेटी पैदा हुई लेकिन उनकी नहीं थी

अब उस क्लिनिक पर केस कर दिया है, जहां से ट्रीटमेंट लिया था.

पीयूष गोयल का इतना भयानक मज़ाक कभी नहीं उड़ा होगा

इतना कि लोग निर्मला सीतारमण को भूल जाएंगे.

अफ्रीका टेस्ट सीरीज़ के लिए टीम का ऐलान, फर्स्ट क्लास का कोहली आया टीम में

रोहित शर्मा का ओपनिंग करने का रास्ता भी साफ हो गया है.

सरकार ने विज्ञापन पर जितने करोड़ खर्चे हैं, उतने तो चंद्रयान-2 और मिशन मंगल मिलाकर भी नहीं हुए थे

और ये आंकड़ा सिर्फ अखबारों को दिए गए विज्ञापनों का है. टीवी, रेडियो, डिजिटल का अलग से है.

'दो टकिया की नौकरी' से 'लाखों का सावन' बचाने के लिए पुलिसवाले ने इस्तीफ़ा दिया

पुलिस में होने के की वजह से कोई लड़की शादी को नहीं राज़ी थी.

पटना में महिला का चालान कट रहा था, लोग पुलिस को पत्थर मारने लगे

भीड़ हटाने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज किया.