Submit your post

Follow Us

कासगंज के बवाल पर सबसे सही बात बरेली के डीएम ने कही है

कासगंज में तिरंगा यात्रा के दौरान हुई हिंसा की वजहें अब तक साफ़ नहीं हो पाई है. सोशल मीडिया पर दोनों पक्षों की तरफ से अलग-अलग दावे पेश किए जा रहे हैं. जहां राज्य प्रशासन पूरे मामले पर कुछ भी बोलने से बच रहा है, वहीं बरेली के डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह ने पूरे मामले पर बड़ा बयान दे दिया है.

अपनी फेसबुक वॉल पर राघवेंद्र विक्रम सिंह ने लिखा है-

‘अजब रिवाज बन गया है. मुस्लिम मोहल्लों में जबरदस्ती जुलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ. क्यों भाई वे पाकिस्तानी हैं क्या? यही यहां बरेली के खेलम में हुआ था. फिर पथराव हुआ, मुकदमे लिखे गए….’

राघवेंद्र विक्रम सिंह की फेसबुक पोस्ट मय एडिट हिस्ट्री
राघवेंद्र विक्रम सिंह की फेसबुक पोस्ट मय एडिट हिस्ट्री

राघवेंद्र अपनी फेसबुक पोस्ट में बरेली के खेलम गांव में पिछले साल जुलाई में हुई हिंसा का जिक्र कर रहे थे. उस समय कांवड़ यात्रा के दौरान कुछ कांवड़ियों के मुसलिम बहुल खेलम गांव के बाहर तेज आवाज में लाउडस्पीकर बजाने की वजह से तनाव की स्थिति पैदा हो गई थी. यहां दो समुदायों के बीच हुए पथराव के बाद दो पुलिस जवानों सहित कुल आठ लोग घायल हुए थे.

राघवेंद्र की इस पोस्ट को कासगंज हिंसा से जोड़कर देखा जा रहा है. हालांकि राघवेंद्र ने अपनी पोस्ट में सीधे तौर पर कासगंज का जिक्र नहीं किया है. इस बयान के वायरल होने के बाद राघवेंद्र ने अपनी फेसबुक पोस्ट को एडिट कर दिया है. अब इस बयान की जगह 26 जनवरी का महत्व बताती एक पोस्ट चस्पा कर दी गई है. हालांकि एडिट हिस्ट्री में राघवेंद्र का पिछला बयान देखा जा सकता है.

सेना से प्रशासनिक सेवा में आए राघवेंद्र अपने बेबाक बयानों के लिए जाने जाते हैं. उनकी फेसबुक प्रोफाइल पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार वो उत्तर प्रदेश प्रशासनिक सेव में आने से पहले सेना में अफसर के तौर पर जम्मू-कश्मीर, रांची और हैदराबाद में तैनात रहे हैं.

केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह के बयान पर राघवेंद्र विक्रम सिंह का फेसबुक पोस्ट
केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह के बयान पर राघवेंद्र विक्रम सिंह का फेसबुक पोस्ट

मानव संसाधन मंत्री सत्यपाल सिंह ने डार्विन के क्रमिक विकास के सिद्धांत को ख़ारिज करते हुए कहा था कि हमारे किसी भी पूर्वज ने लिखित या मौखिक रूप में बंदर को इंसान में बदलने का ज़िक्र नहीं किया था. इस चीज पर तंज कसते हुए राघवेंद्र सिंह ने 22 जनवरी की अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा है,

”हमारे गांव के पंधारीलाल पूँछते थे – अगर आदमी बन्दर से बना है तो ये बन्दरवे आदमी क्यों नही हो जाते ? आज वे खुश होंगे उन्हें एक Cabinet मंत्री का समर्थन जो मिल गया है और पंधारीलाल भी तो cabinet मंत्री हो सकते थे … !”

इसी तरह से फिल्म पद्मावत पर करणी सेना के बवाल पर उन्होंने 22 जनवरी को अपनी फेसबुक पर लिखा-

“क्या आज जैसे माहौल में कोई ‘मुगले आज़म’ बनाने की हिम्मत कर पाता?”

इस पोस्ट के कुछ ही घंटो के बाद उन्होंने लिखा

“तो अब पता लग गया कि यह ओढ़ा हुआ हिंदुत्व था.”

RVsingh

कासगंज तनाव पर बेबाक बयान देने वाले राघवेंद्र विक्रम सिंह नरेंद्र मोदी के प्रशंसकों में से हैं. गुजरात चुनाव के दौरान मणिशंकर अय्यर ने नरेंद्र मोदी को तथाकथित तौर पर ‘नीच’ कहा था. इस घटना के बारे में राघवेंद्र लिखते हैं-

‘जब कोई ‘चायवाला’ कोई ‘नीच’ राष्ट्र नियंता बनेगा तो भयभीत हो रहे स्थापित स्वार्थी प्रभुत्व वर्गो में हादसे तो होंगे ही ..! (यह पोस्ट PM के विरोधियों को उनकी औकात बताने के लिए है न कि PM के असम्मान के लिए. यह मैं स्पष्ट करना चाहता हूँ )’


यह भी पढ़ें 

जिस राज्य में भाजपा सरकार में थी, वहां इस बार चुनाव क्यों नहीं लड़ रही है

गोरखपुर में एक ही महिला से संबंध के चलते 13 लोगों को एड्स हो गया

ग्रीक कला में दिखने वाले पुरुषों के बारे में सबसे अजीब बात

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में पीएम मोदी ने नाम ले-लेकर सुनाया.

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

जानकारों ने जहांगीरपुरी में निकले जुलूस पर सवाल उठाए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

मौजूदा आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे के रिटायर्ड होने पर पदभार संभालेंगे.

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC के IPO में बहुत कुछ बदलने जा रहा है. अगले हफ्ते आ सकता है अपडेटेड प्रॉस्पेक्टस.

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

अभी ये सुविधा कुछ ही बैंको तक सीमित है.

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

2013 की बात है जब चहल मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते थे.

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

कोर्ट ने आकार पटेल को बड़ी राहत दी है.

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

ये वेरिएंट कितना खतरनाक है, ये भी जान लें.

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

हंसी होगी, संगीत होगा और होंगे सौरभ द्विवेदी!

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

कार्रवाई पर संजय राउत भड़क गए हैं.