Submit your post

Follow Us

नोटबंदी के फैसले को लागू करने से 'अपमानित' हो गए RBI के एम्प्लॉइज

नोटबंदी का फैसला सही था या गलत. ये एक लंबी बहस है. जहां लोग इसको एक साहसिक कदम, अच्छा फैसला बता रहे हैं, वहीं इस बात में भी सच है कि अभी तक बैंकों में कतारें लग रही हैं. काम धंधे चौपट हो गए. मीडिया हाउसेस में ही छटनी की ख़बरें सुनने में आ रही हैं. बाकी जगह की तो बात ही छोड़िए. और सबसे बड़ी बात ,जिसके लिए नोटबंदी का फैसला हुआ उसको भी ज्यादा फायदा नहीं मिला. क्योंकि जाली नोट, नए वाले नोटों के भी छपने लगे और जितना काला धन बताया जा रहा था वो छटांकभर निकलने की खबर है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पुराने 14 लाख करोड़ रुपये बैंकों में जमा हो गए और महज़ पुराने 75 हजार करोड़ रुपये नहीं आ पाए. ये बातें इसलिए याद दिलानी पड़ीं, क्योंकि नोटबंदी के इस फैसले के बाद हुए घटनाक्रमों से भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के एम्प्लॉइज खुद को ‘अपमानित’ महसूस कर रहे हैं. उन्होंने RBI गवर्नर उर्जित पटेल को एक चिट्ठी लिखकर अपना विरोध दर्ज कराया है.

नोटबंदी का फैसला हुआ और न जाने कितनी बार आरबीआई ने अपनी गाइडलाइन बदलीं, नहीं मालूम. लोगों की दिक्कतें कम नहीं हुईं. किसी को अपने बच्चों की शादी के लिए कैश जुटाने में दिक्कत हुई. तो किसी ने कतार में दम तो दिया. तो किसी को पैसे न मिलने की वजह से टाइम पर इलाज नहीं मिल पाया. कई दुखद ख़बरें सामने आईं. जिसने नोटबंदी के फैसले पर सवाल खड़े किए.

आरबीआई के एम्प्लॉइज ने नोटबंदी के फैसले को लागू करने में कुप्रबंधन और सरकार की तरफ से करंसी जुटाने के लिए एक अफसर की नियुक्ति कर केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता को चोट पहुंचाने का विरोध किया है. कहा गया है कि कुप्रबंधन से आरबीआई की इमेज और आज़ादी को इतना नुकसान पहुंचा है कि उसे दुरुस्त कर पाना बहुत मुश्किल है.

एम्प्लॉइज ने उर्जित पटेल को जो ख़त लिखा है, उसमें कहा है, ‘इस कुप्रबंधन से आरबीआई की छवि और स्वायत्तता को ‘इतना नुकसान पहुंचा है कि उसे दुरुस्त करना काफी मुश्किल है. करंसी मैनेजमेंट के आरबीआई के स्पेशल काम के लिए फाइनेंस मिनिस्ट्री के एक सीनियर अफसर की तैनाती खुल्लमखुल्ला अतिक्रमण है. रिजर्व बैंक की काबिलियत और स्वायत्तता वाली इमेज उसके एम्प्लॉइज की सालों की मेहनत से बनी थी, लेकिन इसे एक ही झटके में खत्म कर दिया गया. यह बेहद दुखद है.’

चिट्ठी यूनाइटेड फोरम ऑफ रिजर्व बैंक ऑफिसर्स एंड एम्प्लॉइज की ओर से लिखी गई है. चिट्ठी पर ऑल इंडिया रिजर्व बैंक एम्प्लॉइज एसोसिएशन के समीर घोष, ऑल इंडिया रिजर्व बैंक वर्कर्स फेडरेशन के सूर्यकांत महादिक, ऑल इंडिया रिजर्व बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन के सी. एम. पॉलसिल और आरबीआई ऑफिसर्स एसोसिएशन के आर. एन. वत्स के साइन हैं. इनमें से समीर घोष और महादिक ने चिट्ठी लिखने की बात पर हामी भरी है. घोष का कहना है कि यह फोरम केंद्रीय बैंक के 18,000 एम्प्लॉइज का प्रतिनिधित्व करता है.

