Submit your post

Follow Us

सेंस ऑफ ह्यूमर हो तो कांग्रेस जैसा

कांग्रेस के लिए बड़ा सुहाना दिन था आज. 131वां बर्थडे जो है पार्टी का. सोनिया गांधी ने सुबह सुबह कांग्रेस का झंडा फहराया. राहुल गांधी और मनमोहन सिंह ने बच्चों को लड्डू बांटे.

पर बर्थडे के मीठे मीठे लड्डुओं में निकल आये कंकड़. जब कांग्रेस की अपनी ही मैगजीन ने उनकी लगा दी. अपनी ही पार्टी के सबसे बड़े नेता जवाहरलाल नेहरू के ऊपर सवाल उठा कर. और सोनिया गांधी के ऊपर भी कमेंटबाजी की.

कांग्रेस की मैगजीन कांग्रेस दर्शन के दिसंबर अंक में छपा है कि सोनिया गांधी के पिता इटली में फासिस्टों के सपोर्टर थे. और सोनिया ने 1997 में पार्टी में शामिल होने के 62 दिनों बाद ही सोनिया ने सरकार बनाने की कोशिश की, पर असफल रहीं.

congress darshan cover

एक और लेख में नेहरू की राजनीति का निगेटिव रिव्यू करते हुए कहा गया है कि अगर वो उस समय के होम मिनिस्टर सरदार पटेल से एडवाइस लेते तो उनके लिए बेहतर होता. और कश्मीर मुद्दा इतनी खराब स्टेट में नहीं होता. याद रहे कि भाजपा सरदार पटेल को देश के फ्रीडम स्ट्रगल का नायक, और कांग्रेस को देश का विलेन मानती आई है. आर्टिकल का लेखक, जिसका नाम मैगजीन में छपा नहीं है, लिखता है, “अगर उस समय नेहरू ने पटेल की सुनी होती, तो आज कश्मीर, चीन, तिब्बत और नेपाल की समस्याएं होती ही नहीं.”

congress darshan controversial article

आज सुबह सुबह जब ये खबर सामने आई, तो सारा सेलिब्रेशन हवा हो गया. ऊपर से मैगजीन के एडिटर और पार्टी के सीनियर नेता संजय निरुपम को इसकी खबर ही नहीं थी. एडिटर के तौर पर उन्होंने इस भारी गलती की जिम्मेदारी लेते हुए इसकी जांच करवाने का वादा किया.

और ये था रिऐक्शन BJP का. जिसका अपोजीशन ही उसका बेस्ट फ्रेंड बन बैठा है. अनजाने में ही सही.

और जब कचरा फैल गया, तो उसे ऐसे कालीन के नीचे सरकाने की कोशिश की शशि थरूर ने.

ये भी बता दें कि कांग्रेस दर्शन के कंटेंट एडिटर की आज दोपहर छुट्टी कर दी गयी. सच बोलना महंगा पड़ गया जोशी साहब को. 😉

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

रोज़ 500 लोगों को खाना खिला रहे इस ब्रिटिश गुरुद्वारे पर हमला

आरोप है कि पाकिस्तानी मूल के व्यक्ति ने गुरु अर्जन देव गुरुद्वारे पर हमला किया.

कोरोना इफेक्ट: टाटा ग्रुप के इतिहास में पहली बार सैलरी को लेकर ऐसा होने जा रहा है!

छोटी कंपनियों के बाद बड़ी कंपनियां भी चपेट में हैं.

रेल मंत्री ने रात के दो बजे तक महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को ताबड़तोड़ 12 ट्वीट क्यों किए?

इतने ट्वीट के बाद भी सीएम या महाराष्ट्र सरकार की ओर से जवाब नहीं मिला.

क्रिकेट मैच खेलने दिल्ली से सोनीपत पहुंचे मनोज तिवारी ये क्या कर बैठे?

और तो और सोशल मीडिया पर क्रिकेट खेलने का वीडियो भी अपलोड किया.

गेंद को थूक लगाकर चमकाने पर रोक, क्या बोले टीम इंडिया के बॉलिंग कोच?

भारतीय क्रिकेट टीम के बॉलिंग कोच भरत अरुण ने किस बात पर चिंता जताई है?

एयर इंडिया की फ्लाइट्स में मिडिल सीट की बुकिंग को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला दिया है

ईद की छुट्टी के बावजूद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चीफ जस्टिस एसएस बोबडे की बेंच ने की सुनवाई.

तबलीगी जमात पर बीजेपी नेता के सवाल को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कायदे की बात कही है

लॉकडाउन पर कहा-इसने एक तरह से प्रभावी सामाजिक वैक्सीन की तरह काम किया.

राजगढ़ SHO सुसाइड के बाद पूरे थाने ने मांगा ट्रांसफर, केस में आया कांग्रेस विधायक पूनिया का नाम

राजगढ़ थानाप्रभारी विष्णुदत्त विश्नोई का शव 23 मई को मिला था.

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी के लॉकडाउन के फैसले पर ये क्या बोल दिया?

ठाकरे ने पैकेज को लेकर भी केंद्र पर निशाना साधा है.

एक दिन पहले आई घरेलू उड़ानों के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की नई गाइडलाइंस में क्या है?

25 मई से घरेलू उड़ानें शुरू हो रही हैं.