Submit your post

Follow Us

कोरोना वायरस को लेकर WHO की भूमिका पर चीन की डॉक्टर ने बड़ा दावा कर दिया है

डॉक्टर ली मेंग यान. साइंटिस्ट हैं. वायरसों पर काम करती हैं. यूनिवर्सिटी ऑफ हॉन्गकॉन्ग, स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ से जुड़ी हुई हैं. 14 सितंबर को उन्होंने दावा किया था कि कोरोना वायरस को वुहान में चीन सरकार द्वारा नियंत्रित एक लैब में ही बनाया गया है. उनके पास यह साबित करने के लिए सभी ज़रूरी सबूत हैं. अब उन्होंने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में दावा किया है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) को भी इस पूरे मामले की जानकारी थी.

डॉक्टर यान ने यह इंटरव्यू WION को दिया. इसमें उन्होंने कहा,

“चीनी सरकार को कोविड वायरस फैलने के बारे में पता था. इस पूरे मामले को दबाने में विश्व स्वास्थ्य संगठन भी काफी हद तक शामिल था. चाइनीज़ कम्युनिस्ट पार्टी वुहान के पशु बाज़ार को इस वायरस का केंद्र बता रही थी जबकि वो सिर्फ लोगों को गुमराह कर रही थी.”

डॉक्टर यान ने दावा किया कि इस खुलासे के बाद चीनी सरकार उनकी इमेज को सोशल मीडिया के जरिए खराब करने की कोशिश कर रही है. परिवार को डराने के लिए साइबर हमले भी करवाए जा रहे हैं. हाल ही में डॉ. यान का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया था. इनके कई ट्वीट्स को ये कहकर पॉइंट आउट किया गया था कि उनमें “कोरोना वायरस के बारे में विवादित दावे” किए गए हैं.

हॉन्गकॉन्ग के स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ स्कूल में काम रह रहीं डॉ. यान ने दावा किया कि उनके सुपरवाइज़र ने 31 दिसंबर को उनसे कहा था कि वह वुहान में SARS जैसे वायरस की जांच करें, लेकिन बाद में उन्हें रोक दिया गया.

“जब मैंने कहा कि मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, तो मुझसे कहा गया कि मैं चुप रहूं और सावधान रहूं. बोला तो परेशानी में पड़ जाऊंगी. गायब कर दी जाऊंगी. मुझसे कहा गया कि बस एक मास्क पहन लो और इस बारे में बात मत करो. फिर जनवरी में भी सुपरवाइज़र ने मुझसे कहा था कि जांच करते वक्त सावधान रहो. रेड लाइन क्रॉस मत करो. नहीं तो मुश्किल में आ  जाओगी.”

डॉक्टर यान का कहना है कि लैब से वायरस को किसी उद्देश्य के लिए लाया गया था. उनके पास सबूत है कि वायरस वुहान के पशु बाज़ार से नहीं, बल्कि लैब से आया था. उन्होंने कहा

“मैं इन सभी सबूतों का उपयोग लोगों को बताने के लिए करूंगी कि ये वायरस चीन की लैब से क्यों आया और इसे क्यों बनाया गया? आपको भले ही बायोलॉजी का ज्ञान न हो, पर आप इसे पढ़कर खुद सचाई जान सकेंगे.”

डॉ. यान का आरोप है कि चीनी अधिकारी उन्हें देश से भगाने के लिए बदनाम कर रहे हैं. उनकी सभी जानकारी भी डिलीट कर दी गई है. लोगों को अफवाह फैलाने के लिए कहा जा रहा है.

ट्रंप भी उठाते रहे हैं WHO पर सवाल

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप भी कोविड वायरस को फैलने से रोकने में WHO की भूमिका की तीखी आलोचना करते रहे हैं. उन्होंने तो WHO को होने वाली फंडिंग रोकने का भी ऐलान कर दिया था. तमाम सवालों के बाद WHO ने कोरोना की जांच के लिए अपनी टीम वुहान भेजने को राजी हुआ था. पिछले महीने उसकी टीम ने चीन का दौरा तो किया लेकिन वुहान नहीं गई. इसे लेकर उस पर सवाल उठ रहे हैं.


वीडियो देखें :  कोरोना: चीन ने WHO को वुहान क्यों नहीं जाने दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?

किस बात पर पंजाब में सनी देओल के 'सामाजिक बहिष्कार' की बात हो रही है?

कुछ लोग कह रहे हैं कि अपने गांवों में घुसने नहीं देंगे.

एक्ट्रेस के यौन शोषण के इल्ज़ाम पर अनुराग कश्यप का जवाब आया है

पायल घोष ने आरोप लगाया है.

चीन की इंटेलीजेंस को गोपनीय रिपोर्ट्स भेजने के आरोप में चीन की महिला सहित पत्रकार गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने कई सारे मोबाइल फोन, लैपटॉप समेत कई सेंसिटिव दस्तावेज भी बरामद किए हैं.

केरल और बंगाल से अल कायदा के 9 संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार!

एनआईए ने दोनों राज्यों में छापे मारे.

हरसिमरत कौर बादल ने किसानों से जुड़े मुद्दे को लेकर मोदी सरकार से इस्तीफा दिया

हरसिमरत कौर केंद्र सरकार में फूड प्रॉसेसिंग इंडस्ट्रीज मिनिस्टर थीं.

20 सैनिकों की मौत के बाद भारत सरकार ने चीन में मौजूद बैंक से कई हज़ार करोड़ रुपए उधार लिए

सरकार ने ये जानकारी दी तो कांग्रेस ने इसे हथियार बना लिया

संसद सत्र से पहले दो जगह कराई कोरोना जांच, रिपोर्ट देखकर चकरा गए सांसद महोदय

मॉनसून सत्र से पहले हुई जांच में 17 MP कोविड पॉजिटिव मिले हैं.