Submit your post

Follow Us

दिल्ली की हवा इतनी ज़हरीली हो गई है कि पब्लिक इमरजेंसी घोषित करनी पड़ी

5
शेयर्स

सुप्रीम कोर्ट द्वारा अधिकृत एक पैनल ने दिल्ली में पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर दी है. ये 1 नवंबर की बात है. दिल्ली से जुड़ी एक रेगुलर हेडलाइन है- प्रदूषण. दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में है दिल्ली. पिछले कुछ दिनों से यहां सूरज साफ नहीं दिख रहा है. पूरे वातावरण में एक गहरी धुंध सी है. ये धुंध असल में है स्मॉग. इसमें सांस लेना जीवन के लिए बेहद ख़तरनाक है. इसी संदर्भ में आया है पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी का ये ऐलान.

ये डिवेलपमेंट क्या है?

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के अनुसार, Environment Pollution (Prevention and Control) Authority (EPCA) नाम की संस्था ने 5 नवंबर तक दिल्ली NCR में किसी भी तरह के कंस्ट्रक्शन और पटाखाबाजी पर रोक लगा दी है. इसमें दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाज़ियाबाद, गुरुग्राम शामिल हैं. इसके पीछे वजह है कि दिल्ली की हवा बेहद ज़हरीली हो गई है. यहां सांस लेना मुश्किल है.

(सांकेतिक तस्वीर : पीटीआई)
(सांकेतिक तस्वीर : पीटीआई)

कैसे पता चलता है कि हवा ज़हरीली है?

एक टर्म होता है- AQI. यानी, Air Quality Index. ये हवा की गुणवत्ता बताता है. इसमें एक स्केल होता है- शून्य से लेकर 500 तक का.  जितनी ज्यादा वैल्यू, उतना ज्यादा खतरनाक हवा. हर 24 घंटे में AQI मापने के लिए हवा में मौजूद गैसों का स्तर और प्रदूषण फैलाने वाले पार्टिकल्स का स्तर मापा जाता है. इससे पता चलता है कि हवा कितनी खतरनाक है. आम तौर पर 100 तक का AQI सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए ठीक माना जाता है. जैसे-जैसे उसकी वैल्यू बढ़ती जाती है, वैसे-वैसे ख़तरा भी बढ़ता जाता है.

(सांकेतिक तस्वीर: airnow.gov)
(सांकेतिक तस्वीर: airnow.gov)

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने क्या कहा?
पिछले तीन दिन से दिल्ली और आस-पास के इलाकों का AQI 400 से 500 के बीच था. पिछले कुछ सालों से अक्टूबर-नवंबर में इस तरह की दिक्कत काफी बढ़ती हुई देखी गई है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हरियाणा और पंजाब में जलाई जाने वाली पराली को जिम्मेदार ठहराया है. दीवाली पर छुड़ाए जाने वाले पटाखों का भी इसमें हाथ है, ऐसा एक्सपर्ट्स का मानना है. अरविंद केजरीवाल ने प्रदूषण के मुद्दे पर ट्वीट करते हुए लिखा-

पड़ोस के राज्यों में जलाई जा रही पराली की वजह से दिल्ली एक गैस चेंबर में बदल चुकी है. ये बहुत आवश्यक है कि हम इस ज़हरीली हवा से खुद को बचाएं. सरकारी और निजी स्कूल्स में हमने आज से 50 लाख मास्क्स बांटने शुरू कर दिए हैं. मेरी सभी दिल्लीवासियों से गुजारिश है कि जब भी ज़रूरत हो उनका इस्तेमाल करें.

पिछले कुछ सालों से ये पैटर्न लगभग तय हो चुका है. दिवाली आते-आते दिल्ली और NCR के इलाके स्मॉग से ढक जाते हैं. पराली का धुआं, दिवाली के पटाखे और बाकी रोज़मर्रा का प्रदूषण, सब मिलकर दिल्ली को नेगेटिव सुर्खियों में घसीट लाते हैं. सरकार के आदेश पर कुछ दिनों के लिए स्कूल भी बंद हो जाते हैं. प्रदूषण और स्मॉग के नुकसान, इनकी गंभीरता, इसके ख़तरे, इन सब पर हेडलाइन्स बनती हैं. उपायों पर बात होती है. क्या किया जाए, कैसे चीजें सुधारी जाएं, इनपर भी कुछ-कुछ बोला जाता है. मगर ढाक के तीन पात. कुछ भी नहीं सुधरता.

दिल्ली में लगातार बने रहने वाले इस ख़तरनाक स्तर के प्रदूषण की वजह से ऐसे सवाल भी पूछे जाने लगे हैं कि क्या ये शहर भारत की राजधानी बने रहने के लिए फिट हैं? हालांकि एक्सपर्ट्स तो कह रहे हैं कि इतनी प्रदूषण वाली जगह तो जीने लायक भी नहीं. जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल भारत दौरे पर आई हैं. दौरे के पहले दिन, यानी 1 नवंबर को वो राजघाट गईं. महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने. सोचिए, अगर मर्केल ने मास्क लगाया होता तो भारत को लेकर अभी इंटरनैशनल मीडिया में टॉप ख़बर यही होती.


वीडियो: डॉनल्ड ट्रंप ने अल-बगदादी के गिड़गिड़ाने की जो कहानी सुनाई, पेंटागन को पता ही नहीं 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोर्ट के आदेश के बाद वो 3 मौके, जब योगी सरकार ने 'दंगाइयों' से जुर्माना नहीं वसूला

और सवाल उठ रहे कि इस बार ही क्यों?

मोदी के जिस ड्रीम प्रोजेक्ट पर सरकार ने करोड़ों खर्च किये वो फ्लॉप हो गया

इसके प्रचार के लिए सरकार ने जगह-जगह बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगवाए थे.

नए साल की पहली खुशखबरी आ गई, रेलवे का किराया बढ़ गया

सेकंड क्लास, स्लीपर, फ़र्स्ट क्लास, एसी सबका किराया बढ़ा है रे फैज़ल...

CAA Protest : यूपी पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाने वालों को पुलिस ने क्यों ब्लॉक किया?

यूपी पुलिस की इस कार्रवाई का क्या मतलब है?

जिस अधिकारी पर प्रियंका गांधी ने गला दबाने का आरोप लगाया उसने क्या कहा है

भाई की मौत की खबर मिलने के बाद भी ड्यूटी पर तैनात थीं अफसर.

प्रियंका गांधी का UP पुलिस पर बड़ा आरोप, 'मुझे घेरा और मेरा गला दबाया'

लखनऊ दौरे पर हैं प्रियंका गांधी.

एक महीने में 77 बच्चों की मौत पर राजस्थान के CM बोले- इसमें कोई नई बात नहीं है

अस्पताल में इसी साल अब तक 940 बच्चों की मौत हो गई है.

क्या आर्मी चीफ बिपिन रावत ने अपने ताज़ा बयान से लाइन क्रॉस की है?

CAA प्रोटेस्ट का नाम लिए बग़ैर अपने 'विचार' रखे. फिर सेना के अफसरों से लेकर नेताओं तक ने प्रतिक्रिया दी.

100 लोगों से भरे प्लेन ने उड़ान भरी और तुरंत बाद एक बिल्डिंग से टकराकर क्रैश हो गया

अभी कुछ मौतों की पुष्टि हुई है, आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है.

क्या मुखर्जी नगर में रहने वाले स्टूडेंट्स को जबरन छुट्टी पर भेज रही है दिल्ली पुलिस?

लोग इसे CAA प्रोटेस्ट से जोड़कर देख रहे हैं.