Submit your post

Follow Us

कौन हैं सौम्या वर्मा, जिनके बारे में संबित पात्रा राहुल और सोनिया गांधी से पूछ रहे?

सताधारी पार्टी बीजेपी ने 18 मई को कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाया है कि वो कोरोना वायरस संकट का फायदा उठाने के लिए ‘टूलकिट’ का इस्तेमाल कर पीएम नरेंद्र मोदी की छवि को धूमिल कर रही है. कांग्रेस ने इन आरोपों को फेक बताया है और किसी भी तरह की टूलकिट के इस्तेमाल से इनकार किया है. पर अब संबित पात्रा ने पलटवार करते हुए कुछ तस्वीरें पोस्ट कीं और कांग्रेस से जवाब देने को कहा है. साथ ही ‘सौम्या वर्मा (Saumya Varma)’ का भी जिक्र किया है. दरअसल, संबित पात्रा ने अपने ट्विटर हैंडल से चार फोटो पोस्ट की हैं. दो स्क्रीनशॉट हैं, जो सौम्या वर्मा से संबंधित हैं और दो तस्वीरें हैं, जिसमें राहुल गांधी के साथ अन्य लोग नज़र आ रहे हैं.

इस पोस्ट के जरिए संबित पात्रा ने दावा किया है कि टूलकिट ‘सौम्‍या वर्मा’ ने तैयार की है. स्क्रीनशॉट के जरिए ये बताने की कोशिश की गई है कि सौम्या वर्मा कांग्रेस सांसद एमवी राजीव गौड़ा के ऑफिस में काम करती हैं. ट्वीट में संबित पात्रा लिखते हैं-

दोस्तों कांग्रेस ने कल पूछा था कि टूलकिट किसने तैयार की है? प्लीज ये पेपर देखिए. लेखक- सौम्या वर्मा. सौम्या वर्मा कौन है सबूत खुद बताते हैं. क्या सोनिया गांधी और राहुल गांधी जवाब देंगे?’

संबित पात्रा के इस दावे के बाद ट्विटर पर सौम्या वर्मा ट्रेंड होने लगी. कई लोगों ने BJP प्रवक्ता का दावा अपने-अपने हैंडल पर चिपकाना शुरू कर दिया. वहीं, BJP IT Cell इंचार्ज अमित मालवीय ने भी ट्वीट किया और बताया कि सौम्या वर्मा का लिंकडइन और ट्विटर अकाउंड डिलीट हो चुका है. उसके उन्होंने स्क्रीनशॉट भी शेयर किए.

सौम्या वर्मा कौन हैं?

सौम्या वर्मा के लिंकडइन अकाउंट के मुताबिक, वो सांसद और प्रोफेसर एमवी राजीव गौड़ा के ऑफिस में कार्यरत हैं. ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (AICC) की रिसर्च विंग से कनेक्टेड हैं. इस विंग को गौड़ा हेड करते हैं. ऐसा दावा संबित पात्रा कर रहे हैं.

लिंकडइन अकाउंट का स्क्रीनशॉट.
लिंकडइन अकाउंट का स्क्रीनशॉट.

राजीव गौड़ा का क्या कहना है?

गौड़ा ने एक ट्वीट में कहा कि

मैं स्पष्ट कर दूं कि हमने पार्टी के लिए सेंट्रल विस्‍टा पर एक रिसर्च नोट तैयार क‍िया था जो कि सही और तथ्‍य-आधारित है. मैंने कल ट्वीट क‍िया था कि ‘कोविड-19 टूलकिट’ जाली है और BJP द्वारा बनाई हुई है. पात्रा एक असली डॉक्‍यूमेंट का मेटाडेटा/ लेखक दिखा रहे हैं और उसे एक फेक दस्‍तावेज से जोड़ रहे हैं.

बता दें कि टूलकिट का ये विवाद अब सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच गया है. सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा गया है कि केंद्र सरकार द्वारा कांग्रेस की टूलकिट की प्रारंभिक जांच कराई जाए, अगर कोई दोषी पाया जाता है तो UAPA के तहत एक्शन हो. और कांग्रेस की मान्यता रद्द हो. ये याचिका वकील शशांक शेखर झा ने दायर की है.

कांग्रेस के राजीव गौड़ा और रोहन गुप्ता ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, बीजेपी सचिव बीएल संतोष जैसे नेताओं पर एफआईआर दर्ज करने की मांग दिल्ली पुलिस से की है.

पर क्या BJP झूठ बोल रही है?

ALT न्यूज़ ने इस पूरे मामले में वायरल हो रहे दस्तावेज का फैक्ट चेक किया. और पाया कि  AICC रिसर्च विंग के लेटरहेड के साथ छेड़छाड़ की गई है. और इससे इसकी प्रमाणिकता पर सवाल उठ रहे हैं. BJP ने अब तक केवल कथित टूलकिट के स्क्रीनशॉट शेयर किए हैं. उनकी तरफ से कोई ओरिजनल PDF, MS वर्ड की कॉपी शेयर नहीं की गई है. और पार्टी दोनों ही फॉर्मैट में इस दस्तावेज को उपलब्ध कराने में विफल रही है. ओरिजनल डॉक्यूमेंट न होने के कारण ये स्क्रीनशॉट फर्जी लगते हैं. क्योंकि ‘टूलकिट’ AICC के रिसर्च विंग द्वारा इस्तेमाल किए गए मूल लेटरहेड की खराब कॉपी करके बनाया गया है.

बीजेपी नेताओं के खिलाफ FIR

वहीं इस मामले में अब कांग्रेस ने बीजेपी नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है. दरअसल छत्तीसगढ़ एनएसयूआई के अध्यक्ष आकाश शर्मा ने रायपुर के सिविल लाइन थाने में पूर्व सीएम रमन सिंह और बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी. उसी के आधार पर पुलिस ने बीजेपी के दोनों नेताओं पर एफआईआर दर्ज की है. दोनों नेताओं पर एआईसीसी के आईटी रिसर्च सेल के लेटरहेड को जाली बनाने और उस पर झूठी और मनगढ़ंत सामाग्री इंटरनेट मीडिया पर साझा करने के आरोप लगाए गए हैं. बीजेपी नेताओं पर आईपीसी की धारा 504,505(1)BC,469,188 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

और क्या है टूलकिट में?

तथाकथित टूलकिट में कहा गया है कि विदेशी पत्रकारों और विदेशी प्रकाशनों में भारतीय लेखकों से संपर्क किया जाए और उन्हें इन मुद्दों पर बातचीत करने को कहा जाए. विदेशी मीडिया जिस तरह की नाटकीय तस्वीरों का इस्तेमाल कर रही है, उनकी रिपोर्टिंग को बढ़ाया जा सकता है. पीएम मोदी के लिए अपमानजक वाक्यों का इस्तेमाल किया जाए. आदि. इत्यादि.


वीडियो देखें:  भाजपा ने ‘कांग्रेस की टूलकिट’ खोली, कांग्रेस बोली फर्ज़ी है, FIR कर देंगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.