Submit your post

Follow Us

अतीक अहमद ने AIMIM जॉइन की, असदुद्दीन ओवैसी ने क्रिमिनल रिकॉर्ड पर सबको सुना दी

अतीक अहमद. उत्तर प्रदेश के बाहुबली नेता. इन दिनों गुजरात की अहमदाबाद जेल में बंद हैं. लेकिन वहीं से नई पार्टी जॉइन कर चुके हैं. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन. यानी असदुद्दीन ओवैसी वाली AIMIM. मंगलवार 7 सितंबर को अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन AIMIM में शामिल हो गईं. उन्होंने अतीक अहमद की तरफ से भी पार्टी की सदस्यता ली. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान खुद असदुद्दीन ओवैसी ने शाइस्ता परवीन का AIMIM में स्वागत किया. इस मौके पर ओवैसी ने काफी कुछ कहा. शाइस्ता परवीन ने भी अपनी बात रखी.

क्या-क्या बोले ओवैसी?

इंडिया टुडे/आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, अतीक अहमद और शाइस्ता परवीन के AIMIM जॉइन करने पर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा,

“मुझे ये कहते हुए खुशी हो रही है कि अतीक साहब की पत्नी के आने से पार्टी को फायदा होगा. मैं अपनी भाभी का वेलकम करता हूं. आप सवाल करेंगे कि अतीक के ऊपर केस हैं. बीजेपी के सांसदों के खिलाफ क्रिमिनल चार्जेज हैं. सीडीआर ये कहता है कि BJP के लोगों के खिलाफ महिलाओं को लेकर भी केस हैं. JDU में 81 पर्सेंट नेताओं पर आरोप हैं. 77 केस जो मुजफ्फरनगर दंगो के थे, उनको हटाया गया. योगी ने अपने खिलाफ लगे केस भी हटाए. प्रज्ञा, कुलदीप जैसे नाम वाले नेता लोकप्रिय होंगे. अगर नाम अतीक या मुख्तार होगा तो वो बाहुबली होगा.”

ओवैसी ने बीजेपी नेताओं के क्रिमिनल रिकॉर्ड का जिक्र किया. कहा,

“यूपी में 37 प्रतिशत बीजेपी विधायकों पर आपराधिक मुकदमे हैं. 116 सांसदों में से 87 के खिलाफ गंभीर धाराओं में मामले दर्ज हैं. इस साल मार्च में सुप्रीम कोर्ट को ये बताया गया कि मुजफ्फरनगर दंगों के मामलों को वापस लेने के साथ-साथ सीएम ने अपने खिलाफ मामले वापस ले लिए. हिंदू नाम वाले अपराधी शरीफ होंगे, मुस्लिम नाम के लोग अपराधी माने जाएंगे. अतीक अहमद को किसी मामले में सजा नहीं हुई है.”

Asaduddin Owaisi
AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी. (फोटो: पीटीआई)

इसके साथ ही AIMIM प्रमुख ने शाइस्ता परवीन को अपनी भाभी और बड़ी बहन बताया. कहा कि उनके आने से AIMIM को मजबूती मिली है. ओवैसी के मुताबिक, यूपी में लोग परेशानियों में जी रहे हैं. आगामी चुनाव में उनकी पार्टी 100 सीटों पर लड़ने की तैयारी कर रही है.

सपा को भी सुनाया

असदुद्दीन ओवैसी ने समाजवादी पार्टी को भी लपेटा. कहा कि उन्होंने सपा को मुस्लिम सीएम का प्रस्ताव नहीं दिया. असदुद्दीन ने कहा,

“मैंने कोई प्रस्ताव सपा को नहीं दिया. हमने कहा था कि अलायंस को तैयार हैं, अगर सीएम मुस्लिम होता. लैला की दुश्मनी से डरते हैं सपा और बसपा. हम यूपी की जनता में जाएंगे और पैगाम देंगे की ये हमको अनटचेबल बना रहे हैं. 19 परसेंट आपकी गुलामी करते रहें. हिस्सेदारी की बात होती है तो आप बात ही नहीं करते. अगर अखिलेश (सीएम रहते ही) मुजफ्फरनगर दंगों पर केस चला देते तो योगी कुछ नहीं कर पाते. क्यों नहीं किया? ये सब नहीं चाहते कि मुस्लिम आगे आएं.”

ओवैसी ने आगे कहा,

“हम हिस्सेदारी की बात कर रहे हैं. मोदी ने अनुप्रिया बाघेल को ऐसे ही मंत्री नहीं बना दिया. जाति के वोट को लेकर बनाया. जब मुस्लिम की बात आती है तो सब कम्युनल हो जाता है. मुस्लिम ने आपको (यानी सपा को) झोली भर-भर कर वोट दिया. क्यों नहीं जीत पाए आप? आज हम रुदौली जा रहे. केवल मुसलमानों के दम पर नहीं जा रहे हैं, सबको लेकर जा रहे. हम लड़ेंगे इलेक्शन. हम किसी के गुलाम नही हैं. 60 साल से सबको जिता रहे हैं. अब मुसलमान जीतेगा.”

राजभर और मोहन भागवत पर क्या बोले?

असदुद्दीन ओवैसी ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर से अपने राजनीतिक रिश्तों को लेकर भी बात की. कहा कि AIMIM राजभर की पार्टी के साथ है और वे इस महीने उनसे फिर मुलाकात करेंगे. इससे एक दिन पहले ओमप्रकाश राजभर भी ओवैसी के समर्थन में बयान दे चुके हैं. इसमें SBSP के मुखिया ने कहा था कि असदुद्दीन जाति-धर्म की राजनीति नहीं करते, बल्कि शिक्षा और बेरोजगारी जैसे मुद्दों को उठाते हैं. इसके अलावा, ओवैसी ने मोहन भागवत के उस बयान पर भी प्रतिक्रिया दी जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत में इस्लाम की शुरुआत आक्रमणकारियों की वजह से हुई और ‘समझदार’ मुसलमानों को कट्टरवाद का विरोध करना चाहिए. इस पर ओवैसी ने कहा है,

“करा लें डीएनए टेस्ट, हम तैयार हैं. पर आप सबको भी कराना पड़ेगा. भारत के संविधान को नहीं मानेंगे, डीएनए कराएंगे. संघी लोग इतिहास के कमजोर होते हैं. वेस्ट कोस्ट पर इस्लाम पहले आया. आरएसएस की ये सोच है, जिसमें सावरकर की बातें भागवत पढ़ रहे हैं. संविधान की पहली किताब में अकबर और टीपू सुलतान की तस्वीर थी. इस पर क्या कहेंगे?”

असदुद्दीन ओवैसी के ये सब बोलते समय अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन भी मौजूद थीं. उन्होंने कहा कि वो और उनके पति अतीक अहमद ने ओवैसी के दलितों और पिछड़ों के प्रति प्रेम को देखते हुए AIMIM जॉइन की है.

यही बात अतीक अहमद ने एक पत्र के जरिए भी कही है, जिसे एआईएमआईएस के नेता शौकत अली ने अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर किया है.


वीडियो- बीजेपी ने AIMIM को तालिबानी कह दिया. तो क्या बोले ओवैसी? 

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने के लिए यूपी सरकार को एक दिन का वक्त दिया है.

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

रविवार 3 अक्टूबर की शाम से यहां कर्फ्यू लगा है.

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

ब्रिटेन की अदालतों में इन दोनों ने अपनी आय शून्य बताई थी.