Submit your post

Follow Us

बेटे के बैट से पीटने पर आकाश विजयवर्गीय बोले, कच्चे खिलाड़ी हैं

बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे और इंदौर की सीट से विधायक आकाश विजयवर्गीय ने निगम के एक अधिकारी को बल्ले से पीटा. 26 जून की इस घटना का वीडियो भी वायरल हुआ और फिर आकाश को जेल जाना पड़ा. इस पूरी घटना पर कैलाश विजयवर्गीय से एक पत्रकार ने सवाल किया था तो कैलाश ने उनकी औकात तक पूछ ली थी. अब जब जमानत मिलने के बाद आकाश जेल से बाहर आ गए हैं तो कैलाश विजयवर्गीय ने इस घटना पर सफाई दी है.

1 जुलाई को मीडिया से बातचीत में कैलाश ने कहा-

‘घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. मेरा मानना है कि गलती दोनों तरफ से हुई है. कच्चे खिलाड़ी हैं आकाश जी भी और नगर निगम कमिश्वर भी. ये कोई बड़ा मामला नहीं था, लेकिन इसे बड़ा बना दिया गया.’

कैलाश विजयवर्गीय ने निगम अधिकारी धीरेंद्र सिंह बैस पर निशाना साधते हुए कहा कि अधिकारियों को घमंडी नहीं होना चाहिए, उन्हें जनप्रतिनिधियों से बात करनी चाहिए. मैंने इसमें कमी देखी है और अब ऐसा दोबारा नहीं होगा, ये दोनों को ही समझना होगा. जिस मकान को गिराने को लेकर विवाद हुआ था, कैलाश विजयवर्गीय ने उसके बारे में भी बात की है. कैलाश ने कहा-

‘मैं काउंसलर भी रहा हूं, मेयर भी रहा हूं और मंत्री भी रहा हूं.लेकिन मैंने कभी नहीं सुना है कि किसी बिल्डिंग को गिराने का आदेश बारिश के मौसम में दिया जाए.’

 

कमलनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए कैलाश ने कहा-

‘अगर बिल्डिंग को गिराना ही है, तो फिर उसमें रहने वाले लोगों के लिए धर्मशाला की व्यवस्था की जानी चाहिए. इस मामले में नगर निगम से गलती हुई है. निगम की महिला स्टाफ और महिला पुलिसकर्मी को वहां होना चाहिए था.’

लेकिन बिल्डिंग तो गिरेगी ही

इंदौर की गंजी कंपाउंड की जिस बिल्डिंग को गिराने गए निगम के अधिकारी पिट गए, विधायक को जेल जाना पड़ा और खूब बवाल हुआ, उस बिल्डिंग का गिरना तय है. इंदौर नगर निगम को इस बिल्डिंग को 30 जून को ही तोड़ना था. लेकिन पुलिस फोर्स न होने की वजह से इसे नहीं तोड़ा जा सका. अब इसे 2 जुलाई को तोड़ दिया जाएगा. निगम को ज्यादा पुलिस फोर्स इसलिए चाहिए, क्योंकि 26 जून को इसी चक्कर में आकाश विजयवर्गीय और निगम अधिकारी के बीच मारपीट हो गई थी.


हाथ में जूता लिए दिख रहे कैलाश विजयवर्गीय की 25 साल पुरानी फोटो का सच क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कानपुर कांड : आरोपी की गिरफ़्तारी में सच कौन बोल रहा? यूपी पुलिस या आरोपी के घरवाले?

वीडियो में क्या कहा कानपुर कांड के आरोपी ने?

विकास दुबे को बचाने के लिए अपने ही साथियों को धोखा देने वाले दो पुलिसवाले धर लिए गए हैं

घटना में आठ पुलिसवाले शहीद हुए थे.

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.

क्या गलवान में पीछे हटकर चीन 1962 वाली चाल दोहरा रहा है?

58 साल पहले भी ऐसा ही हुआ था. पहले चीन गलवान में पीछे हटा और कुछ दिन बाद भारत पर हमला कर दिया.

सरकार ने वो आदेश दिया है कि कंपनियां मास्क और सैनिटाइज़र के दाम में मनचाहा बदलाव कर सकती हैं

राज्यों ने शिकायत नहीं की, तो सरकार ने आदेश निकाल दिया

बुरी खबर! 'मेरे जीवनसाथी', 'काला सोना' जैसी फ़िल्में बनाने वाले प्रड्यूसर हरीश शाह नहीं रहे

कैंसर से जारी जंग आखिरकार हार गए.

दिल्ली की जेल में सजा काट रहे सिख दंगे के दोषी नेता की कोरोना से मौत हो गई

विधायक रह चुके इस नेता की कोरोना रिपोर्ट 26 जून को पॉज़िटिव आई थी.

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?