शायद आपको याद हो इससे पहले आरबीआई के तीन फॉर्मर गवर्नर मनमोहन सिंह (फॉर्मर पीएम भी), वाईवी रेड्डी और विमल जालान ने रिजर्व बैंक के कामकाज के तरीकों पर सवाल उठाया था. केंद्रीय बैंक के फॉर्मर डिप्टी गवर्नर उषा थोराट और केसी चक्रवर्ती ने भी इस पर चिंता जताई थी.

अबतक विपक्ष की तरफ से ही नोटबंदी के फैसले को लेकर हंगामा किया जाता रहा है. और नोटबंदी के फैसले को गलत बताया जाता रहा है. अब उसके लागू करने के तरीकों को लेकर हुई बदइंतजामी से आरबीआई के एम्प्लॉइज का खुद को अपमानित महसूस करना सोचने वाली बात है. जिससे नोटबंदी पर मन में कई सवाल जन्म लेते हैं. जिनके जवाब साफ़ तौर पर शायद ही मिलें.


 

नोटबंदी का फैसला किसका था, जानने के लिए अक्कड़-बक्कड़ करें?

‘RBI गवर्नर से पूछा गया, आपको पद से क्यों न हटाया जाए और मुकदमा चले?’

जानिए क्यों उर्जित पटेल ने नहीं, नरेंद्र मोदी ने नोट बैन का ऐलान किया

यहां 500-1000 के पुराने नोटों पर मिल रहा है 10 परसेंट एक्स्ट्रा!

सोनम गुप्ता से पहले ये बन चुके हैं ‘नोट लेखकों’ का निशाना

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

दिल्ली में कार लेने पर डेढ़ लाख और बाइक पर मिलेगी 30 हज़ार की छूट!

सीएम अरविंद केजरीवाल ने यह ऐलान किया है.

ICC ने बताया, भारत और ऑस्ट्रेलिया में से कौन होस्ट करेगा T20 वर्ल्ड कप 2021

2022 के T20 वर्ल्ड कप पर भी हुआ फैसला.

केरल: रनवे से फिसलकर दो टुकड़ों में बंटा एयर इंडिया का विमान, पायलट सहित तीन की मौत

वंदे भारत मिशन के अंतर्गत दुबई से 191 यात्रियों को लेकर आ रहा था विमान.

दिशा सालियान की मौत वाली रात क्या हुआ था? वॉट्सऐप मैसेज से हुआ खुलासा

दिशा की मौत सुशांत से पांच दिन पहले हुई थी.

तैयार हो जाइये! टीम इंडिया अगले साल किस-किस से भिड़ेगी, पता चल गया है

अगले साल होने वाले T20 वर्ल्डकप को लेकर आ गया बड़ा अपडेट.

सर्वे: कितने प्रतिशत भारतीय मानते हैं कि भारत को चीन के साथ युद्ध करना चाहिए?

इंडिया टुडे और कार्वी इनसाइट्स के मूड ऑफ द नेशन सर्वे में लोगों ने क्या बताया?

8 साल पुराना मामला, जिसमें SC ने केंद्र से कहा- इटली से मुआवजा दिलवाओ, तब केस बंद होगा

इटली के नौसैनिकों ने भारतीय मछुआरों को मारा था.

यशराज की बवाल एक्शन फिल्म 'पठान' से वापसी करने जा रहे हैं शाहरुख खान

'पठान' में शाहरुख के साथ चौथी बार दीपिका पादुकोण नज़र आ सकती हैं.

लगातार दूसरे दिन पानी पिलाने पहुंचे सरफराज़, मिस्बाह ने बताया क्यों करवा रहे हैं ऐसा!

ब्रैडमेन, पोन्टिंग, धोनी की लिस्ट में शामिल हुए सरफराज़ अहमद.

रिया ने बीते एक साल में किसे और कितनी बार कॉल किया, पता चल गया है

रिया की कॉल डिटेल्स सामने आई हैं.