Submit your post

Follow Us

नोटबंदी के फैसले को लागू करने से 'अपमानित' हो गए RBI के एम्प्लॉइज

5
शेयर्स

नोटबंदी का फैसला सही था या गलत. ये एक लंबी बहस है. जहां लोग इसको एक साहसिक कदम, अच्छा फैसला बता रहे हैं, वहीं इस बात में भी सच है कि अभी तक बैंकों में कतारें लग रही हैं. काम धंधे चौपट हो गए. मीडिया हाउसेस में ही छटनी की ख़बरें सुनने में आ रही हैं. बाकी जगह की तो बात ही छोड़िए. और सबसे बड़ी बात ,जिसके लिए नोटबंदी का फैसला हुआ उसको भी ज्यादा फायदा नहीं मिला. क्योंकि जाली नोट, नए वाले नोटों के भी छपने लगे और जितना काला धन बताया जा रहा था वो छटांकभर निकलने की खबर है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पुराने 14 लाख करोड़ रुपये बैंकों में जमा हो गए और महज़ पुराने 75 हजार करोड़ रुपये नहीं आ पाए. ये बातें इसलिए याद दिलानी पड़ीं, क्योंकि नोटबंदी के इस फैसले के बाद हुए घटनाक्रमों से भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के एम्प्लॉइज खुद को ‘अपमानित’ महसूस कर रहे हैं. उन्होंने RBI गवर्नर उर्जित पटेल को एक चिट्ठी लिखकर अपना विरोध दर्ज कराया है.

नोटबंदी का फैसला हुआ और न जाने कितनी बार आरबीआई ने अपनी गाइडलाइन बदलीं, नहीं मालूम. लोगों की दिक्कतें कम नहीं हुईं. किसी को अपने बच्चों की शादी के लिए कैश जुटाने में दिक्कत हुई. तो किसी ने कतार में दम तो दिया. तो किसी को पैसे न मिलने की वजह से टाइम पर इलाज नहीं मिल पाया. कई दुखद ख़बरें सामने आईं. जिसने नोटबंदी के फैसले पर सवाल खड़े किए.

आरबीआई के एम्प्लॉइज ने नोटबंदी के फैसले को लागू करने में कुप्रबंधन और सरकार की तरफ से करंसी जुटाने के लिए एक अफसर की नियुक्ति कर केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता को चोट पहुंचाने का विरोध किया है. कहा गया है कि कुप्रबंधन से आरबीआई की इमेज और आज़ादी को इतना नुकसान पहुंचा है कि उसे दुरुस्त कर पाना बहुत मुश्किल है.

एम्प्लॉइज ने उर्जित पटेल को जो ख़त लिखा है, उसमें कहा है, ‘इस कुप्रबंधन से आरबीआई की छवि और स्वायत्तता को ‘इतना नुकसान पहुंचा है कि उसे दुरुस्त करना काफी मुश्किल है. करंसी मैनेजमेंट के आरबीआई के स्पेशल काम के लिए फाइनेंस मिनिस्ट्री के एक सीनियर अफसर की तैनाती खुल्लमखुल्ला अतिक्रमण है. रिजर्व बैंक की काबिलियत और स्वायत्तता वाली इमेज उसके एम्प्लॉइज की सालों की मेहनत से बनी थी, लेकिन इसे एक ही झटके में खत्म कर दिया गया. यह बेहद दुखद है.’

चिट्ठी यूनाइटेड फोरम ऑफ रिजर्व बैंक ऑफिसर्स एंड एम्प्लॉइज की ओर से लिखी गई है. चिट्ठी पर ऑल इंडिया रिजर्व बैंक एम्प्लॉइज एसोसिएशन के समीर घोष, ऑल इंडिया रिजर्व बैंक वर्कर्स फेडरेशन के सूर्यकांत महादिक, ऑल इंडिया रिजर्व बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन के सी. एम. पॉलसिल और आरबीआई ऑफिसर्स एसोसिएशन के आर. एन. वत्स के साइन हैं. इनमें से समीर घोष और महादिक ने चिट्ठी लिखने की बात पर हामी भरी है. घोष का कहना है कि यह फोरम केंद्रीय बैंक के 18,000 एम्प्लॉइज का प्रतिनिधित्व करता है.

