Submit your post

Follow Us

कोटकपूरा फायरिंग: पंजाब के पूर्व CM प्रकाश सिंह बादल को SIT ने जांच के लिए तलब किया

प्रकाश सिंह बादल. पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री और शिरोमणि अकाली दल के संरक्षक. श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के बाद हुए कोटकपूरा फायरिंग मामले की जांच के लिए गठित नई SIT (स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम) ने समन भेजा है. उन्हें 16 जून को पेश होने के लिए कहा गया है.

प्रकाश सिंह बादल उस समय पंजाब के मुख्यमंत्री थे जब श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के बाद 14 अक्टूबर 2015 को पुलिस की ओर से कोटकपूरा फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई थी औऱ कई घायल हुए थे. फायरिंग के आदेश किसने दिए इसकी जांच के लिए बादल को तलब किया गया है.

नोटिस में लिखा है,

आपको उपरोक्त मामले में जांच के लिए मोहाली में PSPCL रेस्ट हाउस में 16 जून 2021 को सुबह 10.30 बजे SIT के सामने प्रासंगिक रिकॉर्ड के साथ व्यक्तिगत रूप से पेश होने के लिए कहा जाता है.

पिछली SIT की जांच को रद्द करने के बाद पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट के निर्देश पर गठित नई SIT का नेतृत्व ADG रैंक के अधिकारी एलके यादव कर रहे हैं. 9 अप्रैल को न्यायमूर्ति राजबीर सहरावत की बेंच ने कुंवर विजय प्रताप सिंह द्वारा दायर जांच और चार्जशीट को रद्द कर दिया था. इस SIT का गठन सितंबर 2018 में कैप्टन अमरिंदर सरकार द्वारा किया गया था.

हाईकोर्ट द्वारा पुरानी SIT की जांच और SIT को रद्द किए जाने के बाद पूर्व आइजी कुंवर विजय प्रताप ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली थी. इसके बाद एलके यादव की अध्यक्षता में नई SIT का गठन किया गया.

पुरानी SIT भी कर चुकी है पूछताछ

पुरानी SIT ने नवंबर 2018 में पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल से पूछताछ की थी.इस पूछताछ के दौरान भी हाईप्रोफाइल ड्रामा हुआ था. जब कुंवर विजय प्रताप अकेले ही पूर्व मुख्यमंत्री के आवास पर पूछताछ करने के लिए पहुंच गए थे. इस पर बादल ने उन्हें अपने सीनियर अधिकारियों को बुलाने के लिए कहा था. बाद में कुंवर ने SIT प्रमुख प्रबोध कुमार को बुलाया था. तब जाकर 45 तक मिनट तक SIT ने बादल से पूछताछ की थी.

इन लोगों से हो चुकी है पूछताछ

एलके यादव की अध्यक्षता वाली SIT पहले ही पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी और पंजाब पुलिस के कई अन्य अधिकारियों से पूछताछ कर चुकी है. इसमें तत्कालीन डीआइजी रणबीर सिंह खटरा भी शामिल हैं, जिन्होंने गुरु ग्रंथ साहिब की चोरी और बेअदबी में डेरा अनुयायियों की गिरफ्तारी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. SIT ने सैनी, तत्कालीन आइजी परमराज सिंह उमरानंगल (जिन्हें बाद में निलंबित कर दिया गया था) और तत्कालीन मोगा एसएसपी चरणजीत शर्मा पर लाई डिटेक्टर टेस्ट करने के लिए फरीदकोट ट्रायल कोर्ट के समक्ष एक आवेदन प्रस्तुत किया है.

क्या है मामला?

