Submit your post

Follow Us

राजस्थान में एक और दलित को बुरी तरह पीटा गया, मंदिर चला गया था!

राजस्थान में एक और दलित व्यक्ति की पिटाई का वीडियो सामने आया है. इस बार मामला मंदिर में प्रवेश करने से जुड़ा है. सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में दिख रहा है कि चार-पांच लोग एक दलित युवक को बुरी तरह पीट रहे हैं. उसे जातिसूचक गालियां दे रहे हैं. उसे जबरन मुर्गा बनने के लिए कहा जाता है. गनीमत रही कि वो किसी तरह वहां से बच निकला. बाद में पीड़ित युवक ने बताया कि मंदिर में प्रवेश करने की वजह से उसके साथ ये सब हुआ.

क्या है पूरा मामला?

आजतक से जुड़े नरेश बिश्नोई की रिपोर्ट के मुताबिक़, घटना 10 दिन पुरानी है जिसका वीडियो अब वायरल हुआ है. पीड़ित युवक का नाम जितेंद्र बामणिया है. उन्होंने रविवार 10 अक्टूबर की रात जालौर पुलिस स्टेशन में रपट दर्ज कराई है. इसमें बताया गया है कि 1 अक्टूबर को जितेंद्र अपने दो दोस्तों गुलाब सिंह और नवीन के साथ मोमाजी मंदिर गया था. तब वहां चार-पांच लोग आए और बदतमीजी करने लगे. जितेंद्र ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो आरोपी उन्हें जातिसूचक शब्दों के साथ अपमानित करने लगे. कहा कि मंदिर उसकी पूजा करने के लिए नहीं है.

रिपोर्ट के मुताबिक़, आरोपी नशे की हालत में थे. वे झगड़ा करने को आमादा थे लेकिन लेकिन किसी तरह उन्हें वहां से भेजा गया. लेकिन आधे घंटे बाद वे सभी वापस आए. उन्होंने रास्ते में जितेंद्र को रोका और धक्का-मुक्की करने लगे. इसके बाद की घटना वीडियो में मौजूद है. इसमें दिख रहा है कि कैसे आरोपियों ने जितेंद्र मेघवाल को लात, लाठी और जूते से पीटा. पीटने के दौरान वे उन्हें लगातार गालियां देते रहे. उनके दोस्तों ने किसी तरह से उन्हें वहां से निकाला.

जितेंद्र बामणिया की पिटाई करने वालों में शामिल एक आरोपी का नाम भी जितेंद्र है. जितेंद्र सिंह. बाकी आरोपी हैं दिलीप वैष्णव, नरपत सिंह, हेम सिंह और पिंटू. पीड़ित की पिटाई के बाद इन्होंने जाते-जाते उसे धमकी भी दी कि अगर उसने शिकायत दर्ज कराई तो जान से मार देंगे. आजतक की खबर के मुताबिक, घर जाने के बाद भी जितेंद्र बामणिया और उनके परिवार वालों को धमकियों भरे फोन आए हैं.

अपडेट क्या है?

धमकियों के डर से जितेंद्र बामणिया ने 10 दिन तक रिपोर्ट नहीं लिखाई. लेकिन बीती 10 अक्टूबर को उन्होंने जालौर कोतवाली में कुछ लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई. इनके नाम हैं नवीन, सूजाराम, जितेंद्र सिंह, असरफ, नरपत सिंह और गुलाब सिंह. सभी के ख़िलाफ़ मारपीट का मामला दर्ज कराया गया है.

वहीं, सोमवार 11 अक्टूबर को ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा. इसके बाद पुलिस हरक़त में आई. बताया गया है कि पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह की अगुवाई में मामले की जांच चल रही है. पुलिस ने मामले पर प्रेस नोट जारी कर बताया है कि घटना से जुड़े पांचों आरोपियों को 12 अक्टूबर को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

पुलिस ने आज ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया है. (फोटो नरेश बिश्नोई ने भेजी है)
पुलिस ने आज ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया है. (फोटो नरेश बिश्नोई ने भेजी है)

राजस्थान में बढ़ रहे दलितों पर हमले

बीते कुछ दिनों से राजस्थान में दलित समाज के लोगों को निशाना बनाया जा रहा है. जालौर की घटना का पता चलने से पहले राज्य के दो अलग-अलग इलाकों में दलित युवक और महिला की पिटाई की घटना हो चुकी है. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, पाली के करणवा गांव में एक व्यक्ति ने दलित महिला की पिटाई कर दी. इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है. इसमें आरोपी महिला को थप्पड़ मारता और नीचे गिराता दिख रहा है. आजतक से जुड़े भारतभूषण जोशी के मुताबिक, आरोप ये भी है कि पिटाई करने वालों ने महिला के कपड़े फाड़ डाले. पुलिस ने इस मामले में दो लोगों की गिरफ्तारी की है.

वहीं, इससे पहले हनुमानगढ़ का मामला काफी चर्चा में रहा. वहां के प्रेमपुरा गांव में जगदीश नाम के एक दलित युवक को कुछ लोगों ने इतना पीटा कि उसकी मौत ही हो गई. पुलिस ने बताया कि युवक का एक महिला से प्रेम प्रसंग चल रहा था. इसी से गुस्साए महिला के परिवारवालों ने युवक की लाठियों से जमकर पिटाई कर दी. उसकी मौत के बाद से अब तक हनुमानगढ़ की पुलिस कई आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है.


राजस्थान में दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या का वीडियो वायरल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने के लिए यूपी सरकार को एक दिन का वक्त दिया है.

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

रविवार 3 अक्टूबर की शाम से यहां कर्फ्यू लगा है.

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

ब्रिटेन की अदालतों में इन दोनों ने अपनी आय शून्य बताई थी.

लखीमपुर का रोंगटे खड़े करने वाला वीडियो, प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पीछे से कैसे चढ़ा दी गाड़ी!

लखीमपुर का रोंगटे खड़े करने वाला वीडियो, प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पीछे से कैसे चढ़ा दी गाड़ी!

घटना में घायल शख्स ने 'दी लल्लनटॉप' को बताई पूरी कहानी.

फोन पर नेताओं की कुर्सी फिक्स करती थी, अब नई तरह की हैट्रिक बनाई है

फोन पर नेताओं की कुर्सी फिक्स करती थी, अब नई तरह की हैट्रिक बनाई है

पनामा हो या पैराडाइज़, या हो पैंडोरा. लीक जहां, नीरा राडिया का नाम वहां.