Submit your post

Follow Us

मस्जिद में लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर सऊदी अरब ने लगायी ये रोक, कहा, 'बच्चों की नींद ख़राब हो रही'

सऊदी अरब प्रशासन ने मस्जिदों में लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर लगाम कसी. विरोध हुआ, तो जवाब दिया कि ये प्रतिबंध लोगों के लिए, लोगों की नींद के लिए ज़रूरी है. सऊदी अरब के इस्लामिक मामलों के मंत्री डॉक्टर अब्दुल लतीफ़ बिन अब्दुल्ला अज़ीज़ अल-शेख ने कहा है कि ये फैसला कुछ परिवारों को होने वाली परेशानी के बाद लिया गया है.

ख़बरों के मुताबिक़, बीते सप्ताह सऊदी अरब के इस्लामिक मामलों के मंत्री डॉक्टर अब्दुल लतीफ़ ने इन प्रतिबंधों की घोषणा की थी. उन्होंने कहा था कि मस्जिदों पर लगे लाउडस्पीकर की आवाज़ अधिकतम आवाज़ के एक तिहाई से ज़्यादा नहीं होना चाहिए.

बच्चों की नींद खराब होने के चलते लिया फैसला

इस फ़ैसले के आधार पर बात करते हुए डॉक्टर अब्दुल लतीफ़ ने बताया था,

“उन्हें मिलने वाली शिकायतें में कुछ शिकायतें बच्चों से जुड़ी भी हैं. इन शिकायतों में अभिभावकों ने लिखा है कि लाउडस्पीकर की तेज़ आवाज़ से उनके बच्चों की नींद ख़राब होती है.”

Saudi Mosuie
सऊदी अरब की मस्जीद की तस्वीर. फोटो: Getty

लाउडस्पीकर का प्रयोग नमाज़ और इक़ामत के लिए होगा

प्रशासन ने जो सर्कुलर जारी किया है. उसमें मस्जिदों पर लगे लाउडस्पीकर का प्रयोग सिर्फ़ नमाज़ के लिए बुलाने (अज़ान के लिए) और इक़ामत (नमाज़ के लिए लोगों को दूसरी बार पुकारने) के लिए ही किया जा सकता है. जबकि स्पीकर की आवाज़ अधिकतम आवाज़ के एक तिहाई से ज़्यादा नहीं होगी. सऊदी प्रशासन के इस आदेश में साफतौर पर ये कहा गया कि इस आदेश को ना मानने वालों के ख़िलाफ़ प्रशासन की ओर से कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

BBC के मुताबिक, प्रशासन ने ये भी पाया था कि नमाज़ पढ़ते समय भी लाउडस्पीकर को पूरी आवाज़ पर रखा जा रहा था. जिसके बाद ये फैसला लिया गया है.

आदेश के पीछे पैगंबरे इस्लाम हजरत मोहम्मद का हवाला

सऊदी प्रशासन ने लाउडस्पीकर को लेकर जो आदेश जारी किया है. उसके पीछे पैगंबरे इस्लाम हजरत मोहम्मद का हवाला दिया गया है. मंत्रालय ने इस आदेश के पीछे शरीयत की दलील देते हुए कहा,

“सऊदी प्रशासन का यह आदेश पैगंबर-ए-इस्लाम हजरत मोहम्मद की हिदायतों पर आधारित है.”

सऊदी प्रशासन ने अपने आदेश में ये तर्क भी दिया कि मस्जिद के इमाम नमाज़ शुरू करने वाले हैं, इसका पता मस्जिद में मौजूद लोगों को चलना चाहिए, ना कि पड़ोस के घरों में रहने वाले लोगों को. ये क़ुरान शरीफ़ का अपमान है कि आप उसे लाउडस्पीकर पर चलाएं और कोई उसे सुने ना या सुनना ना चाहे. सऊदी अरब में धर्म के कई बड़े जानकारों ने सरकार के इस आदेश को सही ठहराया है. जबकि अधिकांश जनसंख्या इस फैसले के विरोध में है.


दुनियादारी: कनाडा के क्रिश्चियन मिशनरी स्कूल में बच्चों के साथ जो हुआ, वो किसी के साथ न हो 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लक्षद्वीप में दारू और बीफ़ वाले नियमों पर बवाल बढ़ा तो अमित शाह ने क्या कहा?

लक्षद्वीप के सांसद मोहम्मद फैज़ल ख़ुद मिलने गए थे अमित शाह से

पत्रकार से IAS बने अलपन बंदोपाध्याय, जो ममता और मोदी सरकार में रस्साकशी की नई वजह बन गए हैं

ममता बनर्जी ने केंद्र के आदेश की क्या काट ढूंढ निकाली है?

वैक्सीनेशन पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को घेरा, पूछा- वैक्सीन का एक रेट क्यों नहीं?

वैक्सीन की कमी, राज्यों के टेंडर जैसे मुद्दों पर भी सरकार से तीखे सवाल किए.

यूपी के महोबा में कूड़ा ढोने वाली गाड़ी से शव मोर्चरी में पहुंचाया

विवाद बढ़ता देख अब जांच के आदेश दिए गए.

इस जिले के DM का आदेश- वैक्सीनेशन के बिना नहीं मिलेगी सरकारी कर्मचारियों को सैलरी

कुछ सरकारी कर्मचारियों ने इस फैसले पर नाराजगी जताई.

छेड़छाड़ कर स्लॉट गायब करने की बात पर सरकार ने कहा-कोविन प्लेटफॉर्म हैक नहीं हो सकता

सोशल मीडिया पर कुछ लोगों का कहना है कि ऐप के साथ छेड़छाड़ कर स्लॉट गायब किए जा रहे हैं.

कोरोना से अनाथ हुए बच्चों की PM केयर्स फंड से इस तरह मदद करेगी सरकार

कमाऊ सदस्यों को खोने वाले परिवारों के लिए भी योजना का ऐलान.

PM मोदी के साथ मीटिंग को लेकर विवाद पर ममता बनर्जी बोलीं- इस तरह मेरा अपमान न करें

कहा-मुझे खुद इंतजार करना पड़ा.

UP बोर्ड: 10वीं की परीक्षा नहीं होगी, 12वीं का एग्जाम जुलाई के दूसरे सप्ताह में!

शिक्षा मंत्री दिनेश शर्मा का ऐलान.

अलीगढ़: जहरीली शराब से अब तक 22 की मौत, NSA के तहत कार्रवाई के निर्देश

आरोपियों पर 50-50 हजार का इनाम घोषित.