साल 2015. पंजाब का फरीदकोट ज़िला. ज़िले के बुर्ज जवाहर वाला गांव में श्री गुरु ग्रंथ साहिब की चोरी हुई. 12 अक्टूबर 2015 को फरीदकोट के ही बरगाड़ी गांव में गुरु ग्रंथ साहिब के कुछ फटे हुए पन्ने मिले. यहीं से ये मामला पहली बार लोगों की नज़र में आया. क्योंकि जो फाड़े गए वो कोई मामूली पन्ने नहीं थे. पन्ने फाड़े जाने के बाद कई जगह विरोध प्रदर्शन हुए. 14 अक्टूबर 2015 को फरीदकोट के बेहबल कलां में हुए ऐसे ही एक विरोध प्रदर्शन में पुलिस से झड़प के दौरान 2 लोग मारे गए और एक गंभीर रूप से घायल हुआ. कोटकपूरा में हुए पुलिस लाठीचार्ज में भी काफी लोगों को गंभीर चोटें आईं. इसकी जांच के लिए तत्कालीन प्रकाश सिंह बादल सरकार ने जांच कमीशन बनाने के आदेश दिए. मृतकों के लिए एक करोड़ का मुआवज़ा भी दिया गया. बाद में इस मामले में कई लोगों के गिरफ्तार किया गया था. 2017 में पंजाब विधानसभा के चुनाव हुए और अकाली सरकार चली गई. इसके बाद कांग्रेस की सरकार बनी. और सरकार ने जांच आगे बढ़ाई. हालांकि पुरानी SIT की रिपोर्ट हाईकोर्ट ने खारिज कर नई SIT बना दी.


पंजाब चुनाव के पहले अकाली दल और BSP के गठबंधन में किसे कितनी सीटें मिलीं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सेना के इतिहास से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने की पॉलिसी को मंजूरी

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब के अलावा बाकी चुनाव भी साथ लड़ने की घोषणा.

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

मुकुल रॉय को बराबर में बिठाकर ममता बनर्जी किन गद्दारों पर भड़कीं?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

पहले TV डिबेट में बोला, फिर फेसबुक पर पोस्ट लिखा.

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद शरीर से सिक्के-चम्मच चिपकने के दावों में कितना सच?

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद शरीर से सिक्के-चम्मच चिपकने के दावों में कितना सच?

क्या शरीर में वाकई चुंबकीय शक्ति पैदा हो जाती है?

पावर बैंक ऐप, जिसने 15 दिन में पैसे डबल करने का झांसा दे 4 महीने में 250 करोड़ उड़ा लिए

पावर बैंक ऐप, जिसने 15 दिन में पैसे डबल करने का झांसा दे 4 महीने में 250 करोड़ उड़ा लिए

पैसा शेल कंपनियों में लगाते, फिर क्रिप्टोकरंसी बनाकर विदेश भेज देते थे.

भूटान के बाद अब नेपाल ने पतंजलि की कोरोनिल दवा बांटने पर रोक क्यों लगा दी?

भूटान के बाद अब नेपाल ने पतंजलि की कोरोनिल दवा बांटने पर रोक क्यों लगा दी?

नेपाल के अधिकारियों ने IMA के उस लेटर का भी हवाला दिया है, जिसमें कोरोनिल को लेकर रामदेव को चुनौती दी गई थी.

दक्षिण में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ीं, कर्नाटक और केरल में टॉप नेता सवालों में क्यों हैं?

दक्षिण में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ीं, कर्नाटक और केरल में टॉप नेता सवालों में क्यों हैं?

मामला इतना बढ़ गया कि बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व को दखल देना पड़ा है.

आसिफ को भीड़ ने पीटकर मार डाला तो आरोपियों की रिहाई के लिए महापंचायतें क्यों हो रही हैं?

आसिफ को भीड़ ने पीटकर मार डाला तो आरोपियों की रिहाई के लिए महापंचायतें क्यों हो रही हैं?

करणी सेना के नेता धमकी दे रहे- जो भी हमें रोकेंगे, उन्हें ठोक देंगे.

तमिल नेता ने अमेज़न से कहा 'फैमिली मैन 2' को बंद करो, वरना...

तमिल नेता ने अमेज़न से कहा 'फैमिली मैन 2' को बंद करो, वरना...

अमेज़न प्राइम वीडियो की हेड को लेटर लिख दी है खुली चेतावनी.