Submit your post

Follow Us

69,000 शिक्षक भर्ती: इंतजार की घड़ियां खत्म, 31,277 टीचर्स को मिलना शुरू हुआ नियुक्ति पत्र

यूपी से एक अच्छी खबर आई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 69,000 शिक्षक भर्ती में पहले चरण में नियुक्त 31,277 चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र देने की शुरुआत की. लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास पर पांच अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिए गए. इसके लिए प्रदेश के 68 जिलों में कार्यक्रम आयोजित किए गए.

यूपी के प्रभारी मंत्री, सांसदों और विधायकों ने जिलों में आयोजित कार्यक्रमों में नियुक्ति पत्र वितरित किए. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 69 हजार भर्ती के पहले चरण में 31,277 अभ्यर्थियों को नियुक्ति दी जा रही है.

क्या कहा सीएम ने 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा-

हम चाहते थे कि 2019 में ही नियुक्ति दी जाए, लेकिन जो बेसिक शिक्षा का विकास नहीं चाहते थे, उन्होंने बाधा उत्पन्न की. सरकार ने हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट तक अभ्यर्थियों के लिए संघर्ष किया. बिना भाई-भतीजावाद और पूरी पारदर्शिता से नियुक्ति दी जा रही है. 6675 शिक्षा मित्रों को भी नियुक्ति पत्र दे रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकार ने शिक्षा मित्रों की योग्यता का उपयोग नहीं किया, बल्कि शॉर्टकट अपनाया, इससे शिक्षा मित्रों को परेशानी हुई.

सीएम ने कहा कि आंकड़े बताते हैं कि भर्ती में आरक्षण के नियमों का पालन किया है. युवाओं की ऊर्जा का उपयोग बेसिक शिक्षा विभाग के विकास में करेंगे. 2017 में एक करोड़ 34 लाख बच्चे परिषदीय स्कूलों में पढ़ते थे. श्रावस्ती में 200 स्कूलों में एक भी शिक्षक नहीं थे. एक लाख 37 हजार शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को आगे बढ़ाया. 68,500 सहायक अध्यापकों की भर्ती में 46 हजार शिक्षकों का चयन किया, फिर 69,000 सहायक अध्यापकों की भर्ती की. सरकार की चयन प्रक्रिया में कहीं खोट नहीं थी.

69,000 शिक्षक भर्ती मामला है क्या 

दिसंबर, 2018 में यूपी की योगी सरकार ने सरकारी प्राइमरी स्कूलों में 69,000 सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए वैकेंसी निकाली. 6 जनवरी, 2019 को करीब चार लाख कैंडिडेट्स ने लिखित परीक्षा में हिस्सा लिया. एक दिन बाद सरकार की तरफ से कट ऑफ मार्क्स की घोषणा हुई. कट ऑफ मार्क्स के खिलाफ अभ्यर्थियों का एक धड़ा हाईकोर्ट चला गया. 6 मई, 2020 को हाईकोर्ट ने सरकार द्वारा तय कट ऑफ पर ही 90 दिन के भीतर भर्ती कराने का आदेश दिया. लेकिन भर्ती अब तक पूरी नहीं हो सकी है.

योगी सरकार ने 19 सितंबर, 2020 को 31,661 पदों पर भर्ती के आदेश दिए.


उत्तर प्रदेश में 69000 शिक्षकों की भर्ती को लेकर योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सुवेंदु अधिकारी और उनके भाई के खिलाफ राहत सामग्री चोरी करने के आरोप में FIR

सुवेंदु अधिकारी और उनके भाई के खिलाफ राहत सामग्री चोरी करने के आरोप में FIR

वेस्ट बंगाल पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है.

अलीगढ़ शराबकांड का मुख्य आरोपी और एक लाख का इनामी ऋषि शर्मा गिरफ्तार

अलीगढ़ शराबकांड का मुख्य आरोपी और एक लाख का इनामी ऋषि शर्मा गिरफ्तार

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जहरीली शराब से अब तक 108 लोगों की मौत हो चुकी है.

ट्विटर ने उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू के अकाउंट से ब्लू टिक हटाया, कुछ ही घंटे में रिस्टोर किया

ट्विटर ने उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू के अकाउंट से ब्लू टिक हटाया, कुछ ही घंटे में रिस्टोर किया

पर्सनल अकाउंट से हटा था ब्लू टिक, ट्विटर ने वजह बताई.

यूपीः भाजपा नेताओं ने हिस्ट्रीशीटर को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाकर भगा दिया, पुलिस अब तक तलाश रही है

यूपीः भाजपा नेताओं ने हिस्ट्रीशीटर को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाकर भगा दिया, पुलिस अब तक तलाश रही है

कानपुर की घटना, पुलिस ने शुरुआती FIR में बीजेपी नेताओं का नाम ही नहीं लिखा.

राजस्थान में क्या सचमुच कोरोना वैक्सीन की जमकर बर्बादी हो रही है?

राजस्थान में क्या सचमुच कोरोना वैक्सीन की जमकर बर्बादी हो रही है?

अशोक गहलोत सरकार का इनकार, लेकिन आंकड़े कुछ और ही बता रहे.

रिटायर्ड जस्टिस अरुण मिश्रा को मोदी सरकार ने NHRC चेयरमैन बनाया तो बवाल क्यों हो रहा है?

रिटायर्ड जस्टिस अरुण मिश्रा को मोदी सरकार ने NHRC चेयरमैन बनाया तो बवाल क्यों हो रहा है?

लोग जस्टिस अरुण मिश्रा को इस पद के लिए चुने जाने का बस एक ही कारण गिना रहे हैं.

क्या कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को लेकर मोदी सरकार झूठ बोल रही है?

क्या कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को लेकर मोदी सरकार झूठ बोल रही है?

अलग-अलग आंकड़े क्या कहानी बताते हैं?

लक्षद्वीप में दारू और बीफ़ वाले नियमों पर बवाल बढ़ा तो अमित शाह ने क्या कहा?

लक्षद्वीप में दारू और बीफ़ वाले नियमों पर बवाल बढ़ा तो अमित शाह ने क्या कहा?

लक्षद्वीप के सांसद मोहम्मद फैज़ल ख़ुद मिलने गए थे अमित शाह से

पत्रकार से IAS बने अलपन बंदोपाध्याय, जो ममता और मोदी सरकार में रस्साकशी की नई वजह बन गए हैं

पत्रकार से IAS बने अलपन बंदोपाध्याय, जो ममता और मोदी सरकार में रस्साकशी की नई वजह बन गए हैं

ममता बनर्जी ने केंद्र के आदेश की क्या काट ढूंढ निकाली है?

वैक्सीनेशन पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को घेरा, पूछा- वैक्सीन का एक रेट क्यों नहीं?

वैक्सीनेशन पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को घेरा, पूछा- वैक्सीन का एक रेट क्यों नहीं?

वैक्सीन की कमी, राज्यों के टेंडर जैसे मुद्दों पर भी सरकार से तीखे सवाल किए.