शायद आपको याद हो इससे पहले आरबीआई के तीन फॉर्मर गवर्नर मनमोहन सिंह (फॉर्मर पीएम भी), वाईवी रेड्डी और विमल जालान ने रिजर्व बैंक के कामकाज के तरीकों पर सवाल उठाया था. केंद्रीय बैंक के फॉर्मर डिप्टी गवर्नर उषा थोराट और केसी चक्रवर्ती ने भी इस पर चिंता जताई थी.

अबतक विपक्ष की तरफ से ही नोटबंदी के फैसले को लेकर हंगामा किया जाता रहा है. और नोटबंदी के फैसले को गलत बताया जाता रहा है. अब उसके लागू करने के तरीकों को लेकर हुई बदइंतजामी से आरबीआई के एम्प्लॉइज का खुद को अपमानित महसूस करना सोचने वाली बात है. जिससे नोटबंदी पर मन में कई सवाल जन्म लेते हैं. जिनके जवाब साफ़ तौर पर शायद ही मिलें.


 

नोटबंदी का फैसला किसका था, जानने के लिए अक्कड़-बक्कड़ करें?

‘RBI गवर्नर से पूछा गया, आपको पद से क्यों न हटाया जाए और मुकदमा चले?’

जानिए क्यों उर्जित पटेल ने नहीं, नरेंद्र मोदी ने नोट बैन का ऐलान किया

यहां 500-1000 के पुराने नोटों पर मिल रहा है 10 परसेंट एक्स्ट्रा!

सोनम गुप्ता से पहले ये बन चुके हैं ‘नोट लेखकों’ का निशाना

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Demonetisation: ‘Feeling humiliated’ by post-note ban events, RBI employees write to Urjit Patel

क्या चल रहा है?

Eng vs WI: इंग्लैंड जीती और भारत बिना हारे चौथे नंबर पर

मैच में इंग्लैंड को झटका भी, दो प्लेयर चोटिल हो गए.

सूर्यवंशी की डेट बदलने पर अक्षय के भड़के फैन्स बोले, "सलमान का नुकसान होता, आप क्यों पीछे हटे?"

फिल्म की रिलीज़ डेट सलमान और रोहित शेट्टी ने बदली माफी अक्षय कुमार मांग रहे हैं.

बिजली कटौती को लेकर छत्तीसगढ़ CM पर वीडियो पोस्ट किया, राजद्रोह का केस लग गया

भूपेश बघेश सरकार और इनवर्टर कंपनियों के बीच सेटिंग का आरोप लगाया था.

जिन्होंने देश में मेट्रो चलाई, वो केजरीवाल के मुफ्त यात्रा वाले फैसले से नाराज़ हो गए हैं

पीएम मोदी को लेटर लिख डाला.

कपल ने कनपटी से पिस्टल सटाकर सेल्फी ली, वॉट्सऐप ग्रुप में पोस्ट की और गोली मारकर आत्महत्या कर ली

लड़की की दो महीने पहले ही शादी हुई थी.

रसेल का कैच छोड़ना कितना बड़ा पाप है, उसी ओवर में पता चल गया

ENG vs WI: आदिल राशिद का मुंह देखने लायक था.

शोएब अख्तर के चैनल पर सहवाग पहुंचे और दोनों ने सरफ़राज़ अहमद की मौज ले ली

पाकिस्तान के कप्तान ने कहा था कि ICC इंडिया के हिसाब से पिच बनाता है.

BJP आईटी सेल का मेंबर BJP CM के खिलाफ पोस्ट लिखने पर गिरफ़्तार हुआ

मुख्यमंत्री को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी.‍‌

भारत पाकिस्तान मैच से जुड़ी सबसे बुरी खबर

16 जून को होने वाला है ये मैच.

इस जैसा कैच वर्ल्ड कप में दिखे तो बताना

चौके के लिए जा रही गेंद को उड़ते हुए लपक लिया.