Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

बुलंदशहर: खेत में जिस गाय के अवशेष मिले, वो कब काटी गई?

3.80 K
शेयर्स

3 दिसंबर को बुलंदशहर के स्याना में जो हुआ, वो क्यों हुआ? इसका ठीक-ठीक जवाब अभी किसी के पास नहीं है. हमें बस घटनाक्रम मालूम है. कि सारा मामला खेत में कटी हुई गाय मिलने से शुरू हुआ और इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मॉब लिंचिंग पर खत्म हुआ. इस कटी गाय पर UP पुलिस के IG क्राइम एस के भगत ने एक बड़ी जानकारी दी है. उन्होंने इंडिया टुडे को बताया कि गाय के ये कटे हिस्से ताज़े नहीं थे. तकरीबन दो दिन पुराने थे. उनके मुताबिक, महाव गांव के खेत में जो कटी हुई गाय मिली, वो लगभग 48 घंटे पहले काटी गई थी. उन्होंने कहा-

शुरुआती जांच के मुताबिक, ग्राउंड ज़ीरो (यानी महाव गांव का वो खेत) से बरामद गाय के अवशेष कम से कम 48 घंटे पुराने थे. जांच अभी जारी है. जांच पूरी हो जाने के बाद सारी चीजें साफ हो जाएंगी.

ये गोकशी वाली उस FIR की कॉपी है, जो योगेश ने लिखवाई थी. ये वाली FIR दर्ज हुई दोपहर 12.43 बजे. इसके करीब 45 मिनट बाद, दिन के डेढ़ बजे SHO सुबोध कुमार सिंह की लिंचिंग हुई.
ये गोकशी वाली उस FIR की कॉपी है, जो योगेश ने लिखवाई थी. ये वाली FIR दर्ज हुई दोपहर 12.43 बजे. इसके करीब 45 मिनट बाद, दिन के डेढ़ बजे SHO सुबोध कुमार सिंह की लिंचिंग हुई.

बजरंग दल वाले योगेश राज ने FIR में क्या लिखवाया था?
खुद को इस कथित गोकशी का चश्मदीद बताने वाले बजरंग दल के नेता योगेश राज ने अलग ही कहानी सुनाई थी. उसने गोकशी वाली FIR में लिखवाया था-

आज दिनांक 03-12-2018 को समय करीब प्रात: नौ बजे सुबह हम लोग योगेश राज, शिखर कुमार, सौरभ आदि लोग घूमने के लिए ग्राम महाव के जंगलों में आए थे. तभी हमने देखा सुदेफ चौधरी, इल्यास, शराफत, अनस, शाजिद, परवेज, सरफुद्दीन (निवासी नया बांस) आदि लोग थाना स्याना निवासी गायों को काट रहे थे. हमें देखकर, हमारे शोर मचाने पर उपरोक्त लोग मौके से भाग गए. सूचना पर थाना स्याना की पुलिस व उपजिलाधिकारी स्याना आ गए हैं. उपरोक्त लोगों ने गायों को बुरी तरह से काटा है. जिससे हमारी हिंदू धर्म की भावनाएं आहत हुई हैं.

ये वाली FIR दर्ज हुई दोपहर 12.43 बजे. इसके करीब 45 मिनट बाद, दिन के डेढ़ बजे SHO सुबोध कुमार सिंह की लिंचिंग हुई.
योगेश ने कहा था कि जो सात लोग गाय काट रहे थे, वो सबको जानता था. उसने सातों का नाम बताया पुलिस को. सातों मुस्लिम थे. जिस गांव का योगेश है, उसी गांव के हैं सातों. इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि जिन लोगों का नाम लिखवाया गया है, उनमें से कुछ तो NCR में रहकर नौकरी करते हैं.

यानी योगेश ने गोकशी वाली FIR में झूठी तहरीर दी थी?
पुलिस की जांच और योगेश का बयान, एकदम उलट हैं. इससे तो यही लगता है कि योगेश ने उस दिन FIR में जो लिखवाया, सब झूठ था. इस FIR के लिखे जाने के तकरीबन 40-45 मिनट बाद ही इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह भीड़ के हाथों मार दिए गए थे. योगेश ने गोकशी वाली इस FIR में सात लोगों का नाम लिखवाया था. इनमें एक 10 साल का बच्चा भी है. पुलिस ने नाबालिग होने की वजह से उसका नाम इस FIR से हटा दिया है.

