Submit your post

Follow Us

डॉक्टरों ने कहा- क्वारंटीन करना पड़ेगा, तो पूरे मोहल्ले ने पत्थर मारते हुए दौड़ा लिया

मध्यप्रदेश का इंदौर शहर कोरोना वायरस का हॉट स्पॉट बनता जा रहा है. हॉट स्पॉट मतलब वो जगह, जहां से इंफेक्शन के काफी ज़्यादा केस सामने आ रहे हैं. 1 अप्रैल को शहर से 13 पॉजिटिव केस सामने आए, जिनमें शहर के एमवाई हॉस्पिटल के एक डॉक्टर भी शामिल हैं. अब तक कुल 76 पेशेंट मिल चुके हैं.

लेकिन इन सबके बीच इंदौर की जनता का डॉक्टरों और जिला प्रशासन की टीमों के साथ ख़राब बर्ताव जारी है. 1 अप्रैल को शहर के टाटपट्टी बाखल और सिलावटपुरा इलाके में कोरोना इंफेक्टेड लोगों की जांच करने गई टीमों पर लोगों ने पथराव कर दिया. पुलिस मौके पर मौजूद थी, इसलिए टीम को किसी तरह वहां से सुरक्षित निकाला जा सका.

ये वीडियो टाटपट्टी बाखल का है. यहां मेडिकल टीम एक बुज़ुर्ग महिला की जांच करने गई थी, जो कोरोना संदिग्ध थीं. उन्हें चेकअप और क्वारंटीन के लिए साथ ले जाने की बात होने लगी तो पूरे मोहल्ले ने मिलकर मेडिकल टीम को दौड़ा लिया. पत्थर फेंके, गालियां दीं. टीम किसी तरह जान बचाकर वहां से भागी.

टाटपट्टी बाखल शहर के रानीपुरा इलाके में आता है. इंदौर मे सबसे ज़्यादा केस यहीं से आ रहे हैं.

रानीपुरा से ऐसा दूसरा मामला

इससे पहले 29 मार्च को आशा वर्कर्स और डॉक्टर्स की टीम रानीपुरा पहुंची थी. बाहरी तरफ पुलिस के जवान बैरिकेडिंग के पास खड़े थे. अंदर जहां लोग रहते हैं, वहां डॉक्टर और आशा वर्कर गए. कोरोना के लक्षण वालों का पता लगाने. लेकिन लोगों ने साथ देने से मना कर दिया. कहा, ‘दवा लाए हो या ज़हर. हमें नहीं करानी जांच-वांच. दफा हो जाओ.’ किसी ने कहा, ‘सारी डॉक्टरी भुला देंगे.’ कुछ लोग डॉक्टरो के सामने ही थूकने लगे. बाद में पुलिस को साथ लाया गया, तब कहीं जाकर लोगों का चेकअप हो पाया.

मध्यप्रदेश से कुल 98 केस

मध्यप्रदेश से अब तक कुल 98 कोरोना वायरस पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं. इनमें से 76 केस तो इंदौर से ही हैं. आठ केस जबलपुर से और छह उज्जैन से भी हैं.


इंदौर में होने वाले IIFA 2020 को लगा कोरोना वायरस से झटका

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

तीन महीने की EMI टालने की सोच रहे हैं ये बातें जान लीजिए

मोराटोरियम की वजह से आपको घाटा होगा या फायदा.

'मरने के लिए मस्जिद से अच्छी जगह नहीं हो सकती', कहने वाले मौलाना साद ने अब क्या कहा है?

तबलीगी जमात के प्रमुख हैं मौलाना साद.

सिर्फ दिल्ली ही नहीं, मलेशिया में हुई तबलीगी जमात से कोरोना के लिंक भारत से जुड़े हैं!

30 देशों के करीब 16,000 लोग एक जगह इकट्ठा हुए थे.

दिल्ली के तबलीग़ी जमात में कब क्या हुआ? कैसे मरकज़ में कोरोना के मामले बढ़ते गए?

जानिए पूरी टाइमलाइन.

इस राज्य ने च्यूइंग गम खाने पर भी बैन लगा दिया है, कहा- इससे भी फैल सकता है कोरोना

तीन महीने तक च्यूइंग गम बेचने, खरीदने, खाने सब पर बैन.

युवराज ने आखिरकार बता ही दिया किस कप्तान ने उन्हें सबसे ज्यादा सपोर्ट किया

इस बार धोनी और विराट पर खुलकर बोले हैं युवी

रामायण की सीता बन घर-घर फेमस हुईं दीपिका अब इस बड़ी हस्ती का रोल निभाएंगी

वो महिला जो भारत की आजादी के लिए गांधीजी के साथ कदम से कदम मिलाकर चलीं.

कोरोना के लिए जोस बटलर ने अपनी ऐसी चीज़ नीलाम कर दी कि लोग बढ़-चढ़कर बोली लगा रहे हैं

पहले खेल से और अब इस शानदार पहल से जोस बटलर ने दिल जीत लिया.

इंडिया में जितने यूज़र हैं, उसकी चौगुनी मदद Tik Tok कोरोना से लड़ने के लिए कर रहा है

इस मदद से हजमैट सूट और मास्क की दिक्कत काफी कम हो जाएगी.

लॉकडाउन में घर से बाहर निकलने के लिए 'डॉक्टर' बन गया फिर जो हुआ हमेशा याद रहेगा

आप ऐसा न करें नहीं तो कानूनी पचड़े में फंस जाएंगे