Submit your post

Follow Us

भगत सिंह की किताब रखना गुनाह नहीं, ये कह कोर्ट ने आदिवासी बाप-बेटे को छोड़ा

कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले के एक दूरदराज के गांव से साल 2012 में पुलिस ने एक युवक को उसके पिता सहित नक्सलियों से लिंक के आरोप में गिरफ्तार किया था. जिस वक्त लड़के की गिरफ्तारी हुई थी वह 23 साल का था. पत्रकारिता की पढ़ाई कर रहा था. अब लगभग 9 साल बाद जिला अदालत ने उन्हें बरी कर दिया है. पुलिस दोनों का कोई भी नक्सल लिंक साबित नहीं कर पाई.

क्या है पूरा मामला?

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक़,  3 मार्च 2012 को कर्नाटक पुलिस की नक्सल विरोधी यूनिट ने 23 साल के विट्ठल मालेकुड़िया और उनके पिता लिंगप्पा मालेकुड़िया को गिरफ़्तार किया था. पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को यह ख़बर मिली कि बाप-बेटे उन पांच नक्सलियों के साथ मिले हुए हैं, जिनकी पुलिस खोजबीन कर रही थी.

विट्ठल और लिंगप्पा पर IPC के तहत आपराधिक साजिश रचने के अलावा राजद्रोह और UAPA के तहत आतंकवाद के आरोप लगे थे. पांचों कथित नक्सलियों के नाम भी FIR में थे, लेकिन मिली जानकारी के मुताबिक़, उन्हें अभी तक गिरफ़्तार नहीं किया गया है.

9 साल बाद बरी

कोर्ट ने पाया कि छापे में मिली ज़्यादातर सामग्री लेख और किताबें थीं, जो कोर्ट के मुताबिक़, ‘प्रतिदिन की आजीविका के लिए आवश्यक’ हैं. छापे में विट्ठल मालेकुड़िया के हॉस्टल से भगत सिंह पर लिखी गई किताब, क्षेत्र में बुनियादी सुविधाएं नहीं मिलने तक संसदीय चुनावों के बहिष्कार का पत्र और अख़बार की कुछ कटिंग्स बरामद हुई थीं. कोर्ट ने सबूत देखकर कहा,

“क़ानून के तहत भगत सिंह की किताबें रखना अपराध नहीं है.. ऐसे अख़बार पढ़ना भी क़ानून के तहत प्रतिबंधित नहीं है.”

कोर्ट ने विट्ठल और उनके पिता को बरी कर दिया. गिरफ़्तारी के वक़्त, विट्ठल 23 साल के थे और मेंगलुरु विश्वविद्यालय से पत्रकारिता की पढ़ाई कर रहे थे. अब 32 साल के हैं और एक कन्नड़ भाषी एक अख़बार में पत्रकार हैं.

विट्ठल ने कहा,

“इस मामले में बरी होकर मैं बहुत ख़ुश हूं. हमने 9 साल तक संघर्ष किया. हमें नक्सली चरमपंथियों के रूप में फंसाया गया, लेकिन चार्जशीट में यह कहीं नहीं लिखा था. हमारी बेगुनाही साबित हो गई है.”

गिरफ़्तारी के वक़्त विट्ठल को अपनी परीक्षा देने के लिए अदालत के कई चक्कर काटने पड़े थे. अदालती कार्यवाही में पर उन्होंने कहा,

“हम हर सुनवाई में शामिल थे. कोविड के दौरान भी हम कुछ दिन कोर्ट के बाहर खड़े रहते थे. सुनवाई के लिए अपने गांव से मेंगलुरु जाना, हमारे लिए बहुत मुश्किल था. 11 बजे से पहले अदालत पहुंचना होता था और हमारे पास कोई साधन नहीं था.”

इस मामले में पिता-पुत्र को साल 2012 में गिरफ़्तारी के 4 महीने बाद तकनीकी ज़मानत मिल गई थी. उस दौरान भी पुलिस न्यायिक हिरासत के 90 दिन पूरे होने के बाद चार्जशीट दाख़िल नहीं कर पाई थी.

विट्ठल ने इस साल 19 अप्रैल को केएएस की परीक्षा दी थी, लेकिन जब उन्हें पता चला कि कर्नाटक पुलिस ने हाल ही में 3 साल पुराने देशद्रोह मामले में बेल्थांगड़ी सत्र अदालत में चार्जशीट दाख़िल की है, तब वे चौंक गए. उन्होंने एडिशनल कमिश्नर ऑफ़ पुलिस आलोक कुमार पर अपने जीवन और कैरियर को तबाह करने का आरोप लगाया.

विट्ठल मालेकुड़िया अब यह दावा करते हैं कि उन्हें फंसाया गया है. वह एक एक्टिविस्ट हैं और लोगों की भलाई और हक़-हुक़ूक़ के लिए लड़ते रहेंगे. विट्ठल, आने वाले ग्राम पंचायत चुनाव में भी खड़े हो रहे हैं.


कर्नाटक HC ने नेटफ्लिक्स की इस वेब सीरीज़ के पहले एपिसोड को ब्लॉक करने के लिए क्यों कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

मृतक व्यक्ति पर नाबालिग से बलात्कार का आरोप था.

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5G के रोल आउट को लेकर दिक्कतें चालू.

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

बीमा कंपनी गाड़ी चोरी या दुर्घटनाग्रस्त होने का बहाना बनाए तो ये आदेश दिखा देना.

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

दबी जुबान में क्या कह रही है पुलिस?

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

जानेंगे बैंक FD में क्यों घट रही है लोगों की दिलचस्पी.

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

पार्टी के इस कदम से आहत हरक सिंह रावत मीडिया के सामने भावुक हो गए.