क्या खेत में कटी गाय फेंककर कोई दंगा करवाना चाहता था?
48 घंटे पहले कटी गाय को खेतों में किसने फेंका, अभी पता नहीं. मगर क्या ये किसी साज़िश के तहत किया गया? क्या इस साज़िश का लिंक घटना वाले दिन खत्म हो रहे मुस्लिमों के इज्तमा कार्यक्रम से था? या 6 दिसंबर को बाबरी मस्जिद को गिराए जाने की बरसी के दिन को सोचकर कोई प्लानिंग की गई थी? क्या इसके पीछे दंगा भड़काने की कोई चाल थी? उत्तर प्रदेश पुलिस के प्रमुख ओ पी सिंह कह चुके हैं कि शायद ये पूरी घटना किसी साज़िश का नतीजा है. इस केस की जांच कर रही SIT भी सारे मुमकिन ऐंगल्स की तफ़्तीश कर रही है. सारी चीजों को साथ मिलाकर देखने पर साज़िश वाली बात मुमकिन तो लगती है. गांव के कई लोग भी इसकी शंका जता चुके हैं. जिस राजकुमार नाम का शख्स के खेत में गाय के कटे हिस्से मिले, उस खेत के बगल में रहने वाले प्रेम जीत सिंह ने मीडिया से बात की है. कहा है कि 2 दिसंबर की रात तक खेत में ऐसा कुछ नहीं था. न ही उन्होंने किसी को गाय काटते हुए देखा.


बार-बार बयान बदल रहा है बुलंदशहर का मुख्य आरोपी योगेश राज

बुलंदशहर के खेत में गाय का सिर, चमड़ी, बीफ टांगकर क्या बड़ा दंगा करने की साजिश थी?

बुलंदशहर में हुई इंस्पेक्टर सुबोध सिंह और सुमित की हत्या के बाद की ग्राउंड रिपोर्ट

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Bulandshahr: Cow carcasses found in the field was at least 48 hours old, says UP Police IG Crime

क्या चल रहा है?

कौन होगा राजस्थान का सीएम, आ गया फैसला

तीन दिन से चल रही रस्साकसी खत्म हो गई है.

AajTak HD : आजतक ने शुरू किया भारत का पहला हिंदी एचडी न्यूज चैनल

टेक्नोलॉजी की दुनिया में आजतक की एक और छलांग.

टी-ब्रेक में कोहली ऐसा क्या खाकर आ गए कि फिर सुपरमैन बन गए

क्या जबर कैच लिया है कप्तान ने.

बिग बॉस 12: श्रीसंत ने घर में फिर से की मारपीट

और इस बार उनके कोप का भाजन बनना पड़ा रोमिल को.

बुमराह की वो दो गेंद जिनके सामने एरॉन फिंच ढेर हो गए

बंदे की बॉलिंग में है दम.

क्या है पर्थ की ये 'ड्रॉप-इन' पिच जिसे पढ़ने में इंडिया ने भारी चूक कर दी है

इंडिया चार पेसरों के साथ उतरी है, मगर खेल हो गया है.

एक बार कर्ज न चुका पाने वाले माल्या जी को चोर कहना गलत: गडकरी

जो सरकार माल्या को वापस लाने के लिए एड़ियां घिस रही है, उसके एक मंत्री खुलेआम ऐसा बोल रहे हैं.

कोहली चाहे 100 सेंचुरी भी मार लें, मगर सोच समझ कर लिए अपने तीन रिव्यू नहीं गिना पाएंगे

विराट कोहली ने दो गेंदों पर दो गलत फैसले किए.

भारत के बड़े नोटों की नोटबंदी की नेपाल ने, 100 रुपए से ऊपर के नोट बैन

नेपाल में भारत के 200, 500 और 2,000 रुपये के नोटों का इस्तेमाल गैरकानूनी माना जाएगा.